कोरोना वैक्सीन पर विवाद के बीच PM मोदी ने किया साफ-प्रत्येक नागरिक को लगेगा टीका

कोरोना का टीका पहले किसे लगेगा इस पर प्रधानमंत्री मोदी ने बयान दिया है। पीएम ने कहा है कि देश में कोरोना का टीका आ जाने पर इसे सभी को लगाया जाएगा। सरकार किसी को टीकारहित नहीं छोड़ेगी।

Every Indian will get Corona vaccine : PM Narendra Modi
कोरोना वैक्सीन पर विवाद के बीच पीएम मोदी ने किया साफ-प्रत्येक नागरिक को लगेगा टीका।  |  तस्वीर साभार: PTI

मुख्य बातें

  • पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना का टीका प्रत्येक नागरिक को लगेगा
  • सबसे पहले यह टीका उन लोगों को लगेगा जिन पर खतरा सबसे ज्यादा है
  • पीएम ने कहा कि अभी टीका विकसित करने पर काम चल रहा है

नई दिल्ली : बिहार घोषणापत्र में भाजपा की ओर से मुफ्त कोरोना टीका लगाए जाने का वादा किए जाने के बाद राजनीतिक दलों के बीच इस पर सियासत ने जोर पकड़ा है। देश में कोरोना संक्रमण के मामले 80 लाख को पार कर गए हैं और इस महामारी से अब तक एक लाख 20 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। कोरोना का टीका आ जाने पर यह पहले किसे लगेगा और क्या यह मुफ्त होगा, इस पर कई तरह की बातें सुनने को मिली हैं। इस बीच, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना टीके पर सरकार की स्थिति स्पष्ट की है। 

सभी को लगेगा कोरोना का टीका
'इकोनॉमिट टाइम्स' को दिए एक साक्षात्कार में प्रधानमंत्री ने कहा है कि देश में कोरोना का टीका आ जाने पर इसे सभी को लगाया जाएगा। सरकार किसी को टीकारहित नहीं छोड़ेगी। पीएम के इस बयान से संकेत मिलता है कि सरकार लोगों का मुफ्त टीकाकरण करेगी। इसके अलावा कोविड-19 संकट की वजह से अर्थव्यवस्था को पहुंचे नुकसान और इस महामारी से निपटने में सरकार के प्रयासों पर पीएम ने विस्तार से बातचीत की है। 

टीका लगाए जाने पर कमेटी का गठन
इस सवाल पर कि कोरोना के टीके को अगले साल उपलब्ध होने की बात कही जा रही है, सरकार इस टीके को पहले किसे देगी, पीएम ने कहा, 'सबसे पहले मैं देशवासियों को भरोसा देना चाहता हूं कि जैसे ही कोरोना का टीका उपलब्ध होगा, सभी को यह टीका लगाया जाएगा। टीका लगाए बिना सरकार किसी को छोड़ेगी नहीं। जाहिर तौर पर शुरुआत में उन लोगों को पहले टीका लगाया जाएगा जो इस महामारी के खतरे में सबसे ज्यादा हैं। टीका कैसे लगाए जाए इस पर एक एक्सपर्ट कमेटी का गठन हुआ है।'

टीके को अंतिम नागिरक तक पहुंचाएगी सरकार 
उन्होंने आगे कहा, 'हमें यह देखना चाहिए कि वैक्सीन के निर्माण की प्रक्रिया अभी चल रही है। ट्रायल्स चल रहे हैं। वैक्सीन, उसके डोज और उसे किस तरह से देना है, इस पर अभी पक्के तौर पर कुछ नहीं कहा जा सकता। टीके के बारे में विशेषज्ञ जब फैसला कर लेंगे फिर इसे नागरिकों तक पहुंचाया जाएगा। देश भर में टीके के संरक्षण एवं रखरखाव के लिए 28,000 कोल्ड चेन की पहचान की गई है। अंतिम नागरिक तक वैक्सीन पहुंचाने के लिए रोडमैप तैयार है। टीके के लिए रजिस्ट्रेशन, उसकी निगरानी और उसे नागरिकों तक पहुंचाने के लिए एक डिजिटल प्लेटफॉर्म भी तैयार किया जा रहा है।'

'यह वायरस सभी के लिए अज्ञात था'
इस सवाल पर कि मार्च में देश में पहली बार लॉकडाउन हुआ, इस आप किस रूप में देखते हैं, पीएम ने कहा, 'यह वायरस सभी के लिए अज्ञात था। इस तरह का पीछे कुछ भी नहीं हुआ है। इसलिए इस नए शत्रु का सामना करने के लिए हमें अपने तरीके विकसित करने पड़े। मैं कोई स्वास्थ्य विशेषज्ञ नहीं हूं लेकिन मेरा आंकलन आंकड़ों के आधार पर है। हमें कोरोना के खिलाफ अपनी लड़ाई को इस बात से आंकनी चाहिए कि हम इस महामारी से कितने लोगों का जीवन बचा सके।'    

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर