Monsoon Session: हंगामे के कारण कई बार बाधित हुई संसद की कार्यवाही, लोकसभा-राज्‍यसभा गुरुवार तक के लिए स्‍थगित

Parliament monsoon session: संसद के मानसून सत्र की आज दूसरा दिन रहा। पेगासस जासूसी मामले को लेकर विपक्ष सरकार पर आक्रामक रहा। इस मामले पर चर्चा के लिए विपक्ष सरकार पर दबाव बना रहा है।

Monsoon Session of Parliament 2021 Updates Opposition to raise Pegasus spyware issue
मानसून सत्र का आज दूसरा दिन।  |  तस्वीर साभार: PTI

मुख्य बातें

  • मानसून सत्र के दूसरे दिन संसद में पेगासस जासूसी मामले पर चर्चा कराने की मांग
  • संसद के दोनों सदनों में कोरोना की स्थिति पर बयान देंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
  • पेगासूस जासूसी मामले में सरकार को पूरी तरह घेरने की तैयारी में है विपक्ष

नई दिल्ली : पेगासस स्पाइवेयर का मामला सामने आने के बाद विपक्ष सरकार पर हमलावर है। वह इस मुद्दे पर सरकार को घेरना चाहता है। विपक्ष के हंगामे के चलते लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही कई बार स्थगित हुई। राज्यसभा में कोरोना के हालात पर होने वाली चर्चा पर सबकी नजरें लगी हैं। इस बीच, कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने पेगासस फोन टेपिंग मामले की जांच में सरकार से सहयोग करने के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि सरकार यदि यह कहती है कि उसने यह नहीं कराया तो यह राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए और गंभीर मसला है। आरोप है कि पेगासस स्पाइवेयर के जरिए नेताओं, पत्रकारों सहित 300 लोगों के फोन की जासूसी हुई है।

मानसून सत्र

राज्‍यसभा की कार्यवाही गुरुवार तक के लिए स्‍थगित
राज्‍यसभा में मंगलवार को देश में 'कोविड-19 महामारी का प्रबंधन, टीकाकरण का कार्यान्वयन और संभावित तीसरी लहर को देखते हुए नीति और चुनौतियां' विषय पर चर्चा हुई, जिसमें विपक्षी दलों ने कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर के दौरान हुई मौतों का मसला उठाया। विपक्ष के हंगामे के कारण सदन की कार्यवाही कई बार बाधित हुई। राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने विभिन्न दलों के नेताओं के साथ बैठक की, जिसके बाद सदन में सुचारु कामकाज हुआ। चर्चा के बाद सदन की कार्यवाही गुरुवार पूर्वाह्न 11 बजे तक के लिए कर दी गई है।

ऑक्‍सीजन की कमी से मौत की रिपोर्ट नहीं : केंद्र
केंद्र सरकार ने मंगलवार को राज्‍यसभा में कहा कि कोविड-19 की दूसरी लहर के दौरान देश में ऑक्सीजन की कमी से किसी की मौत नहीं हुई। हालांकि सरकार ने स्वीकार किया कि मेडिकल ऑक्सीजन की मांग में दूसरी लहर के दौरान बढोतरी देखी गई।

कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल ने सरकार से पूछा कि क्या यह सच है कि दूसरी लहर में ऑक्सीजन की भारी कमी के कारण सड़कों और अस्पतालों में बड़ी संख्या में कोविड -19 रोगियों की मौत हो गई?

इसका जवाब देते हुए स्वास्थ्य राज्य मंत्री भारती प्रवीण पवार ने कहा, 'स्वास्थ्य राज्य का विषय है। सभी राज्य / केंद्र शासित प्रदेश मौतों की रिपोर्ट करने के लिए विस्तृत दिशानिर्देशों के अनुसार नियमित रूप से केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को मामलों और मौतों की रिपोर्ट करते हैं। राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा विशेष रूप से ऑक्सीजन की कमी के कारण कोई मौत की रिपोर्ट नहीं दी गई है।'

राज्‍यसभा में शिवसेना ने कोविड पर किए सवाल
राज्‍यसभा में शिवसेना सांसद संजय राउत ने कोविड-19 से देशभर में हुई मौतों का मसला उठाया और आरोप लगाया कि सरकार इस बारे में जानकारी छिपा रही है। उन्‍होंने कहा, 'हमारा सरकार से सवाल है कि आखिर आप आंकड़े छिपा क्‍यों रहे हैं? हमें बताइये कि कोविड-19 की वजह से कितने लोगों ने जान गंवाई है।' उन्‍होंने कहा कि सरकारी आंकड़ों में मौतों की जो संख्‍या बताई जा रही है, उससे कहीं अधिक संख्‍या रिपोर्ट्स में बताई जा रही है। 

लोकसभा की कार्यवाही 22 जुलाई तक के लिए स्‍थगित
संसद के मानसून सत्र के दूसरे दिन भी पेगासस स्‍पाइवेयर के मसले पर विपक्ष ने खूब हंगामा किया। बढ़ते हंगामे के बीच लोकसभा की कार्यवाही गुरुवार तक के लिए स्‍थगित कर दी गई है। 21 जुलाई को बकरीद के कारण सार्वजनिक अवकाश है, जिसके बाद अब कार्यवाही 22 जुलाई को पूर्वाह्न 11 बजे शुरू होगी।

'पेगासस फोन टेपिंग मामले की जांच में सहयोग करे सरकार'
कांग्रेस नेता शशि थरूर ने कहा कि यह साबित हुआ है कि पेगासस स्पाइवेयर के जरिए भारत में मोबाइल फोन खंगाले गए। चूंकि यह कंपनी अपना प्रोडक्ट केवल सरकारों को बेचती है तो सवाल उठता है कौन सी सरकार? भारत सरकार यदि यह कहती है कि उन्होंने पेगासस से जासूसी नहीं कराई है, किसी और सरकार ने कराई है तो राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए यह और भी गंभीर मसला है। यदि यह सामने आ जाता है कि यह सब कुछ हमारी सरकार ने कराया है और उसने इसकी मंजूरी दी तो सरकार को इस बारे में सफाई देनी होगी। क्योंकि कानून राष्ट्रीय सुरक्षा, आतंकवाद के मामलों में ही फोन टेपिंग की इजाजत देता है अन्यथा यह अवैध है। जरूरी है कि सरकार जांच में सहयोग करे।  

पेगासस मामले की जांच जेपीसी से कराने की मांग
शिवसेना के सांसदों विनायक राउत, गजानन किर्तिकर, अरविंद सावंत, सदाशिव लोखंडे, कृपाल तुमाने ने लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला से मिलकर पेगासस मामले की जांच संसद की संयुक्त समिति (जेपीसी) से कराने की मांग की। सांसदों ने लोकसभा स्पीकर को अपना ज्ञापन सौंपा है।

राज्यसभा में 1 बजे होगी कोरोना पर चर्चा
राज्यसभा के सभी नेताओं ने आज चेयरमैन से मुलाकात की और उनसे कोविड पर चर्चा कराए जाने की मांग की। राज्यसभा के चेयरमैन हरिवंश कोविड पर चर्चा कराने के लिए तैयार हो गए हैं। राज्यसभा में अब एक बजे कोरोना की स्थिति पर चर्चा होगी।   

विपक्ष का हंगामा, लोकसभा 2 बजे तक स्थगित
दूसरे दिन मंगलवार को लोकसभा की कार्यवाही जैसे ही शुरू हुई। विपक्षी सदस्यों ने हंगामा करना शुरू कर दिया जिसके बाद सदन की बैठक शुरू होने के करीब पांच मिनट बाद दोपहर दो बजे तक स्थगित कर दी गई। विपक्ष के सदस्यों ने राज्यसभा में भी हंगामा किया जिसके बाद उच्च सदन की कार्यवाही दोपहर 12 बजे तक स्थगित करनी पड़ी है।

पीएम मोदी की अगुवाई में भाजपा सांसदों की बैठक
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में भाजपा के सभी मंत्रियों की बैठक संसद भवन में चल रही है। पर्यटन राज्य मंत्री अजय भट्ट ने कहा है कि संसद में सोमवार को जो कुछ हुआ उस पर उन्हें दुख है। विपक्ष के हंगामे की वजह से नए मंत्रियों का परिचय ठीक से नहीं हो सका। विपक्ष को संसद की कार्यवाही सुचारू रूप से चलाने में मदद करनी चाहिए।

पहले कोरोना की स्थिति पर चर्चा हो-खड़गे
राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यदि कोरोना संकट पर प्रेजेंटेशन देना चाहते हैं तो इसमें विपक्ष को कोई आपत्ति नहीं है लेकिन प्रेजेंटेशन से पहले इस पर चर्चा होनी चाहिए। वह सेंट्रल हॉल में अलग से सांसदों को प्रेजेंटेशन दे सकते हैं। सांसदों को अपने निर्वाचन क्षेत्र में कोरोना की स्थिति पर बात रखने की इजाजत मिलनी चाहिए। 

कोरोना के हालात पर सदन को जानकारी देंगे पीएम
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह संसद भवन पहुंच गए हैं। पीएम मोदी आज देश में कोरोना के हालात पर लोकसभा और राज्यसभा दोनों सदनों में जानकारी देंगे। आज मानसून सत्र का दूसरा दिन है। दोनों सदनों में पेगासस जासूसी मामले पर हंगामा देखने को मिल सकता है। 

पेगासस मामले पर राज्यसभा में बयान देंगे अश्विनी वैष्णव 
राज्यसभा में माकपा के सदन के नेता एलामरम करीम ने नियम 267 के तहत चर्चा कराए जाने के लिए नोटिस दिया है। जबकि कांग्रेस सांसद मनिकम टैगोर ने लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव पेश किया है।  केंद्रीय सूचना एवं इलेक्ट्रानिक्स मंत्री अश्विनी वैष्णव आज राज्यसभा में पेगासस मामले में बयान देंगे।  

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times Now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर