'खाने में मिलाया जा सकता है जहर', मुख्‍तार अंसारी को योगी सरकार से डर, जेल में मांगी उच्‍च स्‍तरीय सुविधाएं

देश
भाषा
Updated Sep 23, 2021 | 21:54 IST

बांदा की जेल में बंद बसपा के बाहुबली विधायक मुख्‍तार अंसारी ने डर जताया है कि उन्‍हें खाने में जहर दिया जा सकता है, क्‍योंकि राज्‍य सरकार उनसे नाराज है। अंसारी ने जेल में उच्‍च स्‍तरीय सुविधाओं की मांग की है।

मुख्‍तार अंसारी को योगी सरकार से डर, जेल में मांगी सुविधाएं
मुख्‍तार अंसारी को योगी सरकार से डर, जेल में मांगी सुविधाएं  |  तस्वीर साभार: BCCL

बाराबंकी : बांदा जेल में बंद बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी ने बृहस्पतिवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए सांसद/विधायक अदालत में हुई सुनवाई के दौरान खुद को उच्च श्रेणी की सुविधाएं प्रदान किए जाने का आग्रह किया और कहा कि उसे डर है कि कहीं राज्य सरकार खाने में जहर न मिलवा दे। अंसारी ने कहा कि अगर उसे जेल में उच्च श्रेणी की सुविधाएं मिल जाती हैं तो उसके मन से डर खत्म हो जाएगा।

मुख्तार अंसारी के वकील रणधीर सिंह सुमन ने उच्च श्रेणी की सुविधाएं मुहैया कराने की अर्जी दी। अंसारी ने अदालत से कहा, 'विधायक होने के नाते मुझे उच्च श्रेणी की सुविधाएं मुहैया करा दीजिए, वैसे भी मुझसे राज्य सरकार नाराज है और डर है कि वह कहीं खाने में जहर न मिलवा दे।' उसने कहा कि अगर उसे जेल में उच्च श्रेणी की सुविधाएं मिल जाती हैं तो उसके मन से डर खत्म हो जाएगा।

7 अक्‍टूबर को होगी सुनवाई

वकील ने बताया कि अंसारी को उच्च श्रेणी की सुविधाएं देने के मामले में सुनवाई के लिए अगली तारीख सात अक्टूबर तय की गई है। उन्होंने बताया कि न्यायाधीश कमलकांत श्रीवास्तव ने कहा कि इस मामले में जल्द ही फैसला दिया जाएगा। इससे पहले अगस्त में सुनवाई के दौरान अंसारी ने आरोप लगाया था कि जेल के अंदर उसकी हत्या के लिए पांच लाख रुपये की सुपारी दी गई है।

अंसारी को पंजाब में अदालत और जेल के बीच लाने-ले जाने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली बुलेटप्रूफ एम्बुलेंस के पंजीकरण में कथित जालसाजी और धोखाधड़ी के मामले में अदालत में पेश किया गया था। पंजाब की रोपड़ जेल से लाए जाने के बाद अंसारी कई आपराधिक मामलों में विचाराधीन कैदी के रूप में बांदा जेल में बंद है।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर