IAF Fighter Plane: चीन और पाकिस्तान निपटने के लिए तैयार है वायुसेना, लड़ाकू विमान भर रहे हैं उड़ान

देश
किशोर जोशी
Updated Sep 25, 2020 | 20:54 IST

चीन और पाकिस्तान की किसी भी हरकत से निपटने के लिए वायुसेना पूरी तरह से तैयार है। पीओके के नजदीक एयरबेस पर वायुसेना के लड़ाकू विमान रात में भी उड़ान भरने के लिए तैयार हैं।

IAF Ready For Undertaking Operations On Both China, Pakistan Fronts
चीन और पाकिस्तान निपटने के लिए तैयार है IAF के लड़ाकू विमान 

मुख्य बातें

  • किसी भी चुनौती से निपटने के लिए तैयार है वायुसेना
  • पीओके के नजदीक बने एयरबेस से रात में भी उड़ान भरने के लिए तैयार हैं लड़ाकू विमान
  • चीन और पाकिस्तान की हर हरकत पर है पैनी नजर

नई दिल्ली: ऐसे समय में जब यह संदेह है कि चीन और पाकिस्तान दोनों भारत के खिलाफ एक साथ आ सकते हैं, ऐसे में भारतीय वायु सेना भी पूरी तरह से तैयार है। वायुसेना ने शुक्रवार को कहा कि वह दोनों मोर्चों पर एक साथ संचालन के लिए तैयार है। वायुसेना का फॉरवर्ड एयरबेस जहां से पाकिस्तान करीब 50 किलोमीटर दूर हैं और रणनीतिक दौलत बेग ओल्डी लगभग 80 किलोमीटर है वहां दिन और रात दोनों समय के लिए लड़ाकू, परिवहन विमान और हेलीकॉप्टर तैयार और दोनों पर पैनी नजर रखे हुए हैं।

दिन और रात में उड़ाने के लिए तैयार हैं लड़ाकू विमान

रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण एयरबेस जो श्योक नदी के साथ खार-डूंग के पास है वहां सुखोई -30 एमकेआई और सी -130 जे सुपर हरक्यूलिस, आईयूशिन -76 और एंटोन -32 सहित ट्रांसपोर्ट विमानों का संचालन हो रहा है। चीन के साथ चल रहे संघर्ष के मद्देनजर, लड़ाकू विमान दिन और रात दोनों एयरबेस के बाहर और अंदर उड़ान भर रहे हैं और  परिवहन विमान लगातार वास्तविक नियंत्रण रेखा पर स्थित ठिकानों में सैनिकों के लिए राशन और गोला-बारूद की आपूर्ति सुनिश्चित कर रहे हैं।

हर स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं वायुसेना

 पाकिस्तान का स्कार्दू एयरबेस भी यहां से नजदीक है जहां से चीन और पाकिस्तान के साथ आने की संभावना है। इस खतरे की संभावना के बारे में पूछे जाने पर, भारतीय वायु सेना के फ्लाइट लेफ्टिनेंट रैंक के एक पायलट ने बताया, 'आधुनिक प्लेटफॉर्म के कारण, भारतीय वायुसेना पूरी तरह से प्रशिक्षित है और किसी भी ऑपरेशन को करने के दोनों मोर्चों से तैयार है। हम पूरी तरह से प्रशिक्षित और उच्च प्रेरित हैं। हम भारतीय वायुसेना के आदर्श वाक्य - 'टच द स्काई विथ ग्लोरी' को जीते हैं।'

वायुसेना की क्षमता में हुई बढ़ोत्तरी
इन कठिन इलाकों में रात के संचालन की भारतीय वायुसेना की क्षमता के बारे में बताते हुए फायटर पायलट ने कहा, वर्तमान में हमारी युद्ध क्षमता इतनी बढ़ गई है कि हम फॉरवर्ड बेस से रात में भी सभी प्रकार के मिशन करने में सक्षम हैं। इससे पहले, जून में, गिलगित-बाल्टिस्तान क्षेत्र में स्थित स्कार्दू एयरबेस में चीनी रिफ्यूलर विमान को उड़ान भरते हुए देखा गया था। श्योक नदी के तट पर स्थित सामरिक एयरबेस को दिन और रात के संचालन के लिए अपग्रेड किया गया है। भारत और चीन के बीच एक हिंसक झड़प में दोनों ओर से कई सैनिकों की मौत हुई थी। गलवान नदी भी श्योक नदी में विलीन हो जाती है, जो पाकिस्तान में जाने से पहले पूर्वी लद्दाख से पश्चिमी लद्दाख तक बहती है। 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर