आज आधिकारिक रूप से IAF के बेडे़ में शामिल होंगे राफेल, फ्रांस की रक्षा मंत्री होंगी मुख्य अतिथि

Rafale induction ceremony: फ्रांस से भारत पहुंचे राफेल लड़ाकू विमानों को गुरुवार को एक कार्यक्रम के दौरान आधिकारिक रूप से वायु सेने के बेड़े में शामिल किया जाएगा। फ्रांस की रक्षा मंत्री मुख्य अतिथि होंगी।

French Defence Minister Florence Parly arrives India for Rafale induction ceremony
गत 29 जुलाई को भारत पहुंचे 5 राफेल।  |  तस्वीर साभार: PTI

मुख्य बातें

  • गत 29 जुलाई को फ्रांस से भारत पहुंचे 5 राफेल लड़ाकू विमान
  • गुरुवार को अंबाला एयरबेस पर इन्हें वायु सेना में शामिल किया जाएगा
  • फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ली होंगी समारोह की मुख्य अतिथि

नई दिल्ली : फ्रांस से गत 29 जुलाई को भारत पहुंचे राफेल लड़ाकू विमान के पहले जत्थे को गुरुवार को आधिकारिक रूप से अंबाला में वायु सेना के बेड़े में शामिल किया जाएगा। एक समारोह के दौरान ये पांच लड़ाकू विमान आईएएफ के 'गोल्डेन एरोज' यूनिट का हिस्सा बनेंगे। फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ली और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह इस समारोह के मुख्य अतिथि होंगी। पार्ली के नई दिल्ली दिल्ली पहुंचने पर उन्हें राजकीय सम्मान दिया जाएगा। साल 2017 के बाद पार्ली की यह तीसरी भारत यात्रा है। अंबाला एयर फोर्स स्टेशन पहुंचने पर पार्ली की अगवानी राजनाथ सिंह और वायु सेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया करेंगे। 

फ्रांस की रक्षा मंत्री के साथ भारत आएगा शिष्टमंडल
बताया जा रहा है कि फ्रांस की रक्षा मंत्री के साथ राफेल लड़ाकू विमान बनाने वाली कंपनी दसौं के शीर्ष अधिकारी एवं अन्य रक्षा कंपनियों के नुमाइंदें होंगे। फ्रांस के इस शिष्टमंडल के साथ 'मेक इन इंडिया' अभियान के तहत कई साझेदारी होने की उम्मीद जताई जा रही है। वायु सेना ने अपने एक बयान में कहा है कि राफेल लड़ाकू विमानों को वायु सेना के बेड़े में विधिवत रुप से शामिल करने के लिए 'सर्व धर्म पूजा' की जाएगी। इस मौके पर राफेल, तेजस और 'सारंग एरोबेटिट टीम' कलाबाजियां दिखाएंगे। इसके बाद राफेल विमानों को 'वाटर कैनन सैल्यूट' दिया जाएगा।

हिमाचल प्रदेश में अभ्यास कर रहे हैं राफेल
फ्रांस से आने के बाद पांच राफेल लड़ाकू विमान हिमाचल प्रदेश की दुर्गम पहाड़ियों में अपना अभ्यास कर रहे हैं। फ्रांस से भारत पहुंचे इन पांच लड़ाकू विमानों में तीन सिंगल सीटर और दो विमान दो पायलटों की बैठने की क्षमता वाले हैं। राफेल दुनिया के बेहतरीन लड़ाकू विमानों में शुमार है। 4.5 पीढ़ी का यह लड़ाकू विमान मीटियोर, स्काल्प और हैमर जैसी मिसाइलों एवं हथियारों से लैस हो जाने के बाद बेहद घातक हो जाता है।

दुनिया का बेहतरीन लड़ाकू विमान है राफेल
राफेल स्टील्थ फीचर से भी लैस है। यह विमान रडार की पकड़ में मुश्किल से आता है। राफेल की सबसे बड़ी खूबी यह है कि यह अपने भार से डेढ़ गुना ज्यादा वजन लेकर उड़ान भर सकता है और एक बार में कई अभियानों को अंजाम दे सकता है। राफेल के भारत आ जाने से वायु सेना की सामरिक क्षमता में कई गुना की वृद्धि हो गई है। रक्षा विशेषज्ञों का मानना है कि राफेल के टक्कर का विमान चीन और पाकिस्तान के पास भी नहीं है। 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर