पटना के इस कॉलेज में लगाई गई थी बुर्के पर रोक, अब वापस लिया फैसला

JD Women's College Patna: पटना के जेडी वीमेंस कॉलेज में छात्राओं के बुर्का पहनने पर रोक लगा दी गई, हालांकि अब इसे वापस ले लिया गया है। ड्रेस कोड का पालन ना करने पर जुर्माने का भी प्रावधान किया गया।

burqa
बुर्का पहनने पर लगी रोक 

पटना: बिहार की राजधानी पटना के जेडी वीमेंस कॉलेज में छात्राओं के 'बुर्का' पहनने पर रोक लगाते हुए कैंपस में निर्धारित ड्रेस कोड का पालन करने का निर्देश जारी किया था। शनिवार को ये नियम लागू नहीं होगा। प्रिंसिपल और प्रॉक्टर की ओर से जारी निर्देश में कहा गया, 'छात्राओं को सूचित किया जाता है कि वे (शनिवार) महाविद्यालय द्वारा निर्धारित पोशाक में ही परिसर में प्रवेश करें। साथ ही परिसप एवं क्लास रूम में बुर्के का उपयोग वर्जित है। निर्धारित पोशाक में नहीं पाए जाने की स्थिति में उन्हें 250 रुपए का दंड देना होगा।'

इसके अलावा कैंपस में मोबाइल फोन का इस्तेमाल करने पर 500 रुपए का जुर्माना लगेगा। हालांकि बुर्के से जुड़े फैसले को वापल ले लिया गया है।प्रिंसिपल डॉ. श्यामा राय ने कहा है कि कॉलेज में छात्रों के लिए ड्रेस कोड पर हालिया निर्देश में 'बुर्का' के बारे में कॉलेज ने अपना बयान वापस ले लिया है।  

हमने कॉलेज में मोबाइल फोन के इस्तेमाल पर रोक लगा दी है। हमने मोबाइल उपयोग के लिए एक विशेष क्षेत्र की सुविधा प्रदान की है। कॉलेज परिसर में बुर्का पहनने पर कोई प्रतिबंध नहीं है, लेकिन छात्र चाहें तो कक्षाओं में बुर्का हटा सकते हैं। हमारा एक ही मकसद है कि कॉलेज में अनुशासन हो

इससे पहले 'हिंदुस्तान टाइम्स' से बात करते हुए जेडी वीमेंस कॉलेज की प्रॉक्टर वीना अमृत ने कहा, 'हमारे कॉलेज में पहले से ही यूनिफॉर्म है और सभी छात्र प्रॉस्पेक्टस में बताए गए निर्धारित ड्रेस कोड का पालन कर रहे हैं। हमने एकरूपता बनाए रखने के लिए केवल कक्षा के अंदर बुर्का पर प्रतिबंध लगाया है। यह सुनिश्चित करने के लिए ऐसा किया जाता है कि हर छात्र एक समान हो।'



उन्होंने कहा कि यह जानना संभव नहीं है कि क्या कोई लड़की बुर्का के नीचे कॉलेज यूनीफॉर्म पहने हुए है। इसलिए, हमने उन्हें कॉलेज की यूनिफॉर्म में ही रहने के लिए कहा है जो कॉलेज प्रोस्पेक्टस में वर्णित है।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर