'IB अफसर अंकित शर्मा को 4 घंटे तक चाकू से गोदा, किए 400 वार'

देश
आलोक राव
Updated Feb 28, 2020 | 11:46 IST

Ankit Sharma : अंकित शर्मा के परिवार का कहना है कि उनका बेटा गत 25 फरवरी को ड्यूटी से वापस आने के बाद कुछ सामान खरीदने के लिए घर से बाहर गया था लेकिन वह लौटकर नहीं आया।

'IB officer Ankit Sharma brutually murdered, 400 times stabbed'
खुफिया ब्यूरो में अधिकारी थे अंकित शर्मा। 

मुख्य बातें

  • इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) में अधिकारी थे अंकित शर्मा, ताहिर हुसैन पर हत्या का आरोप
  • दिल्ली हिंसा में अब तक 38 लोगों की जा चुकी है जान, अब सुधर रहे हालात
  • हिंसा ग्रस्त इलाकों में बनी अमन कमेटियां लोगों से कर रही हैं बात

नई दिल्ली: उत्तर पूर्वी दिल्ली के चांद बाग इलाके में इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) के अधिकारी अंकित शर्मा की हत्या अत्यंत बेरहमी से करने की बात सामने आई है। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रवक्ता संबित पात्रा ने गुरुवार को कहा कि आई अधिकारी अंकित के शरीर को 4 घंटों तक लगातार चाकुओं से गोदा गया और उनके शरीर पर 400 बार चाकू से हमला किया गया। पात्रा का कहना है कि अंकित शर्मा की हत्या में नफरत की इंतहां दिखती है। भाजपा प्रवक्ता ने सवाल पूछा है कि एक आईबी अधिकारी के साथ इतनी नृशंसता से हत्या क्यों की गई? 

अंकित के पिता ने दर्ज कराई शिकायत
अंकित शर्मा के परिवार का कहना है कि उनका बेटा गत 25 फरवरी को ड्यूटी से वापस आने के बाद कुछ सामान खरीदने के लिए घर से बाहर गया था लेकिन वह लौटकर नहीं आया। अंकित के पिता रविंदर कुमार ने पुलिस को दी अपनी शिकायत में अपने बेटे की हत्या का आरोप आम आदमी पार्टी के पूर्व पार्षद ताहिर हुसैन और उसके लोगों पर लगाया है। अंकित के पिता ने अपनी शिकायत में कहा है कि घटना वाले दिन 25 फरवरी को उनका बेटा कुछ सामान खरीदने के लिए घर से बाहर गया था लेकिन वह वापस नहीं लौटा। हिंसा के लिए ताहिर पर सवाल उठने के बाद आप ने उसे पार्टी से निकाल दिया है।

 

 

'ताहिर हुसैन पर हत्या का आरोप'
रविंदर कुमार के मुताबिक ताहिर हुसैन ने अपनी इमारत में अपने लोगों को एकट्ठा कर रखा था। इस इमारत से ताहिर के 'गुंडे' नीचे लोगों पर पेट्रोल बम और पत्थर फेंक रहे थे। रविंदर का आरोप है कि उनके बेटे अंकित की हत्या के पीछे ताहिर और उसके 'गुंडों' का हाथ है। अंकित के पिता ने पुलिस से इस दिशा में जांच शुरू करने की मांग की है। स्थानीय लोगों का भी कहना है कि 24 फरवरी को ताहिर अपनी फैक्टरी में मौजूद था और अपनी इमारत में मौजूद लोगों को हिंसा के लिए उकसा रहा था।

अब तक 38 लोगों की गई जान
बता दें कि गत 24 एवं 25 फरवरी को सीएए समर्थकों एवं विरोधियों के बीच उत्तर पूर्वी दिल्ली के कई इलाकों में झड़पें हुईं। धीरे-धीरे हिंसा की आग कई इलाकों में फैल गई। उपद्रवियों ने अलग-अलग जगहों पर इमारतों, दुकानों एवं वाहनों में आग लगाई। अब तक हिंसा में 38 लोग मारे गए हैं। हमले में घायल लोगों का इलाज किया जा रहा है। हालांकि पिछले दो दिनों में हिंसा ग्रस्त इलाकों में स्थितियां सामान्य हुई हैं और जनजीवन पटरी पर लौटता दिखा है।

सामान्य हो रही स्थिति
दिल्ली पुलिस के अधिकारी हिंसा प्रभावित इलाकों का लगातार दौर कर लोगों से बातचीत कर रहे हैं। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) के दौरे के बाद लोगों के मन से भय दूर हुआ है और स्थितियां तेजी से सामान्य हुई हैं। पुलिस ने हिंसा प्रभावित इलाकों में शांति कायम करने के लिए अमन कमेटियां बनाई हैं। ये कमेटियां लोगों से लगातार बात कर उनके भय को दूर कर रही हैं।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर