युवाओं को फुलटर्म जॉब दें, सिर्फ 4 साल के लिए नहीं, अग्निपथ योजना के खिलाफ उग्र प्रदर्शन पर बोले केजरीवाल

Protest against Agnipath scheme: सेना में भर्ती के लिए लाई गई अग्निपथ स्कीम का कई राज्यों में विरोध हो रहा है। इस पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार ने अपील कि युवाओं के ना सिर्फ चार साल के लिए जॉब दें बल्कि  फुलटर्म जॉब दें। सेना हमारे देश का गौरव है, हमारे युवा देश को अपना पूरा जीवन देना चाहते हैं।

Give full term jobs to youth, not just for 4 years, Kejriwal said on furious protest against Agnipath scheme
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार से की अपील 
मुख्य बातें
  • अग्निपथ योजना के खिलाफ कई राज्यों में प्रदर्शन हो रहे हैं।
  • अग्निपथ योजना के तहत सेना, नौसेना और वायु सेना में 4 साल के लिए कॉन्ट्रैक्ट पर सैनिकों की भर्ती होगी।
  • इस वजह से सेना में नौकरी के लिए इच्छुक उम्मीदवार देश भर में कई जगहों पर सड़कों पर उतरे आए हैं।

Protest against Agnipath scheme: मोदी सरकार ने सेना में भर्ती के लिए 'अग्निपथ' योजना लेकर आई लेकिन सेना में भर्ती के लिए इच्छुक युवा इस योजना का विरोध कर रहे है। इसके खिलाफ विरोध प्रदर्शन बिहार, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, दिल्ली समेत कई राज्यों में हो रहा है। यह प्रदर्शन काफी उग्र हो गया है। प्रदर्शनकारियों ने रेल और सड़क मार्ग अवरुद्ध करने के साथ-साथ ट्रेनों में भी आग लगा दी। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल गुरुवार को अग्निपथ योजना का विरोध कर रहे रसेना में भर्ती के लिए इच्छुक उम्मीदवारों के समर्थन में सामने आए और केंद्र सरकार से उन्हें सिर्फ 4 साल नहीं बल्कि जीवन भर देश की सेवा करने का मौका देने की अपील की। मंगलवार को घोषित अग्निपथ योजना में सेना, नौसेना और वायु सेना में 4 साल के लिए कॉन्ट्रैक्ट पर सैनिकों की भर्ती की जाएगी।

केजरीवाल ने ट्वीट किया कि केंद्र सरकार से अपील है कि युवाओं को 4 साल नहीं, बल्कि जीवन भर देश की सेवा करने का मौका दिया जाना चाहिए। पिछले दो साल में सेना में भर्ती नहीं होने के कारण जो अधिक उम्र के हो गए हैं उन्हें भी मौका दिया जाना चाहिए। केजरीवाल ने कहा कि युवा नाराज हैं और देश भर में अग्निपथ योजना का विरोध कर रहे हैं।

सरकार के इस कदम ने सेना की नौकरी के लिए इच्छुक उम्मीदवारों का गुस्सा सातवें आसमान पर चढ़ गया, जिन्होंने देश भर में कई जगहों पर सड़कों पर उतरे हैं, खासकर बिहार में। बाहरी दिल्ली के नांगलोई रेलवे स्टेशन पर गुरुवार को रक्षा बल के एक दर्जन से अधिक उम्मीदवारों ने पटरियों पर लेटकर एक ट्रेन को रोक दिया।

केजरीवाल ने ट्वीट किया कि सेना भर्ती में केंद्र सरकार की नई योजना का देश में हर जगह विरोध हो रहा है। युवा बहुत गुस्से में हैं। उनकी मांगें सही हैं। सेना हमारे देश का गौरव है, हमारे युवा देश को अपना पूरा जीवन देना चाहते हैं, उनके सपनों को 4 साल तक सीमित न रखें।

दिल्ली में, पुलिस के अनुसार, रेलवे भर्ती परीक्षाओं में देरी और अग्निपथ योजना के विरोध में सुबह करीब 9.45 बजे नांगलोई रेलवे स्टेशन पर करीब 15-20 लोग एकत्र हुए। पुलिस ने कहा कि उन्होंने एक ट्रेन को रोका जो हरियाणा के जींद से पुरानी दिल्ली के लिए जा रही थी। केंद्र सरकार ने जाहिर तौर पर बढ़ते वेतन और पेंशन बिलों में कटौती करने और सशस्त्र बलों की एक युवा प्रोफाइल तैयार करने के लिए यह योजना लाई है।

Agnipath Scheme : क्या वाजिब है युवाओं का विरोध? 'अग्निपथ' योजना पर जानें मिथ और फैक्ट्स

केंद्र सरकार ने मंगलवार को दशकों पुरानी रक्षा भर्ती प्रक्रिया में आमूल-चूल परिवर्तन करते हुए थलसेना, नौसेना और वायुसेना में सैनिकों की भर्ती संबंधी अग्निपथ योजना का ऐलान किया था, जिसके तहत सैनिकों की भर्ती मात्र 4 साल के लिए कॉन्ट्रैक्ट आधार पर की जाएगी। सरकार के इस ऐलान के बाद से खासकर बिहार में सेना में भर्ती के आकांक्षी युवाओं के बीच काफी रोष व्याप्त हो गया।
 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर