China: चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी भूटान में कर रही है आक्रामक तरीके से गश्त

लद्दाख गतिरोध के बीच चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी भूटान में अधिक आक्रामक तरीके से गश्त कर रही है,सूत्रों के हवाले से ये जानकारी सामने आई है।

pla
चीनी पीएलए सेना ने हाल के महीनों में कई बार मध्य भूटान में प्रवेश किया है 

श्रृंजॉय चौधरी, राष्ट्रीय मामलों के संपादक,टाइम्स नाउ

जैसा कि पूर्वी लद्दाख में भारत-चीन का आमना-सामना जारी है, पीपुल्स लिबरेशन आर्मी ने भूटान में अधिक आक्रामक तरीके से गश्त करना शुरू कर दिया है, सरकारी सूत्रों ने ये जानकारी दी है, यहां तक ​​कि भूटान की पश्चिमी सीमा पर, सड़कों और पुलों के निर्माण और बैरक सहित सैन्य आवास सहित चीनी गतिविधियों की रिपोर्ट है।

चीनी पीएलए सेना ने हाल के महीनों में कई बार मध्य भूटान में प्रवेश किया है, खासकर सितंबर के मध्य में,एक मौके पर एक अधिकारी के नेतृत्व में एक PLA गश्ती, पासमंग के भूटानी सेना की चौकी पर आया, उसने सैनिकों से बात की और पोस्ट के सामने चीनी झंडे को पकड़े हुए अपने आप का फोटो खिंचवाया।

एक और गश्ती ने गुरु लाखंग तक, एक पुराने मंदिर के ठीक ऊपर, और अंदर धकेल दिया। उन्होंनेभूटान के लगभग दस किमी अंदर  मंदिर की दीवारों पर चीन लिखा था। यहां तक ​​कि भूटान की पश्चिमी सीमा पर, सड़कों और पुलों के निर्माण और बैरक सहित सैन्य आवास सहित चीनी गतिविधियों की रिपोर्ट है। यह लैंगमरपो चू और एमो चू के साथ है।

कुछ पीएलए Air Activity भी हुई है, हेलिकॉप्टर और यूएवी को डोकलाम क्षेत्र और जेम्फेरी रिज से थोड़ी दूरी पर देखा गया है।चिंता की बात यह भी है कि सितंबर के अंत में, भूटानी सरकार के अंतर्राष्ट्रीय सीमाओं के सचिव दाशो लेथो तांगबी को पीएलए के सैनिकों ने हाल ही में रोक दिया था, जब वह सीमावर्ती क्षेत्रों में ओरोला के एक फैमिली दौरे पर थे जबकि यह भूटानी क्षेत्र में था। भूटान सरकार ने बीजिंग में विरोध दर्ज कराय था।

चीनी भूटानी गश्त पर भी रोक लगा रहे हैं। सूत्रों ने कहा कि पहले भूटानी गश्ती दल डमलांग तक जाते थे, लेकिन चीनी क्षेत्र अब उन्हें अवरुद्ध कर रहे हैं।जब चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी द्वारा बाधा के विशिष्ट मामलों और आक्रामक गश्त के बारे में पूछा गया, तो भूटानी सरकार के एक अधिकारी ने टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।


 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर