फारूक अब्दुल्ला ने कहा- हम देश के नहीं BJP के दुश्मन हैं, गांधी के भारत में है विश्वास

देश
लव रघुवंशी
Updated Nov 09, 2020 | 21:45 IST

Farooq Abdullah: नेशनल कॉन्फ्रेंस नेता फारूक अब्दुल्ला ने कहा है कि वो राष्ट्र विरोधी नहीं है, जबकि बीजेपी के विरोधी हैं। वे महात्मा गांधी के भारत में विश्वास करते हैं।

Farooq Abdullah
फारूक अब्दुल्ला 

मुख्य बातें

  • फारूक अब्दुल्ला ने बीजेपी पर लोगों को बांटने का आरोप लगाया
  • कांग्रेस अब भी है गुपकर गठबंधन का हिस्सा, साथ लड़ेंगे डीडीसी चुनाव: फारुक अब्दुल्ला

नई दिल्ली: नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने उन लोगों पर निशाना साधा है जो गुपकर अलायंस पार्टियों को 'गिरोह' करार दे रहे हैं। फारूक ने कहा कि वे राष्ट्र के दुश्मन नहीं हैं, बल्कि महात्मा गांधी के भारत में विश्वास करने वाले हैं। उन्होंने कहा, 'हम देश के दुश्मन नहीं हैं। हम भाजपा के दुश्मन हैं। वे हिंदू, मुस्लिम, सिख और ईसाई को एक-दूसरे से अलग करना चाहते हैं। हम महात्मा गांधी के भारत में विश्वास करते हैं- जहां हर कोई समान है।'

अब्दुल्ला ने आगे कहा, 'हम गैंग नहीं बल्कि पार्टियों का गठबंधन कर रहे हैं। जो लोग हमें गिरोह कहते हैं, वे सबसे बड़े डकैत हैं, इसलिए वे सभी को एक गिरोह के रूप में देखते हैं। हम एक साथ चुनाव लड़ेंगे, लेकिन हमें एक चुनाव चिन्ह नहीं मिल सकता है, इसलिए हम संयुक्त उम्मीदवारों के साथ अपने-अपने चुनाव चिन्हों पर लड़ेंगे।' 

'कांग्रेस भी है गुपकर गठबंधन का हिस्सा'

फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि कांग्रेस पीपुल्स अलायंस फॉर गुपकर डिक्लेरेशन (PAGD) का बहुत अच्छा हिस्सा है और वह इसके साथ जम्मू और कश्मीर में आगामी जिला विकास परिषद (DDC) चुनाव लड़ेगी। एक दिन पहले कांग्रेस द्वारा आगामी जिला विकास परिषद चुनाव के लिए उम्मीदवार घोषित करने के बाद अब्दुल्लाह की यह टिप्पणी आई है। अब्दुल्ला ने कहा कि जम्मू-कश्मीर कांग्रेस के अध्यक्ष जी ए मीर आज उनसे मिलने आए और कहा, 'हम एक साथ चुनाव लड़ रहे हैं।' 

अनुच्छेद 370 को बहाल करने की मांग

पीएजीडी जम्मू-कश्मीर की मुख्यधारा की सात पार्टियों का गठबंधन है और ये केंद्र शासित प्रदेश के विशेष राज्य के दर्जे को बहाल करने की मांग कर रहे हैं। शनिवार को पीएजीडी ने अपनी घोषणा में कहा था कि यह गठबंधन एकजुट होकर जिला विकास परिषद का चुनाव लड़ेगा और लोकतंत्र में पवित्र स्थान को विभाजनकारी शक्तियों द्वारा लूटे जाने की इजाजत नहीं देगा। केंद्र सरकार ने गत पांच अगस्त 2019 को जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को खत्म कर दिया। अनुच्छेद 370 हटने के बाद केंद्र शासित प्रदेश में पहली बार पंचायत चुनाव हो रहे हैं। 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर