जामिया फायरिंग में घायल छात्र ने कहा, 'कार्रवाई नहीं हुई तो कल कोई दूसरा शदाब गोली के सामने होगा'

दिल्ली में जामिया मिल्लिया इस्लामिया में 30 जनवरी को छात्रों के मार्च पर हुई फायरिंग में घायल छात्र शदाब फारूक ने उस दिन की आंखों देखी बताई।

Jamia firing injured student said,
जामिया फायरिंग में घायल छात्र शदाब फारूक ने उस दिन की पूरी बात बताई  |  तस्वीर साभार: IANS

नई दिल्ली : महात्मा गांधी के शहादत दिवस 30 जनवरी को दिल्ली में जामिया मिल्लिया इस्लामिया में छात्रों के मार्च पर एक युवक के गोली चलाने से घायल जामिया मिल्लिया इस्लामिया के छात्र शदाब फारूक ने शनिवार को आरोप लगाया कि 15 दिबंसर को कैंपस में हुए हिंसा के प्रति यूनिवर्सिटी प्रशासन ने निष्क्रियता दिखाई। मास कम्युनिकेशन के छात्र फारूक ने कहा कि ना सिर्फ पुलिस पर आरोप लगाया जाना चाहिए। जामिया प्रशासन ने थोड़ा भी एक्शन लिया होता तो ये स्थिति नहीं होती। 

जामिया के छात्र फारूक ने कहा कि जो हुआ इसके लिए जामिया प्रशासन और कुलपति पर भी आरोप लगाया जाना चाहिए। अगर पहले ही पुलिस के खिलाफ एक्शन लिया गया होता तो यह नहीं हुआ होता। छात्रों की सुरक्षा की जिम्मेदारी प्रशासन की है। छात्र ने कहा कि जामिया में जो हुआ अति राष्ट्रवाद का परिणाम है। मैंने जो वहां किया वह कोई बहादुरी नहीं है। मैंने वही किया जो मुझे उचित लगा। मैंने कार्रवाई के लिए कह रहा हूं क्योंकि मुझे चोट लगी है। अगर प्रशासन कोई एक्शन नहीं लेता है तो कल कोई दूसरा शदाब बुलेट के सामने होगा। फारूक ने कहा कि मैं जल्द कॉलेज जाऊंगा। लड़ाई लंबी चलेगी लेकिन हम लड़ेंगे, हम जीतेंगे।

फारूक ने अपने बयान में कहा कि ज्वाइंट को-ऑर्डिनेशन कमिटी (जेसीसी) ने जामिया से गांधी मार्च बुलाया  था। मैं प्रोटेस्ट में शामिल होने वाला था। मार्च को आगे बढ़ने इंतजार कर रहा था।  जब मैं ने अचानक एक आदमी को हाथ पिस्टल लेकर होली फेमिली अस्पताल की ओर देखा। मैंने वहां अपने कुछ मित्रों को खड़ा देखा। मैं तुरंत उस व्यक्ति की ओर दौरा ताकि उसे फायरिंग करने रोका जा सके। लोग पुलिस से कह रहे थे  उसे रोको। सभी लगातार चिल्ला रहे थे उसके पास पिस्टल है लेकिन पुलिस पुलिस ने नहीं सुनी। लोगों ने इसका वीडियो रिकॉर्ड किया। मैंने उस युवक से लगातार कह रहा था कि बंदूक को नीचे करो। लेकिन उसने मेरे हाथ में गोली मार दी।

 


 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर