LAC: चीन के फाइटर जेट्स पर भारी पड़ रही भारतीय राफेल की गर्जना, लद्दाख में वायुसेना का सबसे बड़ा एयर ऑपरेशन 

देश
शिवानी शर्मा
Updated Jul 28, 2022 | 16:34 IST

LAC पर भारतीय वायुसेना के सबसे बड़े ऑपरेशन ने चीन की नींद उड़ा दी है। लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल पर इन दिनों भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमानों की गर्जना सुनाई दे रही है।

.LAC: Indian Rafale better than Chinese fighter jets, Air Force's biggest air operation in Ladakh
.एलएसी पर वायु सेना का अभ्यास। -पिक्चर IAF 

नई दिल्ली:  LAC पर भारतीय वायुसेना के अब तक के सबसे बड़े ऑपरेशन ने चीन की नींद उड़ा दी है। लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल पर इन दिनों भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमानों की गर्जना सुनाई दे रही है, LAC के करीब भारतीय वायुसेना ने अपने लड़ाकू विमानों के ऑपरेशंस में अप्रत्याशित बढ़ोतरी की है । 

 28 जून को एलएसी के बेहद नजदीक पहुंचा था चीन का विमान 

28 जून को चीन के एक लड़ाकू विमान ने एलएसी के बेहद करीब उड़ान भरी जिसके बाद इंडियन एयर फोर्स ने अपने एयरक्राफ्ट्स को सक्रैम्बल किया। चीन की चालबाजी को चौकन्नी भारतीय वायु सेना ने कुछ ही पलों में ध्वस्त कर दिया।

 भारत ने जताई कड़ी आपत्ति 

डिप्लोमेटिक फ्रंट पर भी भारत ने इस पर कड़ी आपत्ति जताई 17 जुलाई को हुए 16वें दौर की बातचीत के दौरान भी भारत ने चीन के इस रवैए को सख़्ती से उठाया लेकिन इसके बावजूद पीएलए एलएसी के नजदीक अपने लड़ाकू विमानों से लगातार वॉर एक्सरसाइज कर रही है। हर दिन एलएसी के नजदीक चीन के लड़ाकू विमानों को कम से कम 2 बार देखा जा रहा है। 

 भारतीय वायुसेना ने लॉन्च किया अब तक का सबसे बड़ा एयर ऑपरेशन 

चीन के इस रवैये से निपटने के लिए अब भारतीय वायुसेना ने इस पूरे इलाके में अपने ऑपरेशन लांच किए हैं जिनमें रफाल,  सुखोई 30 एमकेआई, MIG-29, चिनूक के अलावा भारतीय वायुसेना के लगभग सभी लड़ाकू विमान सक्रिय हो गए हैं। हाल ही में हाशिमारा में रेज किए गए रफाल एयरक्राफ्ट के दूसरे बेस से एलएसी के लिए जेट को डिप्लोई किया जा रहा है। इसके अलावा लद्दाख में थौइस और लेह और एयर बेसिस पर भी इंडियन एयरफोर्स के फाइटर जेट्स की उड़ानों में तेजी आई है। श्रीनगर एयरपोर्ट को भी इंडियन एयरफोर्स पूर्वी सेक्टर में ऑपरेशन  के लिए इस्तेमाल कर रहा है। भारतीय वायुसेना न सिर्फ दिन में बल्कि रात में भी अपने एयरक्राफ्ट को ऑपरेशनलाइज कर रही है। 

 एयर एक्सरसाइज से भारत पर दबाव डालना चाहता है चीन 

लद्दाख से आने वाली कुछ एक्सक्लूसिव तस्वीरों में भारतीय वायुसेना की आक्रामकता को देखा जा सकता है इन तस्वीरों में रफाल  एयरक्राफ्ट उड़ान भरते हुए नजर आ रहे हैं, इसके अलावा सुखोई थर्टी भी हर दिन कई सौर्टी कर रहे हैं। डिफेंस एक्सपर्ट लेफ्टिनेंट जनरल विनोद भाटिया के मुताबिक, "चीन आक्रामक लड़ाकू विमानों की इन एक्टिविटीज के जरिए भारत पर दबाव डालने की कोशिश करता है, लेकिन भारत ने ना सिर्फ जमीन पर अपने सैनिकों को बढ़ाया है बल्कि एयर एक्टिविटी में भी चीन को मिरर डेप्लॉयमेंट से जवाब दिया है। भारतीय वायुसेना के पास 3T की ताकत है, टेक्निकल टैक्टिकल और ट्रेनिंग की एडवांटेज के साथ भारतीय वायुसेना चीन की वायुसेना से टक्कर लेने के लिए बिल्कुल तैयार है।" 

 लद्दाख में बनाए गए हैं नए एयर स्ट्रिप 

लेह और थौइस एयरबेस के अलावा भारतीय वायु सेना के पास हाल ही में बनाए गए नए एयरस्ट्रिप्स का एडवांटेज भी है।  चीन चाहता है कि जिस तरह से वो ताइवान के एयरस्पेस में घुसकर अपने लड़ाकू विमान ले जाता है उसी तरह भारत पर भी दबाव बनाने की कोशिश की जाए लेकिन भारतीय वायुसेना अपनी एडवांस फॉरवर्ड डिप्लोयमेन्ट और एक्सरसाइज के जरिए चीन को जवाब दे रही है।डिफेंस एक्सपर्ट, लेफ्टिनेंट जनरल अशोक कुमार का कहना है कि,"अब से पहले ईस्टर्न लद्दाख सेक्टर में इतनी अधिक फाइटर जेट ऑपरेशन कभी नहीं देखे गए।" 

 एलएसी पर जल्द S-400 की होगी तैनाती 

जल्द ही भारतीय वायु सेना को एलएसी पर S400 सर्फेस टु एयर मिसाइल की ताकत भी मिल जाएगी। इसके बाद भारतीय एयरस्पेस से दूर रहना चीन की मजबूरी होगी। भारतीय वायुसेना की ताकत और बढ़े हुए ऑपरेशन चीन पर जल्द ही फ्रिक्शन पॉइंट्स में डिसएंगेजमेंट को लेकर भी दबाव बनाने का काम कर रहे हैं।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर