हैदराबाद निकाय चुनाव : धुआंधार प्रचार अभियान के बावजूद सिर्फ 46.55 प्रतिशत मतदान, अब नतीजों पर टिकी नजर

देश
भाषा
Updated Dec 02, 2020 | 19:34 IST

हैदराबाद में निकाय चुनाव के लिए प्रचार अभियान इस बार सुर्खियों में रहा। बीजेपी ने कई बड़े नेताओं को इस चुनाव में प्रचार के लिए उतारा। अब सभी की नजरें नतीजों पर टिकी हैं।

हैदराबाद निकाय चुनाव : धुआंधार प्रचार अभियान के बावजूद सिर्फ 46.55 प्रतिशत मतदान, अब नतीजों पर टिकी नजर
हैदराबाद निकाय चुनाव : धुआंधार प्रचार अभियान के बावजूद सिर्फ 46.55 प्रतिशत मतदान, अब नतीजों पर टिकी नजर  |  तस्वीर साभार: ANI

हैदराबाद : ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (जीएचएमसी) के चुनाव के लिए धुआंधार प्रचार और तेलंगाना सरकार, राज्य निर्वाचन आयोग तथा हस्तियों की ओर से लोगों से अधिक से अधिक संख्या में वोट डालने का आग्रह किए जाने के बावजूद मतदान का प्रतिशत काफी कम रहा और 74.44 लाख मतदाओं में से केवल 46.55 प्रतिशत मतदाताओं ने ही अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया।

मतगणना शुक्रवार को होगी

जीएचएमसी के 150 वार्डों के लिए एक दिसंबर को चुनाव हुआ था। मतगणना शुक्रवार को होगी। तेलंगाना राज्य निर्वाचन आयोग ने मतपत्र में भाकपा की जगह माकपा का चुनाव चिह्न पाए जाने के बाद वार्ड नंबर 26 के सभी 69 मतदान केंद्रों पर पुनर्मतदान का आदेश दिया है। आधिकारिक रिपोर्ट के अनुसार आरसी पुरम में सर्वाधिक 67.71 प्रतिशत मतदान हुआ तथा यूसुफगुडा में सबसे कम 32.99 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया।

सत्तारूढ़ तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस), विपक्षी भाजपा और कांग्रेस के बीच मुकाबले वाले इस चुनाव में 1,122 उम्मीदवार मैदान में थे। केंद्रीय मंत्री एवं भाजपा नेता जी किशन रेड्डी ने कम मतदान प्रतिशत के लिए टीआरएस की निन्दा करते हुए मंगलवार को कहा था कि उसका सिर शर्म से झुक जाना चाहिए।

धुआंधार रहा प्रचार अभियान

निकाय चुनाव में धुआंधार प्रचार हुआ और भाजपा ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, स्मृति ईरानी और भाजयुमो अध्यक्ष तेजस्वी सूर्या जैसे अपने नेताओं को चुनाव प्रचार के लिए भेजकर अपनी पूरी ताकत झोंक दी।

टीआरएस के प्रचार अभियान की कमान पार्टी के कार्यवाहक अध्यक्ष एवं नगर प्रशासन मंत्री केटी रामा राव के हाथों में रही। पार्टी अध्यक्ष एवं मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने भी एक जनसभा को संबोधित किया। असदुद्दीन ओवैसी और उनके भाई अकबरुद्दीन ने एआईएमआईएम के प्रचार अभियान का नेतृत्व किया। तेलंगाना प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं सांसद उत्तम कुमार रेड्डी तथा अन्य वरिष्ठ नेताओं ने कांग्रेस के लिए प्रचार किया।
 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर