केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान बोले- मस्जिद से उनके खिलाफ इकट्ठा होने की हुई थी घोषणा

कृषि कानूनों पर किसानों के भ्रम को दूर करने के लिए केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान अपने इलाके के दौरे पर थे। लेकिन उनके साथ बदसलूकी करने की कोशिश की गई। उस मुद्दे पर उन्होंने सनसनीखेज दावा किया है।

Farms Laws: केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान का सनसनीखेज दावा, मस्जिद से उनके खिलाफ इकट्ठा होने की घोषणा हुई
बीजेपी सांसद और केंद्रीय मंत्री हैं संजीव बालियान 

मुख्य बातें

  • केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान का सनसनीखेज दावा , मस्जिद से उनके खिलाफ एकजुट होने के लिए कहा गया
  • लोगों से मिलने के दौराम समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने उत्पात मचाया
  • कृषि कानूनों के मुद्दे पर किसानों के भ्रम को दूर करने की कोशिश में जुटे थे संजीव बालियान

नई दिल्ली। कृषि कानूनों के खिलाफ किसान संगठन केंद्र सरकार के खिलाफ मोर्चा खोले हुए हैं। पिछले 89 दिन से वो दिल्ली की सीमा पर डटे हुए हैं तो बीजेपी ने फैसला किया है कि उसके सांसद और मंत्री अपने अपने इलाकों में जाकर किसानों के भ्रम को दूर करने की कोशिश करेंगे। उसी क्रम में केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान ने मुजफ्फरनगर में खाप पंचायतों से मिले। लेकिन ना सिर्फ उन्हें काले झंडे दिखाए गए बल्कि बदसलूकी भी की गई। उस मसले पर उन्होंने सनसनीखेज जानकारी दी है। 

मस्जिद से भड़काने की कोशिश हुई
केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान ने कहा कि  समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार के 10-12 परिवार के सदस्यों ने मेरे साथ भैंसवाल में दुर्व्यवहार किया। जब मैं एक समारोह में भाग लेने के लिए सोरम में था तब 5-6 लोकदल के कार्यकर्ताओं ने वही किया। मेरे जाने के बाद, एक झड़प हुई। मेरे खिलाफ एकजुट होने के लिए मस्जिद से घोषणाए की गईं। 

किसानों को भरमाने की हो रही है कोशिश
संजीव बालियान ने कहा कि कुछ लोग लगातार किसानों में भ्रम फैलाने की कोशिश कर रहे हैं। वो सभी किसान भाइयों से गुजारिश कर चुके हैं कि सुनी सुनाई बातों पर किसी तरह की प्रतिक्रिया ना दें। जो सच है उसके साथ खड़े हों। केंद्र सरकार के कृषि कानूनों में ऐसा कोई प्रावधान नहीं है जिसके जरिए मझोले और छोटे किसानों के लिए किसी तरह की मुश्किल खड़ी हो। 

अराजकता फैलाने की हो रही है कोशिश- डॉ चंद्र मोहन

बीजेपी के प्रदेश मंत्री एवं मुजफ्फरनगर के प्रभारी डॉ चंद्र मोहन ने कहा कि जिस तरह से संवाद के मार्ग में बाधा डालने का काम किया गया उससे स्पष्ट है कि किसकी नीयत कैसी है। उन्होंने कहा कि 22 फरवरी और 23 फरवरी को जिस तरह से संवाद में बाधा डालने की कोशिश की गई। अखिलेश यादव और जयंत चौधरी पश्चिम यूपी में अराजकता फैलाने का काम कर रहे है। 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर