तो माथे पर सीधे गोली मार देता, अभिषेक बनर्जी को बीजेपी ने बताया 'हत्यारा ठग'

ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी के एक बयान के बाद बीजेपी उन पर भड़की हुई है। बीजेपी का कहना है कि वो हत्यारा ठग है।

West Bengal, BJP Demonstration, Amit Malviya, Abhishek Banerjee, Mamta Banerjee
अभिषेक बनर्जी, ममता बनर्जी के भतीजे हैं 
मुख्य बातें
  • बीजेपी के प्रदर्शन के दौरान हुई थी हिंसा
  • टीएमसी नेताओं का बयान, क्या नहीं चलना चाहिए बुलडोजर
  • बीजेपी ने कहा जो दोषी हों पुलिस कार्रवाई करे

बीजेपी के नबन्ना मार्च के दौरान जमकर हिंसा हुई। टीएमसी का आरोप है कि बीजेपी के लोगों ने पुलिस की गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया। इस तरह की हिंसा पर टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा ने कहा कि क्या हिंसा के आरोपियों पर बुलडोजर नहीं चलना चाहिए। इस तरह के बयान के बीच सीएम ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी ने कहा कि अगर उनके सामने पुलिस की गाड़ियों को आग के हवाले किया गया होता को वो सीधे माथे में गोली मार देते। उनके इस बयान के बाद बीजेपी हमलावर है। बीजेपी आईटी सेल के अध्यक्ष अमित मालवीय ने तो अभिषेक बनर्जी को हत्यारा ठग करार दिया।

'हत्यारा ठग है अभिषेक बनर्जी'
यह हत्यारा ठग ममता बनर्जी के भतीजे से भी बढ़कर है।  वह अपनी सरकार पर असंवैधानिक प्रभाव रखता है। अगर उनमें हिम्मत है, तो उनके बयान में छिपी फासीवाद की क्रूर भावना को डब्ल्यूबी पुलिस की घातक कार्रवाई में प्रतिबिंबित होने दें। वह बाद में लोगों के क्रोध से नहीं बचेगी। बीजेपी कभी हिंसा का समर्थन नहीं करती है। अगर बंगाल सरकार को लगता है कि पुलिस की गाड़ियों के फूंकने में बीजेपी के कार्यकर्ता शामिल हैं तो कार्रवाई करे। 

विरोध करने का अधिकार सबको लेकिन...
अभिषेक बनर्जी ने कहा  कि बीजेपीभाजपा प्रदर्शनकारियों द्वारा सहायक पुलिस आयुक्त, केंद्रीय मंडल, देबोजीत चट्टोपाध्याय पर क्रूर हमला दिखाने वाला एक वीडियो कल वायरल हुआ था। शहर की पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की धारा 307 (हत्या का प्रयास) के तहत मामला दर्ज किया है।विरोध करने का अधिकार सभी को है लेकिन गुंडागर्दी करने का नहीं। पुलिस प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस के गोले और पानी की बौछार करने के बजाय गोलियां चला सकती थी, लेकिन उन्होंने संयम दिखाने का फैसला किया ताकि आम लोगों को परेशानी न हो। यह ममता बनर्जी की सरकार के तहत बदलाव है।

इससे पहले, भाजपा नेता और पश्चिम बंगाल के एलओपी सुवेंदु अधिकारी ने भी पार्टी की 'नबन्ना चलो' रैली के दौरान हिंसक झड़पों को लेकर पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ टीएमसी सरकार की खिंचाई की। "सीएम ममता बनर्जी के पास सत्ता है, अगर वह प्रदर्शनकारियों पर गोली चलाना चाहती हैं तो वह ऐसा कर सकती हैं, उन्हें एक घंटे में अपनी सीएम की कुर्सी छोड़नी होगी। हमारे पार्टी-कार्यकर्ताओं को रोक दिया गया, फिर भी 'नबन्ना चलो' के खिलाफ एक जन आंदोलन बन गया। 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर