India China: भारत-चीन के बीच पिछले 20 दिनों में 3 बार हुई गोलीबारी, 8 सितंबर को दोनों तरफ से 100 राउंड फायर

भारत और चीन के बीच तनाव काफी ज्यादा बढ़ गया है। पिछले 20 दिनों में पूर्वी लद्दाख में दोनों देशों के बीच फायरिंग की 3 घटनाएं हुई हैं। पिछले कई महीनों से दोनों के बीच सीमा विवाद बना हुआ है।

pla
चीनी सेना 

मुख्य बातें

  • भारत और चीन के बीच लद्दाख में सीमा पर बढ़ा बहुत तनाव
  • 45 साल बाद एलएसी पर गोलीबारी की घटना हुई
  • तनाव कम करने के लिए दोनों देशों के बीच कई स्तर पर वार्ता भी हुई

नई दिल्ली: भारत और चीन के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर 45 साल तक एक भी गोली नहीं चली, लेकिन पिछले 20 दिनों में पूर्वी लद्दाख में दोनों के बीच गोलीबारी की तीन घटनाएं हो गईं। सेना के सूत्रों ने बताया कि पहली घटना तब हुई जब भारतीय सेना ने 29-31 अगस्त के बीच पैंगॉन्ग त्सो के दक्षिणी किनारे के पास ऊंचाइयों पर कब्जे की चीनी कोशिश को नाकाम कर दिया, दूसरी घटना 7 सितंबर को मुखपारी की ऊंचाई के पास हुई। तीसरी घटना 8 सितंबर को पैंगॉन्ग झील के उत्तरी तट के पास हुई। दोनों पक्षों के सैनिकों ने 100 से अधिक राउंड फायर किए, चीनी पक्ष बहुत आक्रामक तरीके से व्यवहार कर रहा था।

यह घटना ऐसे समय में हुई है जब शंघाई सहयोग संगठन की बैठक के लिए भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर मॉस्को में थे। वहां उन्होंने सीमा मुद्दों पर चर्चा के लिए अपने चीनी समकक्ष से मुलाकात की थी। चर्चा के अनुसार, दोनों पक्ष कॉर्प्स कमांडर स्तरीय वार्ता करने वाले थे, लेकिन अभी तक चीनी पक्ष द्वारा तारीख और समय की पुष्टि नहीं की गई है।

पूर्वी लद्दाख में सीमा पर तनाव को कम करने के लिए भारत और चीन ने सैन्य और कूटनीतिक दोनों स्तरों पर पिछले कुछ महीनों में कई दौर की वार्ता की है लेकिन अब तक इसका कोई महत्वपूर्ण परिणाम नहीं निकला है। दोनों देश इस साल अप्रैल-मई से पैगॉन्ग झील के पास कोंगरूंग नाला, गोगरा, और फिंगर क्षेत्र में चीनी सेना द्वारा किए गए बदलाव के बाद गतिरोध में लगे हुए हैं। भारतीय सेना ने अब लद्दाख सेक्टर में अपनी तैयारियों को कई गुना बढ़ा दिया है। 

तैयार है भारतीय सेना

वहीं सरकार ने कहा कि पिछले छह महीने में भारत-चीन सीमा पर कोई घुसपैठ नहीं हुई। राज्यसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने कहा कि पिछले छह महीने में भारत-चीन सीमा पर घुसपैठ का कोई मामला सामने नहीं आया है। इसके अलावा भारतीय सेना ने जोर देते हुए कहा है कि वह पूर्वी लद्दाख में सर्दी में भी आर-पार की जंग लड़ने के लिए पूरी तरह तैयार है। साथ ही उसने कहा कि अगर चीन युद्ध छेड़ता है तो उसे अच्छी तरह प्रशिक्षित, बेहतर ढंग से तैयार, पूरी तरह चौकस और मनोवैज्ञानिक रूप से मजबूत भारतीय सैनिकों का सामना करना होगा।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर