'Bulli Bai' row : जावेद अख्तर ने पूछा-चुप क्यों हैं प्रधानमंत्री, क्या यही है सबका साथ? धर्म संसद का मुद्दा उठाया

Javed Akhtar News : गीतकार जावेद अख्तर 'बुल्ली बाई' विवाद पर बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि महिलाओं की ऑनलाइन बिक्री हो रही है और धर्म संसद में नरसंहार की बात कही जा रही है। उन्होंने पूछा है कि क्या यही सबका साथ है।

Javed Akhtar questions silence of PM, his own over 'Bulli Bai' row
जावेद अख्तर ने कहा कि लोगों की चुपी देखकर वह आहत हैं।  |  तस्वीर साभार: PTI
मुख्य बातें
  • मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरों के साथ छेड़छाड़ कर उन्हें 'बुल्ली बाई' एप पर डाला गया
  • तस्वीरों के साथ अभद्र भाषा का इस्तेमाल हुआ और 'नीलामी' के लिए बोली लगाई गई
  • मामला सामने आने के बाद पुलिस ने की कार्रवाई, एप को ब्लाक कराया, हिरासत में 1 व्यक्ति

नई दिल्ली : 'बुल्ली बाई' विवाद पर लेखक एवं गीतकार जावेद अख्तर ने बयान दिया है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। अख्तर ने कहा है कि मुस्लिम महिलाओं को ऑनलाइन प्रताड़ित किए जाने पर प्रधानमंत्री मोदी सहित सभी लोगों की चुप्पी पर वह काफी 'दुखी' हैं। बता दें कि नामचीन मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरों के साथ छेड़छाड़ कर उन्हें 'नीलामी' के लिए 'बुल्ली बाई' एप पर पोस्ट किया गया है। इसके बाद से विवाद शुरू हो गया है। साल में यह दूसरा मौका है जब मुस्लिम महिलाओं को निशाना बनाया गया है, इससे पहले 'सुल्ली बाई' एप पर भी मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरों को पोस्ट किया गया था। देश भर में 'बुल्ली बाई' एप के खिलाफ आवाज उठने पर पुलिस ने कार्रवाई की है। पुलिस ने एक संदिग्ध व्यक्ति को हिरासत में लिया है। 

'सैकड़ों महिलाओं की ऑनलाइन नीलामी हो रही है'
गीतकार ने अपने एक ट्वीट में कहा, 'इस मामले में लोगों की चुप्पी देखकर वह हैरान हैं। सैकड़ों महिलाओं की ऑनलाइन नीलामी हो रही है। यहां धर्म संसद चल रही है जिसमें सेना एवं पुलिस से कहा जा रहा है कि वे जाकर 20 करोड़ भारतीयों का नरसंहार करें। इन सभी मामलों में खासकर अपने प्रधानमंत्री एवं अन्य लोगों की चुप्पी देखकर मैं काफी दुखी हूं। क्या यही सबका साथ है?' 

Javed Akhtar

फरहान अख्तर ने भी किया ट्वीट
जावेद अख्तर ने पिछले महीने हरिद्वार में आयोजित धर्म संसद पर भी प्रतिक्रिया दी है। इस आयोजन में मुसलमानों के खिलाफ कुछ वक्ताओं के कथित नफरत भरे भाषण को लेकर विवाद पैदा हो गया है। इस आयोजन के संबंध में सोमवार को और 10 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। अख्तर के पुत्र फरहान ने रविवार को अपने ट्वीट में कहा, ‘यह बीमार कर देने वाला है। इस घटिया काम के पीछे जिनका हाथ है, उनके खिलाफ त्वरित और कठोर कार्रवाई के लिए पुलिस से अनुरोध करता हूं।’

Bulli Bai ऐप को लेकर क्यों मचा है बवाल, कैसे बनाया जा रहा मुस्लिम महिलाओं को निशाना, 10 प्वाइंट में सबकुछ जानें

'बुल्ली बाई' एप के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग
गौरतलब है कि 'बुल्ली बाई' की शुरुआत 1 जनवरी को हुई थी। पोर्टल खुलने पर एक मुस्लिम महिला का चेहरा 'बुल्ली बाई' के रूप में दिखता है। जिस महिला का चेहरा इस ऐप को खोलने पर दिखता है, उसे 'बुल्ली बाई' ऑफ द डे के रूप में प्रदर्शित किया जाता है। इसके बाद उस महिला खिलाफ के बारे में नफरत और गंदी-गंदी बातें लिखी जाती हैं और उनकी बोली लगाई जाती है। इसे फिर ट्रेंड भी कराया जाता था। इस मामले को तूल पकड़ने पर सरकार ने कार्रवाई की और एप को ब्लाक कराया। राष्ट्रीय महिला आयोग ने पुलिस से कार्रवाई करने एवं दोषियों को सख्त सजा देने की मांग की है।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर