Modi Government 2.0: कोरोना महामारी के बीच मोदी सरकार के दो साल पूरे, एक नजर

देश
ललित राय
Updated May 30, 2021 | 06:30 IST

नरेंद्र मोदी सरकार अपने दूसरे कार्यकाल की दूसरी सालगिरह मना रही है। लेकिन यह सामान्य काल नहीं है, कोरोना काल की वजह से उपजी परिस्थितियों का भान बीजेपी को है लिहाजा वो सेवा का नाम दे रही है।

Modi Government 2.0: कोरोना महामारी के बीच मोदी सरकार के दो साल पूरे,
नरेंद्र मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल की दूसरी सालगिरह 

मुख्य बातें

  • नरेंद्र मोदी के दूसरे कार्यकाल की दूसरी सालगिरह
  • सेवा ही संगठन के जरिए लोगों तक पहुंचने का पार्टी ने रखा लक्ष्य
  • बीजेपी शासित सरकारों से कोरोना प्रभावित परिवारों के लिए खास कदम उठाने की सलाह

नरेंद्र मोदी सरकार अपने दूसरे कार्यकाल की दूसरी सालगिरह मना रही है। लेकिन यह सालगिरह पहले कार्यकाल की तरह नहीं होगी। मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल की पहली सालगिरह पर भी कोरोना का साया था। लेकिन जिस तरह से सरकार ने कोरोना का मुकाबला किया था वो इस दफा कोरोना महामारी की दूसरी लहर में गुम था। जानकार कहते हैं कि अगर बात पहली लहर की करें तो उस समय मोदी सरकार जितना सतर्क थी उसकी कमी इस बार देखी गई। यह बात सच है कि ऑक्सीजन की कमी और दवाइयों की किल्लत पर सरकार ने काबू पा लिया।लेकिन जिनकी सांस उखड़ गई,जिनके परिवार उजड़ गए उनके लिए शब्दों की सांत्वना कितना मलहम लगाएगी यह देखने वाली बात होगी। 

दूसरी सालगिरह पर बीजेपी नहीं करेगी कोई कार्यक्रम
भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि वर्षगांठ को चिह्नित करने के लिए कोई उत्सव कार्यक्रम आयोजित नहीं किया जाएगा और विभिन्न कल्याणकारी कार्यक्रम होंगे। इसके बजाय आयोजित किया गया।“दुनिया के सबसे बड़े राजनीतिक दल के कार्यकर्ताओं के रूप में, हमें यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि हम कोरोना के इस कठिन समय में जनता को अधिकतम राहत और सहायता प्रदान करें… 'सेवा ही संगठन' कार्यक्रम के माध्यम से, हमें जनता के प्रति अपना आभार व्यक्त करना है। जिसने हमें सत्ता में लाया है और जिसके कारण सरकार ने पिछले सात वर्षों से प्रभावी ढंग से काम किया है।
jp nadda
पार्टी कार्यकर्ताओं को खास नसीहत
जे पी नड्डा नेअपनी पार्टी के कैडर को सतर्कता बनाए रखने के लिए कहा और उन्हें चेतावनी दी कि वे अपने गार्ड को कम न होने दें क्योंकि संक्रमण ग्रामीण भारत में फैल गया है और बच्चों सहित कई युवा नागरिकों को प्रभावित कर रहा है।उन्होंने भाजपा शासित राज्यों को कोविड-19 महामारी से अनाथ बच्चों के कल्याण के लिए एक कार्यक्रम तैयार करने के लिए भी कहा था और इसे 30 मई को शुरू करने का आदेश दिया था।

कोविड मरीजों की आंत में छेद कर रहा 'व्‍हाइट फंगस'?
बीजेपी शासित राज्यों से खास अपील
यह देखते हुए कि कोविड महामारी ने राष्ट्र और समाज पर कई लोगों के साथ गहरे घाव किए हैं। इस बीमारी से माता-पिता दोनों को खोने वाले बच्चों ने मुख्यमंत्रियों से कहा कि अब यह हमारी जिम्मेदारी है कि हम उनके भविष्य की देखभाल करें और इस संबंध में ठोस कदम उठाएं। नड्डा ने उन्हें अपने राज्यों की जरूरतों और स्थिति को ध्यान में रखते हुए एक योजना तैयार करने के लिए कहा और कहा कि ऐसे बच्चों और उनके परिवारों की मदद के लिए उन्हें जल्द ही निर्देश भी साझा किए जाएंगे।

सेवा ही संगठन कार्यक्रम की शुरुआत
भाजपा ने सभी पार्टी कार्यकर्ताओं और राज्य इकाइयों से कोविड -19 प्रतिबंधों के बीच समाज के सभी वर्गों के लिए कल्याणकारी कार्य करने का आग्रह करने के लिए 'सेवा ही संगठन' कार्यक्रम शुरू किया। लोगों की सेवा में मास्क वितरण, हैंड सैनिटाइज़र, रोगियों को अस्पताल के बिस्तर, कोविड दवाएं या प्रशासनिक सहायता प्राप्त करने में मदद करना शामिल है। इस बार, एक प्रमुख कार्य कोविड संक्रमण, टीकाकरण के लिए जागरूकता पैदा करना और टीके की हिचकिचाहट के खिलाफ लड़ाई, विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों में जहां परिवहन, इंटरनेट, कोविन पंजीकरण की पहुंच सीमित है उन लोगों के लिए जागरूकता पैदा करना था।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर