कोरोना टीके पर सरकार का बड़ा बयान, कभी नहीं कहा पूरी आबादी को लगेगी वैक्सीन 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण ने कहा, 'मैं यह स्पष्ट करना चाहता हूं कि सरकार ने पूरी आबादी को कोरोना का टीका लगाने की बात कभी नहीं की है।

Govt never spoke about vaccinating the entire country, says health ministry
कोरोना टीके पर सरकार का बड़ा बयान। 

मुख्य बातें

  • कोरोना टीकी लगाए जाने को लेकर सरकार ने दिया बड़ा बयान
  • सरकार ने कहा कि कभी नहीं कहा कि सभी को लगेगा कोरोना का टीका
  • कई रिपोर्टों में कहा गया है कि सरकार सभी को कोरोना का टीका लगाएगी

नई दिल्ली : कोरोना का टीका देश में उपलब्ध हो जाने पर इसे पहले किसे लगाया जाएगा, इस पर तरह-तरह की बातें सुनने को मिली हैं। कई रिपोर्टों में कहा गया है कि कोरोना का टीका देश की पूरी आबादी को लगाया जाएगा। हालांकि अब इस पर सरकार की तरफ से बड़ा बयान आया है। सरकार ने मंगलवार को कहा कि उसने कभी यह नहीं कहा कि कोरोना का टीका देश की पूरी आबादी को लगाया जाएगा। बता दें कि देश में कोरोना संक्रमण की संख्या 9,462,809 हो गई है जबिक इससे 137,621 लोगों की जान जा चुकी है। 

पूरी आबादी को नहीं लगेगा टीका
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण ने कहा, 'मैं यह स्पष्ट करना चाहता हूं कि सरकार ने पूरी आबादी को कोरोना का टीका लगाने की बात कभी नहीं की है। यह महत्वपूर्ण है कि हम केवल तथ्यात्मक जानकारी के आधार पर ही इस तरह के वैज्ञानिक मसलों पर चर्चा करें।' भूषण ने आगे कहा कि देश में प्रतिदिन का औसतन पाजिटिविटी रेट 3.72 प्रतिशत रहा है और प्रत्येक 10 लाख केस पर 211 मामले सामने आए। जहां तक बड़े देशों की बात है उनकी तुलना में भारत में कोरोना संक्रमण के कम मामले सामने आए।

यूरोपीय देशों में संक्रमण के मामलों में तेजी आई
सचिव ने आगे बताया कि पिछले सात दिनों के आंकड़ों को देखें तो यूरोपीय देशों में कोरोना संक्रमण के मामलों में तेजी आई है जबकि भारत में पॉजिटिविटी रेट में कमी देखी गई है। उन्होंने कहा कि नवंबर 11 और एक दिसंबर के बीच भारत में पॉजिटिविटी रेट 7.15 से गिरकर 6.69 पर आ गई है। सीरम इंस्टीट्यूट के कोविशील्ड टीके पर उठे विवाद पर सचिव ने कहा कि इस तरह के विवाद से भारत के टीका निर्माण कार्यक्रम पर कोई असर नहीं पड़ेगा।

सीरम के टीके पर उठा है विवाद
सीरम ने एस्ट्राजेनका और ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के कोविड-19 टीके से परीक्षण के दौरान एक स्वयंसेवक पर गंभीर दुष्प्रभाव पड़ने के आरोपों को खारिज किया है। कंपनी ने इस टीके को पूरी तरह सुरक्षित और रोग प्रतिरोधक बताया। दुनिया की सबसे बड़ी टीका विनिर्माता कंपनी ने एक ब्लॉग में लिखा, ‘हम हर किसी को इस बात का आश्वासन देना चाहते हैं कि टीके को तब तक आम लोगों के इस्तेमाल के लिए जारी नहीं किया जाएगा जब तक इसके रोग प्रतिरोधक क्षमता पूरी तरह से स्थापित नहीं हो जाती।’
 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर