Shopian Encounter: शोपियां मुठभेड़ में मारे गए चार आतंकी, सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी

देश
ललित राय
Updated Aug 28, 2020 | 18:51 IST

encounter in jammu kashmir: शोपियां जिले में सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी मिली। सुरक्षाबलों ने चार आतंकियों को मार गिराया। बताया जा रहा है इनमें से दो आतंकी पंच हत्याकांड में शामिल थे।

Shopian Encounter: शोपियां मुठभेड़ में मारे गए चार आतंकी, सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी
शोपियां में चार आतंकी ढेर( प्रतीकात्मक तस्वीर) 

मुख्य बातें

  • शोपियां मुठभेड़ में चार आतंकी ढेर
  • चार में से दो आतंकियों के पंच हत्याकांड में शामिल होने का शक
  • शोपियां मुठभेड़ को बड़ी कामयाबी के तौर पर देखा जा रहा है।

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में शुक्रवार को सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ शुरू हो गई। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने बताया कि इस मुठभेड़ में चार अज्ञात आंतकियों को सुरक्षा बलों ने मार गिराया है। इलाके में सर्च ऑपरेशन जारी है। बताया गया कि पहले आतंकियों की ओर से ही गोली चलाई गई है।

किलुरा इलाके में हुई मुठभेड़
एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि सुरक्षा बलों ने जिले के किलूरा इलाके में आतंकियों की मौजूदगी की सूचना मिलने के बाद वहां घेराबंदी और तलाशी अभियान शुरू किया था। उन्होंने बताया कि इस दौरान आतंकियों ने सुरक्षा बल के तलाशी दल पर गोली चला दी और दोनों पक्षों के बीच मुठभेड़ शुरू हो गयी।अधिकारी ने बताया कि दोनों तरफ से गोलीबारी जारी है और इलाके में अतिरिक्त बलों को भेजा गया है। घटना के और विवरण का इंतजार है।

दो आतंकी पंच हत्याकांड में हो सकते हैं शामिल
बताया जा रहा है कि जिन चार आतंकियों को सुरक्षाबलों ने ढेर किया है उसमें से दो का संबंध पंच हत्याकांड से जुड़ा हो सकता है। हालांकि इसके बारे में पुख्ता जानकारी जुटाई जा रही है। सुरक्षाबलों का यह भी कहना है कि चूंकि अक्टूबर के बाद राज्य के ऊपरी इलाकों में बर्फबारी शुरू हो जाती है। ऐसे में आतंकियों को पाकिस्तान की तरफ से बड़ी संख्या में दाखिल कराने की कोशिश की जाती है।

जुलाई से अब तक बड़े आतंकी मारे गए
अगर जुलाई से अगस्त की बात करें तो आतंकियों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान में बड़ी कामयाबी मिली है। लेकिन बौखलाए आतंकियों की भी तरफ से राजनीतिक या सामाजिक क्षेत्रों से जुड़े लोगों की हत्या की गई जिसमें ज्यादातर लोगों का संबंध बीजेपी से था। नवनियुक्त एलजी मनोज सिन्हा का कहना है कि राज्य में विकास की रफ्तार को और तेज करना है। इसके साथ जो लोग गुमराह हो चुके हैं उन्हें मुख्यधारा से जुड़ने का मौका भी दिया जाएगा। लेकिन ऐसे लोग जो बंदूक नहीं छोड़ना चाहते हैं उनके खिलाफ सख्ती की जाएगी।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर