भारत-चीन ने LAC पर स्थिति और सैनिकों की वापसी की प्रक्रिया की समीक्षा की

भारत-चीन ने वास्तविक नियंत्रण रेखा पर स्थिति और सैनिकों की वापसी की प्रक्रिया की समीक्षा की है। दोनों पक्ष इस बात पर सहमत हैं कि सैनिकों की जल्दी और पूरी तरह से वापसी संबंधों की बेहतरीके लिए महत्वपूर्ण है।

India-China
भारत-चीन के बीच जारी सीमा विवाद 

मुख्य बातें

  • सीमा मुद्दे पर भारत और चीन के बीच हुई कूटनीतिक वार्ता
  • विदेश मंत्रालय ने चीन के साथ सीमा वार्ता पर बयान जारी किया
  • वरिष्ठ कमांडरों के बीच बनी सहमति को गंभीरता से लागू करने की जरुरत: विदेश मंत्रालय

नई दिल्ली: विदेश मंत्रालय ने सीमा मुद्दे पर चीन के साथ कूटनीतिक वार्ता के संदर्भ में कहा है कि दोनों पक्षों ने वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर स्थिति और सैनिकों की वापसी की प्रक्रिया की समीक्षा की है। दोनों पक्ष इस पर सहमत हुए हैं कि वास्तविक नियंत्रण रेखा पर सैनिकों की जल्दी और पूरी तरह से वापसी संबंधों की बेहतरी के लिए महत्वपूर्ण है। दोनों पक्ष इस पर सहमत हुए हैं कि सीमावर्ती क्षेत्रों में शांति और स्थिरता व्यापक संबंधों के लिए आवश्यक है। दोनों पक्ष इस पर सहमत हुए कि बैठकों में वरिष्ठ कमांडरों के बीच बनी सहमति को गंभीरता से लागू करने की जरुरत है। सैनिकों की पूर्ण वापसी की रूपरेखा तय करने के लिए जल्दी ही वरिष्ठ कमांडरों की बैठक होगी। विदेश मंत्रालय ने कहा है कि दोनों पक्षों में कूटनीतिक और सैन्य स्तर पर मौजूदा बातचीत को जारी रखने पर सहमति बनी है। 

इससे पहले गुरुवार को विदेश मंत्रालय ने उम्मीद जताई कि चीनी पक्ष पूर्वी लद्दाख से अपने सैनिकों को पूरी तरह हटाने, तनाव कम करने और सीमावर्ती क्षेत्रों में शांति एवं स्थिरता की पूर्ण बहाली के लिए भारत के साथ ईमानदरी से काम करेगा। 14 जुलाई को लगभग 15 घंटे तक चली कोर कमांडर स्तर की बैठक के बाद सैनिकों को पीछे हटाने की प्रक्रिया उम्मीद के अनुरूप आगे नहीं बढ़ी है। 

पूर्वी लद्दाख में दोनों देशों की सेनाओं के बीच तनाव कम करने के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और चीन के विदेश मंत्री वांग यी के बीच पांच जुलाई को टेलीफोन पर लगभग दो घंटे तक बात हुई थी। इस वार्ता के बाद दोनों पक्षों ने छह जुलाई से विवाद वाले स्थानों से अपने-अपने सैनिकों को पीछे हटाने की प्रक्रिया शुरू कर दी थी।

देश और दुनिया में  कोरोना वायरस पर क्या चल रहा है? पढ़ें कोरोना के लेटेस्ट समाचार. और सभी बड़ी ख़बरों के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें

अगली खबर