सचिन वाझे को मीठी नदी पर लेकर पहुंची NIA,गोताखोरों को मिले ऐसे सुराग कि हर कोई हैरान

देश
किशोर जोशी
Updated Mar 28, 2021 | 18:02 IST

मनसुख हिरेन की मौत मामले की जांच में एनआइए मुंबई पुलिस के निलंबित अधिकारी सचिन वाझे को मुंबई के बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स में मीठी नदी के पुल पर लाई।  यहां एनआईए को कुछ अहम सुराग मिले हैं।

Mansukh Hiren death case: Sachin Vaze taken to Mithi river in Mumbai by NIA, divers found hard disk, car number plate
सचिन वाझे को मीठी नदी पर लेकर पहुंची NIA, मिले अहम सुराग 

मुख्य बातें

  • सचिन वाझे को लेकर मीठी नदी पर पहुंची एनआईए
  • गोताखोरों ने नदी से एक कंप्यूटर सीपीयू एक वाहन की नंबर प्लेट किया बरामद
  • निलंबति सचिन वाझे को 3 अप्रैल तक एनआईए हिरासत में भेजा गया है

मुंबई: मनसुख हिरेन मर्डर केस और एंटीलिया बॉम्ब केस की जांच में जुटी राष्ट्रीय जांच एजेंसी यानि एनआईए को कुछ अहम सुराग मिले हैं। एनआईए की टीम सचिन वाझे को लेकर रविवार को मीठी नदी के पास लेकर गई जहां गोताखोरों को नदीं में खोजबीन के लिए लगाया गया। इस दौरान नदीं से कुछ ऐसा सामान मिला है जो हैरान करने वाला है। खबर के मुताबिक गोताखोरों को नदी से दो कार की नंबर प्लेट के अलावा सीपीयू, हार्डडिस्क और डीवीआर भी मिली है।

वाझे को साथ लेकर पहुंची थी पुलिस
एनआईए इस दौरान सचिन वाझे को भी साथ लेकर पहुंची थी। एक नंबर प्लेट का नंबर MH20 1539 है। सूत्रों के मुताबिक, एनआईए को शक है कि इस नदी में कई ऐसे सबूत हो सकते हैं जो वाझे ने यहां फेंके हो।  हाल ही में NIA ने सचिन वाजे, बुकी नरेश और मुंबई पुलिस के पूर्व कांस्टेबल विनायक शिंदे को आमने- सामने बैठाकर दो बार पूछताछ की है। हाल ही में कोर्ट ने सचिन वाझे की हिरासत को तीन अप्रैल तक बढ़ाया है।

हाल ही में ले गए थे बुंदर क्रीक
हाल ही में एनआईए के अधिकारीमुंबई पुलिस के निलंबित अधिकारी सचिन वाजे को ठाणे स्थित रेती बुंदर क्रीक लेकर पहुंचे जहां कारोबारी मनसुख हिरेन का शव मिला था। उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के बाहर विस्फोटक सामग्री युक्त एसयूवी मिलने और हिरेन हत्याकांड, दोनों मामलों की जांच अब एनआईए कर रही है। 

वाझे बोले- बनाया जा रहा है बलि का बकरा

उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के पास एक गाड़ी में जिलेटिन की छड़ें मिलने के मामले में गिरफ्तार किये गये निलंबित पुलिस अधिकारी सचिन वाझे की एनआईए हिरासत एक विशेष अदालत ने तीन अप्रैल तक बढ़ा दी। वाझे ने विशेष एनआईए अदालत से कहा कि उनका अपराध से कोई लेना-देना नहीं है और उन्हें बलि का बकरा बनाया गया है।


 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर