'गलवान ने चीन को बहुत कुछ सिखा दिया', रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की दो टूक

देश
ललित राय
Updated Jan 16, 2021 | 17:07 IST

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि गलवान में भारतीय जवानों का शौर्य देश के मस्तक को और ऊंचा करता है। भारतीय फौज और राजशक्ति किसी भी तरह का मुकाबला करने के लिए तैयार है।

'गलवान ने चीन को बहुत कुछ सिखा दिया', रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की दो टूक
राजनाथ सिंह, रक्षा मंत्री 

मुख्य बातें

  • भारत-चीन तनाव के समय सेना ने देश का मस्तक ऊंचा कर दिया
  • सेना ने साहस और शौर्य का असाधारण परिचय पेश किया
  • भारत किसी देश के साथ तनाव नहीं चाहता लेकिन छेड़े जाने पर अंजाम तक पहुंचेगा

नई दिल्ली। राजनीतिक और सामरिक विषयों के जानकार कहते हैं कि दो शक्तिशाली देशों के बीच सामांजस्य बन पाना आसान काम नहीं होता है। उसके पीछे की वजह वो बताते हैं कि शक्तिशाली होने की वजह से विस्तारवाद की भावना पनपती है। अगर जानकारों की इस तरह की राय को चीन के संदर्भ में देखा जाए तो गलत ना होगा। भारत, चीन के बीच सीमा विवाद ऐतिहासिक तौर पर कायम है। चीन की तरफ से गुस्ताखी भी की गई है। लेकिन इस दफा लद्दाख के पूर्वी सेक्टर में चीन की हरकत का जिस तरह से भारत ने जवाब दिया उसके बाद उसके रणनीतिकार भी भौचक्के रह गए। इन सबके बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने चीन को चेताया कि अगर मंसूबे नापाक होंगे तो अंजाम अच्छा नहीं होगा। 

गलवान में भारतीय फौज का असाधारण प्रदर्शन
लखनऊ में एक कार्यक्रम के दौरान रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने गलवान का जिक्र किया और कहा कि भारतीय फौज ने बहादुरी का अप्रतिम उदाहरण पेश किया। जिस साहस और शौर्य का परिचय जवानों ने दिखाया वो सराहनीय है उसकी वजह से साहस और बढ़ा है केंद्रीय कमांड लखनऊ में अस्पताल के शिलान्यास के मौके पर उन्होंने कहा कि यह निर्माण संदेश दे रहा है कि अगर बीता वर्ष चुनौतियों से भरा हुआ था तो यह वर्ष समाधान का है। अगर पिछला साल निराशा से भरा हुआ था तो यह वर्ष उम्मीद का है।
Army Chief Gen MM Naravane

तथाकथित सुपरपावर को दी थी चेतावनी
आर्मी डे से एक दिन पहले राजनाथ सिंह ने चीन का नाम नहीं लिया। लेकिन जिस तरह से कहा कि एक अपने आपको सुपरपावर कहने वाला देश एलएसी पर तनाव के लिए जिम्मेदार है उसके साथ हम किस तरह से आगे बढ़ेंगे उसे पता है। भारत का स्पष्ट मत है कि वो सभी देशों के साथ शांति चाहता है खासतौर से पड़ोसियों के साथ किसी तरह की टकराव नहीं चाहता है। लेकिन अगर भारत की संप्रभुता पर किसी तरह की चोट की जाएगी तो हम जवाब देने के लिए तैयार हैं। 
Chinese soldier apprehended on the Indian side of LAC in Ladakh
पाकिस्तान और चीन से कर सकते हैं संयुक्त मुकाबला
इससे पहले आर्मी चीफ एम एम नरवणे ने कहा था कि भारत के लिए चीन और पाकिस्तान की जुगलबंदी खतरनाक है। लेकिन जिस तरह से पाकिस्तान और चीन दोनों को जवाब दिया गया है वो आगे क्या हो सकता है उसकी बानगी थी। आज हम इस स्थिति में हैं संयुक्त ताकत का
मुकाबला कर सकते हैं। इसमें किसी को संदेह नहीं होना चाहिए। 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर