आखिरकार 3 दिन बाद लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग का मतलब समझ सके लोग, देशभर से आ रहीं राहत पहुंचाने वाली तस्वीरें

देश
Updated Mar 25, 2020 | 15:11 IST

21 days Lockdown: लॉकडाउन क पहले दिन की जो तस्वीरें देशभर से सामने आ रही हैं, वो सुकून देने वाली हैं। लोग घरों में हैं और बाहर निकलने वाले सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे हैं।

Social Distancing
देश में 21 दिनों तक लॉकडाउन  |  तस्वीर साभार: ANI

मुख्य बातें

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 24 मार्च को रात 8 बजे 21 दिनों के लिए लॉकडाउन का ऐलान किया
  • भारत में कोरोन वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं, अभी तक 562 मामले सामने आ चुके हैं
  • सरकार द्वारा आश्वासन दिया गया है कि जरूरी चीजों की कमी नहीं होगी, लोग घबराएं नहीं

नई दिल्ली: कोरोना वायरस से लड़ने में सबसे कारगर हथियार जो बताया गया है, वो है सोशल डिस्टेंसिंग। यानी लोग अपने-अपने घरों में कैद हो जाएं, जब तक बेहद जरूरी ना हो बाहर ना निकलें। बाहर भी जाएं तो उचित दूरी बनाएं रखें। हमारे डॉक्टरों और सरकारों द्वारा लोगों से बार-बार कहा जाता रहा कि लोग घरों से ना निकलें। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसके लिए पहले एक दिन के लिए 'जनता कर्फ्यू' की अपील की। इसके बाद राज्य सरकार धीरे-धीरे लॉकडाउन की घोषणा करती रहीं।

लोगों ने 22 मार्च को जनता कर्फ्यू का तो अच्छे से पालन किया, लेकिन उसके बाद लागू हुए लॉकडाउन में कुछ लोगों ने निराश किया। ऐसी कई तस्वीरें सामने आईं जो इसके मकसद को खत्म कर रही थीं। सरकारों ने सख्त कदम भी उठाए, लेकिन उचित परिणाम नहीं निकल रहे थे। 

PM मोदी ने दूसरी बार किया राष्ट्र को संबोधित
इसके बाद 24 मार्च की रात को 8 बजे पीएम मोदी ने एक बार फिर राष्ट्र को संबोधित किया और लोगों से हाथ जोड़कर घरों में रहने की अपील की। पीएम मोदी ने 21 दिनों के देशव्यापी लॉकडाउन की घोषणा करते हुए कहा कि इस बार सख्त रूप अपनाया जाएगा, इसे आप कर्फ्यू ही मानें। सरकार द्वारा आश्वस्त किया गया कि लोगों को आवश्यक चीजें मिलती रहेंगी। 

आज लॉकडाउन का पहला दिन
आज 21 दिन के लॉकडाउन का पहला दिन है और देशभर से जो तस्वीरें सामने आ रही हैं वो सुकून देने वाली हैं। लोग घरों से बाहर नहीं निकल रहे हैं, जो भी जरूरी सामान के लिए बाहर जा रहा है वो बाकियों से उचित दूरी बनाए हुए है। 

कई जगह स्थानीय प्रशासनों द्वारा भी अच्छे इंतजाम किए गए हैं। सामान खरीदने आ रहे लोगों में उचित दूरी बने रहे इसके लिए गोला बनाकर निशान बनाए गए हैं। लोग भी इसको फॉलो कर रहे हैं। बाजारों में भीड़ जमा नहीं हो रही है। 

लोग घबराएं नहीं
तो कहा जा सकता है कि लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग के सही मकसद को समझने में लोगों को 3 दिन लग गए। अब उम्मीद करनी चाहिए कि लोग बेहद जरूरी होने पर ही घरों से निकलें और घबराएं नहीं। अलग-अलग सरकारें घरों तक सामान पहुंचाने का इंतजाम कर रही हैं। सरकार द्वारा कहा जा रहा है कि किसी चीज की कमी नहीं है। 

बहुत तेजी से फैल रहा कोरोना
दुनियाभर में कोरोना के मामले बहुत तेजी से बढ़ रहे हैं, इसलिए जरूरी है कि सभी मिलकर 21 दिन के लॉकडाउन का पालन करें। दुनियाभर में कोरोना वायरस के अभी तक 4,27,500 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं, और 19,000 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। भारत में भी 550 से ज्यादा मामले आ चुके हैं और 9 लोगों की मौत हो चुकी है। 

अगली खबर
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...