India China news: भारत-चीन के बीच साढ़े आठ घंटे चली 13वें दौर की वार्ता, गतिरोध दूर करने पर हुई चर्चा

भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख में वास्‍तव‍िक नियंत्रण रेखा (LAC) पर तनाव के बीच दोनों देशों ने एक बार फिर सैन्‍य कमांडर स्‍तर की वार्ता की, जिसमें गतिरोध दूर करने के मुद्दों पर चर्चा की गई।

India China news: भारत-चीन के बीच साढ़े आठ घंटे चली 13वें दौर की वार्ता, गतिरोध दूर करने पर हुई चर्चा
India China news: भारत-चीन के बीच साढ़े आठ घंटे चली 13वें दौर की वार्ता, गतिरोध दूर करने पर हुई चर्चा  |  तस्वीर साभार: ANI

मुख्य बातें

  • पूर्वी लद्दाख में भारत-चीन तनाव के बीच 13वें दौर की कॉर्प्‍स कमांडर स्‍तर की वार्ता हुई है
  • दोनों पक्षों के बीच LAC पर तनाव वाले बिंदुओं से गतिरोध दूर करने को लेकर चर्चा की गई
  • इसमें भारतीय पक्ष की अगुवाई 14वीं कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल पीजीके मेनन ने की

नई दिल्‍ली : भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख में वास्‍तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर तनाव की स्थिति डेढ़ साल बाद भी पूरी तरह दूर नहीं हो पाई है। विदेश मंत्री एस. जयशंकर के मुताबिक, इस मामले में थोड़ी प्रगति हुई है, पर बड़ी समस्‍या अभी बरकरार है। इन सबके बीच दोनों देशों ने एक बार फिर सैन्‍य कमांडर स्‍तर की बातचीत की, जिसमें तनाव वाले बिंदुओं से गतिरोध दूर करने के मसले पर चर्चा की गई।

साढ़े आठ घंटे चली वार्ता

भारत और चीन के बीच रविवार को 13वें दौर की कॉर्प्‍स कमांडर स्‍तर की वार्ता हुई, जो तकरीबन साढ़े आठ घंटे तक चली। यह बातचीत पूर्वी लद्दाख में LAC पर मोल्‍डो में चीन के नियंत्रण वाले क्षेत्र में हुई, जिसमें भारतीय प्रतिनिधिमंडल की अगुवाई लेह स्थित 14वीं कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल पीजीके मेनन ने की। बातचीत सुबह करीब 10:30 बजे शुरू हुई, जो शाम 7 बजे तक चली।

समझा जाता है कि भारत और चीन के बीच 13वें दौर की कोर कमांडर स्तर की वार्ता में पेट्रोलिंग प्वाइंट 15 से सैनिकों की वापसी की विलंबित प्रक्रिया को जल्‍द पूरा करने के मुद्दे पर चर्चा हुई। भारत का जोर इस बात पर रहा है कि देप्सांग समेत टकराव के सभी बिंदुओं पर लंबित मुद्दों का समाधान जल्‍द किया जाना चाहिए, जो दोनों देशों के बीच संबंधों में सुधार के लिए जरूरी है।

सेना प्रमुख ने जताई थी चिंता

भारत और चीन के बीच यह बातचीत ऐसे समय में हुई है, जबकि कुछ दिन पहले ही विदेश मंत्री एय जयशंकर ने एक कार्यक्रम में कहा कि दोनों देशों के बीच पूर्वी लद्दाख में तनाव कम करने की दिशा में कुछ प्रगति जरूर हुई है, पर बड़ी समस्‍या अभी बरकरार है। वहीं सेना प्रमुख मनोज मुकुंद नरवणे ने LAC के अग्रिम क्षेत्रों में चीनी सैनिकों की तैनाती में बढ़ोतरी पर चिंता जताते हुए यह भी कहा था कि भारत किसी भी घटना से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर