Sputnik V:भारत पहुंची रूसी स्पूतनिक वैक्सीन की डोज, वैक्सीनेशन ड्राइव में आएगी तेजी

Sputnik V vaccine in india:स्पुतनिक-वी वैक्सीन के भारत आने से कोरोना के खिलाफ जंग में काफी मदद मिलेगी, हाल ही में केंद्र ने इसके आपात इस्‍तेमाल को मंजूरी दी है। 

SPUTNIK V
रूस ने 11 अगस्त 2020 को कोरोना वायरस की वैक्सीन स्पूतनिक वी को मंजूरी दी थी  |  तस्वीर साभार: ANI

नयी दिल्ली: देश में कोरोना  संक्रमितों का दैनिक आंकड़ा चार लाख को पार कर गया है,वहीं सरकार ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई को तेज करते हुए टीकाकरण के तीसरे चरण की शुरुआत की है जिसमें 18+ उम्र के लोगों को कोविड वैक्‍सीन लगाने का फैसला किया गया है।  इस बीच रूस से कोविड वैक्‍सीन स्‍पुतनिक-वी की पहली खेप भारत पहुंच गई है।

भारत को शनिवार को रूस से स्पूतनिक वी वैक्सीन की 1.5 लाख खुराक की पहली खेप मिली। केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क बोर्ड ने एक ट्वीट में कहा कि हैदराबाद सीमा शुल्क ने रूस से आयातित कोविड-19 वैक्सीन की खेप की निकासी की प्रक्रिया तेजी से निपटायी। डॉ रेड्डीज लैबोरेटरीज ने कहा कि रूसी वैक्सीन की 1.5 लाख खुराक की पहली खेप हैदराबाद पहुंच गई है।

रूस ने 11 अगस्त 2020 को कोरोना वायरस की वैक्सीन स्पूतनिक वी को मंजूरी दी थी। इसके बाद सितंबर में डॉ रेड्डीज लैबोरेटरीज और रूसी प्रत्यक्ष निवेश कोष (आरडीआईएफ) ने स्पुतनिक वी के चिकित्सकीय परीक्षण के लिए एक समझौता किया था। डॉ रेड्डीज को रुसी वैक्सीन के नियंत्रित आपातकालिक उपयोग की अनुमति पहले ही मिल चुकी है।

हैदराबाद स्थित कंपनी ने कहा कि इसके बाद अगले कुछ हफ्तों में अगली खेप आ जाएगी।डॉ रेड्डीज लैबोरेटरीज के एपीआई एवं सेवा विभाग के सीईओ दीपक सपरा ने कहा, '...स्पुतनिक वी वैक्सीन की 1,50,000 खुराक की पहली खेप रूस से हैदराबाद आ गई है। इस खेप का वितरण आवश्यक मंजूरी के अधीन होगा, जिसे अगले कुछ दिनों में पूरा किया जाएगा। '

उन्होंने कहा कि इस शुरुआती मात्रा का इस्तेमाल विभिन्न चैनलों द्वारा पायलट रूप में किया जाएगा, ताकि 'हमारी आपूर्ति श्रृंखला को एक बड़े टीकाकरण कार्यक्रम के लिए तैयार किया जा सके।' सीबीआईसी ने ट्वीट किया, 'हैदराबाद सीमा शुल्क ने रूस से आयातित स्पूतनिक वी वैक्सीन को शीघ्र निकासी की सुविधा दी।'

1 मई से 18 वर्ष से अधिक उम्र वालों के टीकाकरण की अनुमति 

इस पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ट्वीट में कहा, 'हैदराबाद सीमा शुल्क, समय पर समुचित कार्य। वक्त की मांग है ये।' सरकार ने पिछले महीने कोरोना वायरस संक्रमण के प्रकोप को रोकने के लिए आयातित टीकों के आपातकालीन उपयोग की अनुमति दी थी और उनके आयात पर सीमा शुल्क को माफ कर दिया था। सरकार ने एक मई से 18 वर्ष से अधिक उम्र के नागरिकों के टीकाकरण की अनुमति भी दी है। शनिवार को भारत में कोविड19 संक्रमण के 4.01 लाख नए मामले सामने आए जो एक रिकार्ड है। इसके साथ 3,523 लोगों की कोराना से मौत की भी सूचना है।
 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर