महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मिलीं कंगना रनौत, बोलीं- मेरे साथ हुए अन्याय पर बात की

देश
लव रघुवंशी
Updated Sep 13, 2020 | 16:37 IST

Kangana Ranaut meets Maharashtra Governor: मुंबई में राजभवन में कंगना रनौत ने महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात की है। उन्होंने कहा कि मैंने राज्यपाल को मेरे साथ हुए अन्याय के बारे में बताया।

Kangana Ranaut
राज्यपाल से कंगना रनौत की मुलाकात 

मुख्य बातें

  • महाराष्ट्र के राज्यपाल से मिलीं कंगना रनौत
  • राज्यपाल ने बेटी की तरह मुझे सुना: कंगना रनौत
  • मेरे साथ अन्याय हुआ है, मुझे न्याय की उम्मीद है: कंगना रनौत

नई दिल्ली: कंगना रनौत ने महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुंबई में राजभवन में मुलाकात की है। कंगना की राज्यपाल से ये मुलाकात तब हो रही है, जब उनकी शिवसेना और महाराष्ट्र सरकार से ठनी हुई है। दोनों आमने-सामने हैं, दोनों तरफ से जमकर बयानबाजी हो रही है। कंगना ने राज्यपाल के सामने बीएमसी द्वारा तोड़े गए उनके दफ्तर के मामले को उठाया। कंगना के साथ उनकी बहन रंगोली भी राज्यपाल से मुलाकात के लिए साथ गई थीं। 

मुलाकात के बाद कंगना ने कहा कि मैंने राज्यपाल से मुलाकात की। मेरे साथ जो भी अन्याय हुआ है, मैंने उस बारे में उन्हें बताया। मुझे उम्मीद है कि मुझे न्याय मिलेगा। मैं सौभाग्यशाली हूं किउन्होंने मुझे एक बेटी की तरह सुना। 

शिवसेना नेता संजय राउत ने रविवार को कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि भाजपा मुंबई की तुलना ‘पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर’ (पीओके) से करने वाली अभिनेत्री कंगना रनौत का समर्थन कर रही है। इस पर पलटवार करते हुए कंगना ने कहा कि वाह!! दुर्भाग्यपूर्ण है कि बीजेपी ड्रग और माफिया रैकेट का भंडाफोड़ करने वाले किसी व्यक्ति की रक्षा कर रही है। बीजेपी को इसके बजाए शिवसेना के गुंडों को मेरा चेहरा बर्बाद करने देना चाहिए। बलात्कार करने देना चाहिए या खुलेआम मुझे लिंच करने देना चाहिए। नहीं संजय जी? कैसे उनकी एक युवा महिला की रक्षा करने की हिम्मत हुई, जो माफिया के खिलाफ खड़ी है !!!' 

इसस पहले शिवसेना पर निशाना साधते हुए महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि राज्य सरकार को लगता है कि कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई खत्म हो चुकी है और अब एकमात्र लड़ाई अभिनेत्री कंगना रनौत के खिलाफ रह गई है। पूरी सरकारी मशीनरी कंगना के खिलाफ लड़ाई में शामिल है। वे जो चाहें कर सकते हैं, लेकिन उन्हें राज्य में कोरोना वायरस की स्थिति से निपटने पर ध्यान देना चाहिए। आप कंगना के खिलाफ लड़ाई में जो समय खर्च कर रहे हैं, उसका कम से कम 50 फीसदी (कोरोना वायरस से निपटने में) लगाएं।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times Now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर