ललन सिंह बने JDU के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष, आरसीपी सिंह की लेंगे जगह

Lalan Singh: जनता दल (यूनाइटेड) के सांसद राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह शनिवार को पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने गए।

lalan singh
ललन सिंह 

नई दिल्ली: जनता दल (यूनाइटेड) की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में सांसद ललन सिंह को पार्टी अध्यक्ष चुना गया है। वह आरसीपी सिंह की जगह लेंगे। केंद्र सरकार में मंत्री आरसीपी सिंह ने अपना पद छोड़ दिया है। अब ललन सिंह को पार्टी का नया राष्ट्रीय अध्यक्ष नियुक्त किया गया है। दिल्ली में हुई जदयू की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी पहुंचे। 

पार्टी में आरसीपी सिंह के बाद ललन सिंह को सीएम नीतीश कुमार का सबसे करीबी माना जाता है। ललन सिंह को पार्टी मामलों को संभालने और राजनीतिक रणनीति बनाने का गहरा अनुभव है। जदयू पार्टी एक पद एक व्यक्ति की नीति का पालन करती है। ललन सिंह के राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने जाने के साथ ही जद-यू सवर्ण भूमिहार को एक संदेश देने की कोशिश करेगी, जिसके बारे में माना जाता है कि पिछले कुछ सालों से जद-यू से नाराज चल रहा था।

ललन सिंह ने कहा कि आरसीपी सिंह पार्टी देख रहे थे। उनके काम को बिहार के हर गांव और यहां तक कि दूसरे राज्यों तक ले जाना हमारी पार्टी की प्राथमिकता होगी। सभी से चर्चा कर और उनके सुझाव लेकर पार्टी मजबूत होगी।

जेडीयू के संजय सिंह ने कहा, 'ललन सिंह को पार्टी का नया राष्ट्रीय अध्यक्ष नियुक्त करने के निर्णय के लिए मैं नीतीश कुमार के प्रति आभार व्यक्त करता हूं। इससे पार्टी को फायदा होगा, यह पार्टी के भविष्य के लिए अच्छा संकेत है... इसे जाति के मामले से न जोड़ें। वह वरिष्ठ सांसद हैं।' 

कौन हैं राजीव रंजन 'ललन' सिंह

66 साल के ललन सिंह बिहार के मुंगेर से सांसद हैं। 2014 के लोकसभा चुनाव में हार के बाद जून 2014 में उन्हें बिहार विधान परिषद के सदस्य के रूप में नामित किया गया था। उन्होंने भारत की 14वीं लोकसभा में बेगूसराय निर्वाचन क्षेत्र का भी प्रतिनिधित्व किया। जब वो बिहार जदयू के अध्यक्ष थे तब उन्होंने 2010 में सीएम नीतीश कुमार के खिलाफ विद्रोह किया और बाद में जद (यू) के एक अनासक्त सदस्य बने रहे। पार्टी लोकसभा में उनकी अयोग्यता की मांग करने के लिए चली गई, लेकिन 2013 में नीतीश कुमार के साथ उनके संबंध के बाद इस कदम को रद्द कर दिया गया था। उन्हें मुंगेर लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने के लिए टिकट दिया गया था, लेकिन लोजपा की वीना देवी ने उन्हें लगभग 1 लाख वोटों से हराया था। 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर