हिमाचल प्रदेश: परवाणू टिंबर ट्रेल में फंसी 2 केबल कार, सभी 15 लोगों को बचाया गया

हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले के टीटीआर रिसोर्ट परवाणू में टेक्निकल फाल्ट आने के कारण टिंबर ट्रेल में 2 केबल कार फंस गईं। दोनों केबल कार ट्रॉलियों में फंसे 15 लोगों को बचा लिया गया।

himachal
हिमाचल में हादसा  |  तस्वीर साभार: ANI
मुख्य बातें
  • हिमाचल प्रदेश से आई दिल दहला देने वाली खबर
  • बीच रास्ते में अटकी टिंबर ट्रेल केबल कार
  • 2 केबल कारों कुल 15 लोग फंसे, बाद में सभी बचाए गए

हिमाचल प्रदेश: सोलन जिले से एक दिल दहला देने वाली खबर सामने आई। यहां टिंबर ट्रेल रोपवे में केबल कार बीच रास्ते में फंस गई। 2 केबल कारों में 15 लोग फंस गए, जिन्हें बाद में बचा लिया गया। सोलन के टीटीआर रिसोर्ट परवाणू में टेक्निकल फाल्ट आने के कारण कुछ घंटो तक यह केबल कार फंस रही। यात्रियों को बचाने के लिए NDRF की टीम को बुलाया गया।

आपदा प्रबंधन के प्रधान सचिव ओंकार चंद शर्मा ने जानकारी दी कि दो केबल कारों में कुल 15 लोग फंसे हुए थे। ऊपर जाने वाली ट्रॉली में चार और डाउनहिल ट्रॉली में 11 लोग थे। एनडीआरएफ की टीम जल्द ही मौके पर पहुंचेगी, वायुसेना अलर्ट पर है। पहले चरण में अपहिल ट्रॉली में सवार चार लोगों को बचा लिया गया। डाउनहिल ट्रॉली में सवार 11 लोगों में से 7 को बचा लिया गया है और शेष 4 के आधे घंटे में बचा लिए जाने की उम्मीद है। बाद में सभी को बचा लिया गया।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि सभी 11 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है। खराब मौसम के कारण बचाव दल को मुश्किलों का सामना करना पड़ा। मैं गृह मंत्री अमित शाह को एनडीआरएफ टीम को जल्द से जल्द मौके पर पहुंचाने और फंसे हुए लोगों के बचाव के लिए वायुसेना को अलर्ट पर रखने के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं।

एनडीआरएफ अधिकारी बलजिंदर सिंह ने कहा कि इस बचाव अभियान में सबसे बड़ी बाधा फंसे हुए पर्यटकों को यह विश्वास दिलाना था कि हम उन्हें सफलतापूर्वक सुरक्षित निकाल सकते हैं। पूरे रेस्क्यू में करीब 3-4 घंटे लगे। इसके अलावा हम हाल ही में रोपवे का सर्वेक्षण कर रहे हैं।  

केबल कार के भीतर फंसे लोगों के वीडियो भी सामने आए। वह वीडियो में खुद को रेस्क्यू करने की अपील करते सुनाई दे रहे हैं। केबल कार में फंसे एक शख्स ने बताया कि वह पिछले दो घंटे से केबल कार के अंदर फंसे हुए हैं। उन्होंने कहा कि उन्हें कोई मदद नहीं मिली है।

वहीं परवाणू के डीएसपी प्रणव चौहान ने घटना को लेकर बताया कि केबल कार सिस्टम में तकनीकी खराबी आने की वजह से दो वरिष्ठ नागरिकों और चार महिलाओं समेत 11 लोग पिछले डेढ़ घंटे से केबल कार ट्रॉली में फंसे हुए हैं। उनके बचाव के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। उन्होंने कहा कि जल्द ही सबको सुरक्षित निकाल लिया जाएगा।

30 साल पहले हुआ था बड़ा हादसा

बता दें कि इस रोपवे पर 30 साल पहले भी एक बड़ा हादसा हुआ था। साल 1992 में इस रोपवे पर करीब 10 जिंदगियां तीन दिनों तक केबल कार में फंसी हुईं थीं। तब आर्मी और एयरफोर्स के जवानों ने अपनी जान पर खेलकर फंसे हुए लोगों को रेस्क्यू किया था। दुख की बात यह थी कि उस हादसे में एक शख्स की मौत हो गई थी।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर