बापू के चरखे से निकलकर हाईटेक हुई तिरंगा यात्रा, ऑनलाइन अपने लोकेशन पर लगा सकेंगे झंडा

देश
प्रशांत श्रीवास्तव
Updated Aug 02, 2022 | 16:36 IST

Har Ghar Tiranga: संस्कृति मंत्रालय की वेबसाइट के अनुसार 2 अगस्त को दोपहर 2 बजे तक 6961503 लोगों ने झंडे को लोकेशन के आधार पर पिन किया है। इसी तरह 11,10,697 लोगों ने सेल्फी भी अपलोड की है।

HAR GHAR TIRANGA YATRA.
क्या है हर घर तिरंगा यात्रा 
मुख्य बातें
  • पोस्ट ऑफिस सहित दूसरे ई-कॉमर्स पोर्टल पर ऑनलाइन खरीद सकेंगे तिरंगा।
  • 26 जनवरी 2002 को भारत के आम नागरिकों को भी अपनी मर्जी से किसी भी दिन झंडा फहराने का अधिकार मिला।
  • देश के नागरिक अब रात में भी झंडा फहरा सकते हैं।

Tiranga Yatra: एक दौर से हम अपने बूढ़े-बुजुर्गों से 15 अगस्त, 26 जनवरी के मौके पर छोटे-छोटे बच्चों के हाथ में तिरंगा लेकर प्रभात फेरी निकालने की कहानियां सुनते आए हैं।  सड़कों और गलियों में तिरंगा लिए बच्चों द्वारा गाए जाने वाले देशभक्ति गीत शरीर में अलग ही ऊर्जा पैदा कर देते थे। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के चरखे से खादी का बना तिरंगा न केवल आजादी की लड़ाई की पहचान बना बल्कि आज भी देशभक्ति का प्रतीक है। लेकिन दौर और तकनीकी का असर अब तिरंगे के सफर पर भी दिख रहा है। यानी बापू के चरखे से निकली तिरंगा यात्रा अब हाईटेक हो गई है। और आजादी के 75 वें वर्ष की वर्षगांठ को देखते हुए अब इसी हाईटेक तिरंगा यात्रा के बारे में बता रहे हैं...

13-15 अगस्त सरकार चला रही है हर घर तिरंगा अभियान

आजादी के 75 वीं वर्षगांठ के अवसर पर केंद्र सरकार अमृत महोत्सव मना रही है। और इसके तहत 13-15 अगस्त के बीच 20 करोड़ घरों पर तिरंगा फहराने का लक्ष्य रखा गया है। यही नहीं इस लक्ष्य को पाने के लिए सरकार ने भारतीय झंडा संहिता, 2002 और राष्ट्रीय गौरव अपमान निवारण अधिनियम, 1971 के नियमों में बदलाव भी कर दिया है। इसके तहत देश के नागरिक रात में भी झंडा फहरा सकेंगे। इसके अलावा मशीन से बने और पॉलिएस्टर से बनें झंडे को भी फहराया जा सकेगा। संशोधन के पहले केवल सूर्योदय से सूर्यास्तक तक, केवल हाथ से बना हुआ या काता हुआ ऊन, कपास या रेशमी खादी से बना झंडा ही फहराया जा सकता था।

ऑनलाइन अपनी पसंद की लोकेशन पर लगा सकते हैं तिरंगा

केंद्र सरकार ने इस बार हर घर तिरंगा यात्रा अभियान को लोकप्रिय बनाने के लिए तकनीकी का भी सहारा लिया है। इसके तहत संस्कृति मंत्रालय ने एक अलग पहल की है। इसके लिए https://harghartiranga.com/ पर जाकर ऑनलाइन भी तिरंगा लगाया जा सकता है। इसी तरह तिरंगे के साथ सेल्फी भी ली जा सकती है। यही नहीं सर्टिफिकेट भी डाउलोनड कर सकते हैं। संस्कृति मंत्रालय की वेबसाइट के अनुसार 2 अगस्त को दोपहर 2 बजे तक 6961503 लोगों ने झंडे को लोकेशन के आधार पर पिन किया है। इसी तरह 11,10,697 लोगों ने सेल्फी भी अपलोड की है।

HAR GHAR TIRANGA YATRA

ऑनलाइन खरीद सकेंगे तिरंगा

इस बार ऑनलाइन तिरंगा खरीदा जा सकेगा। इसके लिए भारतीय पोस्टल विभाग ऑनलाइन झंडे की बिक्री कर रहा है। पोस्टल डिपॉर्टमेंट 25 रुपये में तिरंगे की ऑनलाइन बिक्री कर रहा है। इसके अलावा फ्लिपकार्ट, अमेजन और दूसरी ई-कॉमर्स पोर्टल पर भी झंडा ऑनलाइन खरीदा जा सकता है।

साल 2002 का है बेहद अहम महत्व

तिरंगे के इतिहास और उसको फहराने के अधिकार में 26 जनवरी, 2002 का एक खास स्थान है। यही वह दिन है जब भारत के आम नागरिकों को भी अपनी मर्जी  से किसी भी दिन झंडा फहराने का अधिकार मिला। इसके पहले  झंडा फहराने का अधिकार तो था लेकिन सिर्फ कुछ खास अवसर, जैसे स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस पर झंडा फहराया जा सकता है। लेकिन 26 जनवरी, 2002 से भारतीय झंडा संहिता में संशोधन के बाद ,आम नागरिकों को कहीं भी कभी भी राष्ट्रीय झंडा फहराने का मौका मिला। इसके बाद से आम आदमी अपने घरों, कार्यालयों और फैक्ट्रियों में किसी भी दिन तिरंगा फहरा सकते हैं। हालांकि इसके लिए उन्हें झंडे का पूरी तरह से सम्मान कायम रखना होगा और तय मानकों के आधार पर झंडे को फहराना होगा।


 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर