पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह का निधन, पीएम मोदी ने जताया दुख, सालों से थे कोमा में

Jaswant Singh Death: पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह का आज निधन हो गया है। 82 साल की उम्र में उनका निधन हुआ है। वो पिछले कई सालों से बीमार थे।

Jaswant Singh
पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह का निधन 

मुख्य बातें

  • जसवंत सिंह राजस्थान में बाड़मेर जिले के जसोल गांव के निवासी थे
  • वे 1960 के दशक में भारतीय सेना में अधिकारी रहे
  • जसवंत सिंह 15 साल की उम्र में भारतीय सेना में शामिल हुए थे

नई दिल्ली: पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह का आज निधन हो गया है। उनके निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा, 'जसवंत सिंह जी ने हमारे देश की सेवा पूरी मेहनत से की, पहले एक सैनिक के रूप में और बाद में राजनीति के साथ अपने लंबे जुड़ाव के दौरान। अटल जी की सरकार के दौरान, उन्होंने महत्वपूर्ण विभागों को संभाला और वित्त, रक्षा और विदेश मामलों में एक मजबूत छाप छोड़ी। उनके निधन से दुखी हूं।'

पीएम मोदी ने आगे कहा, 'जसवंत सिंह जी को राजनीति और समाज के मामलों पर उनके अनूठे दृष्टिकोण के लिए याद किया जाएगा। उन्होंने भाजपा को मजबूत बनाने में भी योगदान दिया। मैं हमेशा हमारी बातचीत को याद रखूंगा। उनके परिवार और समर्थकों के प्रति संवेदना। ओम शांति। श्री मानवेन्द्र सिंह से बात की और श्री जसवंत सिंह जी के दुर्भाग्यपूर्ण निधन पर शोक व्यक्त किया। अपने स्वभाव के अनुरूप जसवंत जी अपनी बीमारी से पिछले छह वर्षों तक लड़े।'

जसवंत सिंह के निधन पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट किया, 'भाजपा के दिग्गज नेता और पूर्व मंत्री श्री जसवंत सिंह जी के निधन से गहरा दुख हुआ। उन्होंने रक्षा मंत्रालय के प्रभारी सहित कई क्षमताओं में देश की सेवा की। उन्होंने खुद को एक प्रभावी मंत्री और सांसद के रूप में प्रतिष्ठित किया।'

लंबे समय तक सांसद रहे

3 जनवरी 1938 को जन्मे जसवंत सिंह जसोल पूर्व केंद्रीय मंत्री होने के साथ भारतीय सेना के एक सेवानिवृत्त अधिकारी भी थे। वह भारतीय जनता पार्टी के संस्थापक सदस्य रहे। वह भाजपा के टिकट पर पांच बार राज्यसभा (1980, 1986, 1998, 1999, 2004) और चार बार (1990, 1991, 1996, 2009) लोकसभा के लिए चुने गए। वाजपेयी सरकार (1998-2004) के दौरान उन्होंने कई बार वित्त, विदेश मामलों और रक्षा के कैबिनेट विभागों को संभाला। उन्होंने योजना आयोग (1998-99) के उपाध्यक्ष के रूप में भी कार्य किया। 2004 में अपनी पार्टी के सत्ता से बाहर होने के बाद जसवंत सिंह ने 2004 से 2009 तक राज्यसभा में विपक्ष के नेता के रूप में कार्य किया।

7 अगस्त 2014 को जसवंत सिंह बाथरूम में गिर गए और उन्हें सिर में गंभीर चोट लगी। उन्हें इलाज के लिए दिल्ली में सेना के अनुसंधान और रेफरल अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वह तब से कोमा की स्थिति में थे। निधन पर अस्पताल ने बयान जारी कर कहा, 'पूर्व कैबिनेट मंत्री मेजर जसवंत सिंह (सेवानिवृत्त) का आज सुबह 6:55 पर निधन हो गया। उन्हें 25 जून को भर्ती कराया गया था और मल्टीऑर्गन डिसफंक्शन सिंड्रोम के साथ सेप्सिस के लिए इलाज किया जा रहा था। आज सुबह उन्हें कार्डियक अरेस्ट हुआ। उनकी कोविड 19 की रिपोर्ट नेगेटिव थी।'

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर