Munawwar Rana:कार्टून विवाद पर बोले मुनव्वर राना-माफी नहीं मांगूंगा,गुनाह साबित हुआ तो बीच चौराहे पर कर दो शूट

देश
रवि वैश्य
Updated Nov 02, 2020 | 19:13 IST

फ्रांस में पैगंबर मोहम्मद साहब के कार्टून विवाद पर फ्रांस में हुए आतंकी हमले को बीते दिनों शायर मुन्नवर राणा ने सही ठहराया था जिसको लेकर मुन्नवर राणा की देश में काफी आलोचना हो रही है।

Munawwar Rana
राणा ने कहा कि मेरे खिलाफ बुदजिलों के इशारे पर कार्रवाई की जा रही है 

कार्टून विवाद को लेकर फ्रांस में हुई हत्याओं को सही ठहराने वाले मशहूर शायर मुनव्वर राना (Munawwar Rana) का कहना है कि-मैं अपनी बात पर कायम रहूंगा। मुझे फ्रांस की घटना पर सच बोलने की जो भी सजा मिलती है वह मंजूर है।' उन्होंने आगे कहा कि मैं उन लोगो की तरह नहीं जो मुकदमे वापस करवाते फिरते हैं और सच बोलने से डरते हैं, अगर मेरी बात पर कोई गुनाह सिद्ध हुआ तो चौराहे पर मुझे शूट कर दो।

राणा ने कहा कि मेरे खिलाफ बुदजिलों के इशारे पर कार्रवाई की जा रही है। गौरतलब है कि फ्रांस में आतंकी हमले  पर विवादित बयान देने और आतंकी घटना का समर्थन करने वाले शायर मुनव्वर राना के खिलाफ लखनऊ के हजरतगंज कोतवाली में एफआईआर दर्ज  की गई है। राणा के खिलाफ ये एफआईआर गंभीर धाराओं के तहत दर्ज की गई है। एफआईआर में सामाजिक वैमनस्य फैलाने, शांति भंग करने के साथ आईटी एक्ट भी शामिल है।

आईपीसी की धारा 153ए, 295ए, 298, 505 सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज

एफआईआर में कहा गया है, 'फ्रांस की घटना को लेकर मुनव्वर राणा द्वारा एक न्यूज चैनल को इंटरव्यू दिया गया था जिसमें उनके द्वारा हत्या की घटना को सही मानते हुए विवादित बयान दिया गया जो सोशल मीडिया व विभिन्न इंटरनेट की वेबसाइट पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है। मुनव्वर राणा द्वारा दिया गया वक्तव्य विभिन्न समुदायों में वैमनस्यता फैलाने वाला, सामाजिक सौहार्द पर प्रतिकूल प्रभाव डालने वाला है और इसे लोक शांति भंग होने की पूरी संभावना है।

इसलिए उनके खिलाफ प्रथम सूचना रिपोर्ट पंजीकृत कर आवश्यक वैधानिक कार्यवाही करनेक की कृपा करें।'  यूपी पुलिस ने मुनव्वर राणा के खिलाफ आईपीसी की धारा 153ए, 295ए, 298, 505 सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। 

शायर मुनव्वर राणा ने ये कहा था

आपको बता दें कि दो दिन पहले ही मुनव्वर राणा ने फ्रांस में हुए आतंकी हमले को लेकर एक टीवी न्यूज चैनल से बात करते हुए कहा था कि आप विवाद को जन्म देकर लोगों को उकसा रहे हैं। उन्होंने कहा कि  मोहम्मद साहब का कार्टून बना कर उसे कत्ल के लिए मजबूर किया गया, अगर उस छात्र की जगह मैं भी होता तो वही करता जो उस छात्र ने किया। उन्होंने आगे कहा कि मजहब मां-बाप की तरह होता है, अगर कोई आपके मां-बाप का बुरा कार्टून बनाता है या गाली देता है तो उसका कत्ल करना गुनाह नहीं है।


 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर