मोदी, योगी, ममता, से लेकर दूसरे नेता कैसे मनाते हैं नवरात्रि, जानें क्या करते हैं खास

Navratri 2021: पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी भी अपनी दुर्गा पूजा के लिए हमेशा चर्चा में रहते थे। हर साल अपने गांव जाकर 9 दिन मां दुर्गा की पूजा नवरात्रों में किया करते थे।

PM Narendra Modi Navratri Pooja
प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी नवरात्रि के अवसर पर हर साल व्रत रखते हैं।  |  तस्वीर साभार: Twitter

मुख्य बातें

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 40 साल से ज्यादा समय से नवरात्रि का व्रत रह रहे हैं।
  • ममता बनर्जी हर साल दुर्गा पंडाल में जाकर महालया के मौके पर मां दुर्गा की मूर्ति के आंखों में रंग भरती हैं।
  • योगी आदित्यनाथ कलश स्थापना के साथ कन्या पूजन और 9 दिन का व्रत रखते हैं।

नई दिल्ली: आज से मां दुर्गा की उपासना का पावन पर्व शारदीय नवरात्रि शुरू हो गया है। नवरात्रि को पूरे देश में धूमधाम के साथ मनाया जाता है। शारदीय नवरात्रि मां दुर्गा की स्तुति के साथ-साथ दशहरा के लिए भी लोकप्रिय है। आम आदमी की तरफ देश के नेता भी दोनों त्योहारों को धूम धाम से मनाते हैं। आइए जानते हैं कि राजनेता अपने व्यस्त समय में कैसे नवरात्रि का त्योहार मनाते हैं। सबसे पहले बात प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की करते हैं। उन्होंने इस अवसर पर देशवासियों को बधाई देते हुए मां दुर्गा की आरती करते हुए एक तस्वीर ट्वीट की है। उसमें उन्होंने लिखा है 'सभी को नवरात्रि की बधाई। आने वाले दिन जगत जननी मां की पूजा के लिए खुद को समर्पित करने वाले हैं। नवरात्रि सभी के जीवन में शक्ति, अच्छा स्वास्थ्य और समृद्धि लाएं।'

नौ दिन व्रत रखते हैं नरेंद्र मोदी

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2019 में एक इंटरव्यू में बताया था कि 40-45 साल से वह नवरात्रि का व्रत रह रहे हैं। वह चैत्र नवरात्रि और शारदीय नवरात्रि का व्रत रखते हैं। विभिन्न रिपोर्ट्स के अनुसार नवरात्रि का व्रत, मोदी फल और पानी के सहारे ही करते हैं। और वह पूरे 9 दिन ऐसे ही कठोर तरीके से व्रत करते हैं। इंटरव्यू के दौरान उन्होंने अपने व्रत रखने के तरीके के बारे में भी बात की थी। जिसमें उन्होंने कहा था कि चैत्र नवरात्रि (अप्रैल) में व्रत रखना उतना कठिन नहीं होता, जितना सितंबर-अक्टूबर नवरात्रि में होता है। उन्होंने आगे बताया कि सितंबर-अक्टूबर नवरात्रि के दौरान उनका कुछ वक्त साधना में जाता है। वे पूरे 9 दिन सिर्फ पानी पीते हैं और कुछ नहीं लेते। जबकि अप्रैल नवरात्रि में वह कोई एक फल खाते हैं। 

अमेरिका दौरे पर भी हुई थी चर्चा


बात 2014 की है, जब नरेंद्र मोदी  26 सितंबर को अमेरिका पहुंचे थे। इससे ठीक एक दिन पहले शारदीय नवरात्र शुरू हो चुके थे। 30 सितंबर को राष्ट्रपति बराक ओबामा ने व्हाइट हाउस में प्रधानमंत्री के सम्मान में भोज दिया था।  मगर प्रधानमंत्री मोदी ने व्रत की वजह से केवल गुनगुना पानी पिया। अमेरिकी मीडिया प्रधानमंत्री की इस बात से बेहद प्रभावित था। ज्यादातर अमेरिकी अखबारों में उनके व्रत पर कई खबरें छापी थी। मसलन अमेरिकी अखबार वॉशिंगटन पोस्ट ने लिखा था भारत के  प्रधानमंत्री ने ओबामा के साथ डिनर में केवल गर्म पानी पिया। 

योगी आदित्यनाथ करते हैं कलश पूजा

नवरात्रि मनाने की परंपरा गोरखपुर के गोरक्षपीठ में भी वर्षों से चली आ रही है। योगी जब तक मुख्यमंत्री नहीं थे, तो वह नौ दिनों तक पीठ में रहकर ही पूजा-अर्चना किया करते थे। मुख्यमंत्री बनने के बाद भी वह कलश स्थापना करने और नवरात्रि के आखिरी दिन गोरखपुर पहुंचते हैं। इस बार भी वह ऐसा ही कर रहे हैं। योगी आदित्यनाथ नौ दिन व्रत करते हैं। मुख्यमंत्री बनने के बाद योगी आदित्यनाथ लखनऊ में ही सप्तशती पाठ करते हैं। गोरखनाथ मंदिर के पुजारी मंदिर में सप्तशती पाठ करते हैं।

Yogi Adityanath Navrati Pooja

कन्या पूजन भी करते हैं योगी

योगी आदित्यनाथ नवरात्र में अवसर पर कन्या पूजन भी करते हैं। वह हर साल गोरखनाथ मंदिर में नवरात्रि के आखिरी दिन कन्या पूजन करते हैं, और उन्हें अपने हाथों से भोजन परोसते हैं। 

ममता  ने मां दुर्गा की आंख में भरा रंग

नवरात्रि का सबसे अधिक महत्व बंगाल में है। ऐसे में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी धूम-धाम से नवरात्रि का पर्व मनाती हैं। इस बार उन्होंने महालया के दिन कोलकाता के एक पंडाल में पहुंचकर मां दुर्गा की तीसरी आंख में रंग भरा और चंडी पाठ भी किया। वह हर साल मां दुर्गा के कई पंडालों में जाकर मां दुर्गा की मूर्ति के आंखों में रंग भरती है। इसके अलावा भी वह इन नौ दिनों में कई बार दुर्गा पंडालों में जाकर, मां दुर्गा की स्तुति करती है।

Mamta Banerjee Durga Pooja

क्या होता है महालया

हिंदू मान्यता के अनुसार महालया और पितृ पक्ष अमावस्या एक ही दिन मनाई जाती है। इस बार यह 6 अक्टूबर को मनाया गया। ऐसी मान्यता है कि महालया के दिन ही हर मूर्तिकार मां दुर्गा की आंखें तैयार करता है। और इसके बाद से मां दुर्गा की मूर्तियों को अंतिम रूप दिया जाता है। ममता बनर्जी इसी परंपरा को महालया के दिन जाकर पूरा करती हैं।

इस बार ममता की भी मूर्ति

इस बार एक कलाकार ने ममता बनर्जी की 10 हाथों वाली एक मू्र्ति बनाई है। जिसमें उन्हें कोरोना का संहार करते हुए दिया गया है। इसके अलावा एक मूर्ति में उनके हाथों में राज्यों के योजनाओं के बारे में लिखा गया है। जिसको लेकर राजनीति भी छिड़ गई है। भाजपा ने इसका विरोध किया है।

अखिलेश यादव और डिंपल यादव

Dimple Yadav

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव और उनकी पत्नी डिंपल यादव धूम-धाम के साथ नवरात्रि का त्योहार मनाते हैं। कई बार देखा गया है कि अखिलेश यादव शक्ति पीठ जाकर मां दुर्गा का दर्शन करते हैं। इसके अलावा वह अपनी पत्नी डिंपल यादव के साथ हवन भी करते हैं। उनकी पत्नी इस मौके पर कन्या पूजन कर कन्याओं को भोजन भी कराती हैं।

 प्रणब मुखर्जी

Pranab Mukherjee

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी भी अपनी दुर्गा पूजा के लिए हमेशा चर्चा में रहते थे। हर साल अपने गांव जाकर मां दुर्गा की पूजा नवरात्रों में किया करते थे। इस दौरान वह बकायदा वहां नौ दिन रुककर पूजा-अर्चना किया करते थे। वह कोलकाता से 250 किलोमीटर दूर बीरभूमि जिले के मिराती गांव जाते थे। और पूरी नौ दिन की पूजा के दौरान वह सारी व्यवस्था पर खुद नजर रखते थे। उनके गांव में करीब 126 साल से दुर्गा पंडाल के जरिए पूजा की परंपरा चलती आ रही है। पिछले साल अगस्त 2020 में प्रणब मुखर्जी का निधन हो गया।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर