कर्नाटक में CM के बाद अब मंत्रिमंडल में भी होगा बदलाव, आज PM मोदी से मुलाकात करेंगे मुख्यमंत्री बोम्मई

देश
किशोर जोशी
Updated Jul 30, 2021 | 10:14 IST

कर्नाटक के नव नियुक्त मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई आज नई दिल्ली में पीएम मोदी से मुलाकात करेंगे। इस दौरान वह अन्य केंद्रीय मंत्रियों से भी मुलाकात करेंगे।

Karnataka CM Basavaraj Bommai to meet PM Narendra Modi in Delhi today
आज PM मोदी से मुलाकात करेंगे कर्नाटक के नए CM बोम्मई 

मुख्य बातें

  • कर्नाटक के नए सीएम बसवराज बोम्मई आज पीएम मोदी से करेंगे मुलाकात
  • इस दौरान CM बोम्मई की बीजेपी अध्यक्ष और गृह मंत्री से भी होगी मुलाकात
  • कर्नाटक में अभी मंत्रिमंडल का होना है विस्तार

नई दिल्ली: कर्नाटक के नव नियुक्त मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई दिल्ली पहुंच चुके हैं जहां उनकी आज पीएम नरेंद्र मोदी से मुलाकात तय है। पीएम मोदी के अलावा वह विभिन्न केंद्रीय मंत्रियों से भी मुलाकात करेंगे। दिल्ली रवाना होने से पहले मीडिया से बात करते हुए गुरुवार को उन्होंने कहा था, 'मैं कल सुबह दिल्ली जा रहा हूं, वहां मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा से मुलाकात करूंगा। (मुख्यमंत्री के तौर पर) यह मेरी पहली यात्रा होगी। मैं उनका आशीर्वाद लेने जाऊंगा।'

शेट्टार ने किया मंत्रिमंडल में शामिल होने इंकार

कहा जा रहा है कि वह नए मंत्रिमंडल को लेकर भी चर्चा कर सकते हैं। सूत्रों की मानें तो इस बार मंत्रिमंडल में भी काफी बदलाव देखने को मिल सकता है और कुछ पुराने मंत्रियों का पत्ता कट सकता है। मंत्रिमंडल विस्तार से पहले ही बीजेपी के दिग्गज नेता तथा येदियुरप्पा कैबिनेट में मंत्री रहे जगदीश शेट्टार ने ने अपनी वरिष्ठता का हवाला देते हुए मंत्री पद की दौड़ से बाहर होने का फैसला किया था। उन्होंने कहा, 'मैं बसवराज बोम्मई को मुख्यमंत्री पद संभालने के लिए बधाई देता हूं। नए मंत्रिमंडल के गठन की प्रक्रिया जारी है। मुझे नहीं पता कि यह कब पूरा होगा लेकिन मैंने मंत्रिमंडल में शामिल नहीं होने का फैसला किया है।'

मंत्रीपद के लॉबिंग शुरू

उत्तर कर्नाटक से लिंगायत समुदाय के नेता बोम्मई को येदियुरप्पा का करीबी माना जाता है। जैसे ही बोम्मई ने मुख्यमंत्री के रूप में कार्यभार संभाला, मंत्री पद के उम्मीदवारों ने नए मंत्रिमंडल में अपना स्थान सुरक्षित करने के लिए लामबंदी शुरू कर दी। पीटीआई के मुताबिक भाजपा बुजुर्ग नेताओं को हटाने पर ध्यान दे रही थी लेकिन 2023 में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर लिंगायत समुदाय के नेता को चुनकर पार्टी ने सुरक्षित चयन किया। लिंपार्टी के पुराने नेताओं और 2019 में कांग्रेस-जद(एस) गठबंधन छोड़ने के बाद भाजपा में शामिल हुए कई विधायक मंत्री पद के लिये दावेदारी पेश कर रहे हैं।


 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर