'जिन्ना बड़े देशभक्त थे, AMU में और भी बड़ी तस्वीर लगाई जानी चाहिए' यूपी के पूर्व गवर्नर अजिज कुरैशी का बयान, देखें VIDEO

उत्तर प्रदेश के पूर्व राज्यपाल और कांग्रेस के सीनियर नेता अजीज कुरैशी ने पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना को देशभक्त बता कर नया विवाद खड़ा कर दिया है। अखिलेश यादव ने भी प्रशंसा की थी।

'Jinnah was a big patriot, should be bigger picture in AMU' former UP Governor Aziz Qureshi's statement, watch video
former Uttar Pradesh Governor Aziz Qureshi 
मुख्य बातें
  • अजीज कुरैशी के बयान से नया विवाद खड़ा हो गया है।
  • उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के संस्थापक जिन्ना सबसे बड़े राष्ट्रवादी थे।
  • उन्होंने कहा कि वे कांग्रेस पार्टी के सबसे प्रमुख और सबसे महत्वपूर्ण नेताओं में से थे।

अलीगढ़: उत्तर प्रदेश के पूर्व राज्यपाल और कांग्रेस के सीनियर नेता अजीज कुरैशी ने मोहम्मद अली जिन्ना को लेकर हाल ही में हुए हंगामे को लेकर एक नया विवाद खड़ा करते हुए अब कहा है कि जिन्ना के नाम का इस्तेमाल करना "अपराध नहीं" है। इसके अलावा, उन्होंने दावा किया कि अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में पाकिस्तान के संस्थापक जिन्ना की और भी बड़ी तस्वीर लगाई जानी चाहिए। कुरैशी ने कहा कि जिन्ना उच्च कोटि के राष्ट्रवादी (देशभक्त) थे। वह कांग्रेस पार्टी के सबसे प्रमुख और सबसे महत्वपूर्ण नेताओं में से थे। बाद में, उन्होंने पार्टी छोड़ दी लेकिन उन्होंने कांग्रेस के साथ 20 साल बिताए। 

इस महीने की शुरुआत में समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव द्वारा जिन्ना की प्रशंसा करने और उनकी तुलना महात्मा गांधी और सरदार वल्लभभाई पटेल के साथ करने के बाद विवाद शुरू हो गया था।

कुरैशी ने दावा किया कि मैं जिन्ना के बारे में यह कह सकता हूं क्योंकि मुझमें सच बोलने की हिम्मत है। जब तिलक पर राजद्रोह का मामला दर्ज किया गया तो अपना केस लड़ने के लिए तिलक ने  जिन्ना को बुलाया था। बंबई हाईकोर्ट ने अपनी शताब्दी पुस्तक में जिन्ना को एक अध्याय समर्पित किया। मुंबई में जिन्ना हाउस है। उनके विरोधी वहां जाकर उस जगह को क्यों नहीं तोड़ देते? मुसलमानों की वजह से, हीन भावना की वजह से एएमयू को निशाना बनाया जा रहा है। एएमयू को वास्तव में जिन्ना की बड़ी तस्वीर लगानी चाहिए और इसका विरोध करने वालों की परवाह नहीं करनी चाहिए।

हरदोई में एक रैली में अखिलेश यादव ने कहा था कि जिन्ना ने महात्मा गांधी और सरदार पटेल के साथ मिलकर भारत को अंग्रेजों से आजादी दिलाने में मदद की थी। उन्होंने कहा था कि सरदार पटेल, राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू और मुहम्मद अली जिन्ना ने एक ही संस्थान में अध्ययन किया और बैरिस्टर बन गए। उन्होंने भारत को आजादी दिलाने में मदद की और कभी किसी संघर्ष से पीछे नहीं हटे। उनकी इस टिप्पणियों की काफी आलोचना हुई, यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसे "तालिबान मानसिकता" कहा।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर