HAMMER missiles : दुश्मन पर वज्र की तरह गिरेगी हैमर मिसाइल, तेजस के लिए IAF ने फ्रांस को दिया ऑर्डर

France to deliver hammer missiles to IAF : हैमर (हाइली एजाइल मॉड्युलर म्यूनिटिशन एक्सटेंडेट रेंज) वायु से सतह पर मार करने वाला मध्यम दूरी का हथियार है। शुरुआत में इसे फ्रांस की नौसेना एवं वायु सेना के लिए विकसित किया गया।

India places orders for French HAMMER missiles to enhance Tejas capabilities
आईएएफ को हैमर मिसाइल की आपूर्ति करेगा फ्रांस।  |  तस्वीर साभार: ANI
मुख्य बातें
  • वायु सेना के स्वदेशी लड़ाकू विमान तेजस में लगाई जाएंगी ये मिसाइलें
  • दुश्मन कि छिपने के ठिकानों एवं बंकर्स को बर्बाद करेगा हैमर
  • राफेल के लिए इन हथियारों की एक खेप पहले ही मिल चुकी है

नई दिल्ली : स्वदेश निर्मित हल्के लड़ाकू विमान तेजस (Tejas) की मारक क्षमता बढ़ाने के लिए सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। सरकार तेजस लड़ाकू विमानों को हैमर मिसाइल से लैस करेगी। इसकी आपूर्ति के लिए भारतीय वायु सेना ने फ्रांस को ऑर्डर दिया है। हैमर मिसाइल इतनी ताकतवार होती हैं कि वे दुश्मन के मजबूत बंकर और जमीन पर बने किसी तरह के सैन्य पोस्ट्स को आसानी से तबाह कर सकती हैं। ये मिसाइलें 70 किलोमीटर की दूरी से ही अपने ठिकानों को निशाना बनाने में सक्षम हैं। 

वायु सेना खरीद रही ये मिसाइलें

तेजस की मारक क्षमता में इजाफा करने की यह कवायद ऐसे समय चल रही है जब वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर चीन के साथ भारत का तनाव एवं गतिरोध बना हुआ है। चीफ ऑफ डिफेंस स्टॉफ जनरल बिपिन रावत ने कुछ दिनों पहले कहा कि चीन की सेना एलएसी के अपने हिस्से में कुछ जगहों पर स्थानी निर्माण किए हैं। इसे देखते हुए भारत भी अपनी जवाबी तैयारियों को लेकर पूरी तरह से मुस्तैद है। सीमा पर चीन के साथ जारी गतिरोध को देखते हुए सरकार ने वायु सेना को हथियारों की खरीद के लिए आपात अधिकार दिए हैं।

दुश्मन के छिपने के ठिकानों एवं बंकर को बनेंगे निशाना

समाचार एजेंसी एएनआई से सरकार के सूत्रों ने कहा, 'तेजस लड़ाकू विमानों में हैमर मिसाइलें लगाए जाने की प्रक्रिया चल रही है। इससे तेजस की ताकत काफी बढ़ जाएगी। तेजस में लगीं हैमर मिसाइलें काफी दूरी से दुश्मन के मजबूत ठिकानों एवं सैन्य बेस को आसानी से तबाह कर देंगी।' भारत वायु सेना को हैमर मिसाइलें की खेप पहले भी मिल चुकी है। ये मिसाइलें भारत को तब मिलीं जब अत्याधुनिक लड़ाकू विमान राफेल फ्रांस से मिलने शुरू हुए। उस समय पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ जारी तनाव को देखते हुए फ्रांस के अधिकारी हैमर मिसाइलों की आपूर्ति करने के लिए तैयार हो गए। 

तीन मीटर लंबा, 330 किलोग्राम वजनी है हैमर

हैमर (हाइली एजाइल मॉड्युलर म्यूनिटिशन एक्सटेंडेट रेंज) वायु से सतह पर मार करने वाला मध्यम दूरी का हथियार है। शुरुआत में इसे फ्रांस की नौसेना एवं वायु सेना के लिए विकसित किया गया। यह हथियार हिमालय की दुर्गम एवं ऊंची पहाड़ियों पर स्थित दुश्मन के बंकरों, छिपने के स्थलों एवं ठिकानों को नष्ट करने में अहम भूमिका निभाएगा। हैमर एक खास तरह का बम है जो दुश्मन के बख्तरबंद वाहनों, ऊंची पहाड़ियों पर बने बंकरों को आसानी से तहस-नहस कर सकती है। मीडियम रेंज के साथ इसकी मारक क्षमता 60-70 किलोमीटर है। यह तीन मीटर लंबा और इसका वजन करीब 330 किलोग्राम है। 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर