नेशनल हेराल्ड मामला: 13 जून को ईडी के सामने पेश होंगे राहुल गांधी, कांग्रेस दिखाएगी ताकत

नेशनल हेराल्ड मामले में कांग्रेस नेता राहुल गांधी 13 जून को ईडी के सामने पेश होंगे। उधर कांग्रेस मोदी सरकार को अपना राजनीतिक संदेश देने के लिए एक बड़े आयोजन की योजना बना रही है।

National Herald case: Rahul Gandhi to appear before ED on June 13, Congress will show strength
कांग्रेस नेता राहुल गांधी 

नई दिल्ली: मनी लॉन्ड्रिंग मामले में कांग्रेस नेता राहुल गांधी 13 जून को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के सामने पेश होंगे। इस दिन कांग्रेस अपनी ताकत का प्रदर्शन करने की तैयारी कर रही है कांग्रेस अपनी ताकत दिखाने और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार को अपना राजनीतिक संदेश देने के लिए एक बड़े आयोजन की योजना बना रही है। सूत्रों के मुताबिक उस दिन की रणनीति तय करने के लिए गुरुवार को अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (AICC) के महासचिवों, राज्य प्रभारियों और प्रदेश कांग्रेस कमेटी (PCC) प्रमुखों की बैठक बुलाई गई है। इसके अलावा, कांग्रेस सांसदों और कांग्रेस कार्य समिति (CWC) के सदस्यों को भी उस दिन दिल्ली में मौजूद रहने के लिए कहा गया है।

पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने न्यूज एजेंसी एएनआई को बताया कि सभी संसद सदस्यों को 13 जून को राष्ट्रीय राजधानी में मौजूद रहने के लिए कहा गया है, और वे भी राहुल गांधी के साथ ईडी कार्यालय की ओर मार्च करेंगे। बैठक को चर्चा के लिए बुलाया गया है और इस पर अंतिम निर्णय लेने के लिए देश भर के नेताओं की राय लेंगे क्योंकि एक और विचार है कि दिल्ली के साथ-साथ, प्रदेश कांग्रेस कमेटियों द्वारा हर राज्य की राजधानी में विरोध प्रदर्शन किया जाना चाहिए।

राहुल गांधी को 13 जून को जांच में शामिल होने के लिए तलब किया गया है। उन्हें पहले जांच में शामिल होने के लिए बुलाया गया था लेकिन वह देश से बाहर थे और बाद में उन्हें जांच में शामिल होने के लिए 13 जून की नई तारीख दी गई। इस बीच, कांग्रेस पार्टी ने आरोप लगाया है कि यह एक राजनीतिक प्रतिशोध है और मामले की जांच का कोई आधार नहीं है।

ईडी ने इस साल अप्रैल में नई दिल्ली में कांग्रेस के सीनियर नेता मल्लिकार्जुन खड़गे और कांग्रेस के कोषाध्यक्ष पवन बंसल से भी नेशनल हेराल्ड मामले में मनी लॉन्ड्रिंग जांच के सिलसिले में पूछताछ की थी। इसके बाद एजेंसी ने प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (पीएमएलए) के तहत दोनों कांग्रेस नेताओं के बयान दर्ज किए। नेशनल हेराल्ड एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड (एजेएल) द्वारा प्रकाशित किया जाता है और यंग इंडियन प्राइवेट लिमिटेड (वाईआईएल) के स्वामित्व में है। खड़गे जहां वाईआईएल के सीईओ हैं, वहीं बंसल एजेएल के प्रबंध निदेशक हैं।

ईडी वर्तमान में एजेएल और वाईआईएल के कामकाज में शेयरधारिता पैटर्न और वित्तीय लेनदेन के साथ-साथ पार्टी पदाधिकारियों की भूमिका की जांच कर रहा है। वाईआईएल के प्रमोटरों में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी शामिल हैं। बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने आरोप लगाया था कि गांधी परिवार ने धोखाधड़ी की और धन का दुरुपयोग किया, यंग इंडियन प्राइवेट लिमिटेड ने केवल 50 लाख रुपये का भुगतान करके 90.25 करोड़ रुपये वसूलने का अधिकार प्राप्त किया। उन्होंने इससे पहले दिल्ली की एक अदालत में शिकायत दर्ज कराई थी। स्वामी की याचिका पर वाईआईएल के खिलाफ आयकर विभाग की जांच का संज्ञान लेने के बाद, ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग निवारण अधिनियम (PMLA) के तहत एक नया मामला भी दर्ज किया।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर