तन्हाई वाली बैरक में भी बच नहीं सका मुख्तार अंसारी, कोरोना की जांच रिपोर्ट आई पॉजिटिव   

जेल के अधिकारियों ने शनिवार को अंसारी सहित जेल की अन्य कैदियों की कोरोना जांच की। रैपिड एंटिजन टेस्ट में अंसारी की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। अब अंसारी की आरटी-पीसीआर रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है।

Mukhtar Ansari tests positive for COVID-19 in Banda jail
मुख्तार अंसारी की कोरोना की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई।  

मुख्य बातें

  • अंसारी की एंटिजन रिपोर्ट के बाद आरटी-पीसीआर रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई
  • गत सात अप्रैल को पंजाब से यूपी की बांदा जेल लाया गया गैंगस्टर अंसारी
  • मऊ से बसपा विधायक के खिलाफ दर्ज हैं 50 से अधिक आपराधिक मामले

बांदा (उत्तर प्रदेश) : बांदा जेल में बंद गैंगस्टर मुख्तार अंसारी कोरोना पॉजिटिव हो गया है। उसकी जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। अंसारी को पंजाब की जेल से लाकर बांदा की जिला जेल में भारी सुरक्षा के बीच रखा गया है। खास बात है कि गैंगस्टर को जेल की जिस बैरक में रखा गया है वहां किसी का आना-जाना बहुत कम होता है। जेल के अधिकारियों ने शनिवार को अंसारी सहित जेल की अन्य कैदियों की कोरोना जांच की। रैपिड एंटिजन टेस्ट में अंसारी की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। एंटिजन टेस्ट में रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद अंसारी का आरटी-पीसीआर टेस्ट कराया गया। उसकी यह रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई।  

एंटिजन रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी
जेल अधिकारियों के मुताबिक मऊ से बसपा विधायक में महामारी से संक्रमित होने का कोई लक्षण नहीं दिख रहा था। उसे बैरक में अकेला रखा गया है। बता दें कि यूपी पुलिस गत सात अप्रैल को भारी सुरक्षा के बीच अंसारी को पंजाब से बांदा जिला जेल लेकर आई। पंजाब की रोपड़ जेल में वह करीब दो सालों तक रहा। पूर्वांचल के इस बाहुबली विधायक के खिलाफ करीब 52 आपराधिक केस दर्ज हैं। यूपी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में दलील दी कि मामलों की सुनवाई के लिए गैंगस्टर को पंजाब से यूपी लाने की जरूरत है। 

पंजाब की जेल से यूपी लाया गया 
यूपी सरकार के अनुरोध पर सुप्रीम कोर्ट ने पंजाब सरकार से अंसारी को सौंपने का आदेश दिया। यूपी सरकार ने आरोप लगाया कि पंजाब की सरकार उसे बचा रही है। अंसारी की पत्नी ने राष्ट्रपति को लिखे पत्र में अपने पति की जान को खतरा बताया। पत्नी ने यूपी पुलिस पर आरोप लगाया कि अंसारी का हश्र भी विकास दुबे जैसा हो सकता है। पत्नी ने आशंका जताई कि यूपी पुलिस अंसारी का 'फर्जी एनकाउंटर' कर सकती है।  

सुनवाई के दौरान कमर में दर्द होने की शिकायत की
पिछले दिनों वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए मऊ की कोर्ट में अंसारी की पेशी हुई। सुनवाई के दौरान मुख्‍तार ने तकिया, हार्ड बेड या तख्‍त और कुर्सी की मांग की। कोर्ट को उसने बताया कि उसके कमर में दर्द की शिकायत है। इसके लिए डॉक्‍टर ने फिजियोथेरेपी की सलाह दी है। कोर्ट ने बांदा जेल से अंसारी के लिए ये व्यवस्थाएं करने के लिए कहा। सूत्रों का कहना है कि मुख्तार को जेल में बना हुआ खाना ही मिल रहा है। वह मच्छरों से भी बेहद परेशान रहता है। 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर