मिसाइल तकनीक में भारत की एक और छलांग, अग्नि सीरीज की Agni P का सफल परीक्षण, जानें खूबी  

भारत ने सोमवार को अपनी अग्नि मिसाइल सीरीज में एक और नया आयाम जोड़ लिया। रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) ने ओडिशा तट से Agni P का सफल परीक्षण किया।

DRDO successfully flight tests New Generation Agni P Ballistic Missile
डीआरडीओ ने किया अग्नि पी का सफल परीक्षण। 

मुख्य बातें

  • मिसाइल तकनीक के क्षेत्र में भारत ने लगाई एक और छलांग
  • अग्नि सीरीज की मिसाइल Agni P का ओडिशा तट से सफल परीक्षण
  • परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम है DRDO द्वारा विकसित मिसाइल

नई दिल्ली : मिसाइल तकनीक के क्षेत्र में भारत ने सोमवार को एक और छलांग लगाई। भारत ने अपनी अग्नि मिसाइल सीरीज की नई मिसाइल अग्नि पी का सफलतापूर्वक परीक्षण किया। परमाणु हथियारों को ले जाने में सक्षम इस मिसाइल का परीक्षण रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) ने सोमवार सुबह 10 बजकर 55 मिनट पर ओडिशा के डॉक्टर एपीजे अब्दुल कलाम द्वीप से किया। समाचार एजेंसी एएनआई ने सरकारी सूत्रों के हवाले से कहा कि अग्नि सीरीज की यह मिसाइल मिश्रित धातुओं से बनी है और परीक्षण में इसने अपने सभी मानकों को पूरा करते हुए लक्ष्य को सटीकता के साथ भेदा। 

अग्नि-3 से 50 प्रतिशत कम है इसका वजन
डीआरडीओ द्वारा लॉन्च की गई अग्नि पी, अग्नि मिसाइल सीरीज का एक नया उन्नत संस्करण है। इस मिसाइल का वजन अग्नि-3 से 50 प्रतिशत कम है। इसमें गाइडेंस एवं उड़ान के लिए नई तकनीक का इस्तेमाल किया गया है। अग्नि पी की एक बड़ी खासियत यह है कि इसे रेल एवं सड़क मार्ग से लॉन्च किया जा सकता है। यहां तक कि इसे किसी स्थान पर लंबे समय तक रखा जा सकता है और जरूरत पड़ने पर देश भर में कहीं भी ले जाया जा सकता है। इस मिसाइल की मारक क्षमता 1000-2000 किलोमीटर के बीच बताई गई है। यह भारत-प्रशांत महासागर में दुश्मन के युद्धपोतों को तहस-नहश कर सकती है।   

शुक्रवार को पिनाका रॉकेट का सफल परीक्षण
भारत की मिसाइल क्षमता को नई ऊंचाइयों पर ले जाने वाले डीआरडीओ ने गत शुक्रवार को स्वदेशी पिनाका रॉकेट का सफल परीक्षण किया। इसका परीक्षण चांदीपुर में एकीकृत परीक्षण केंद्र (आईटीआर) से हुआ। परीक्षण के दौरान कुल 25 पिनाका रॉकेट गुरुवार और शुक्रवार को अलग-अलग दूरी पर लक्ष्य को सटीकता से भेदने में कामयाब रहे। एक अधिकारी ने बताया कि 122 एमएम कैलिबर रॉकेट को मल्टी बैरल रॉकेट लॉन्चर (एमबीआरएल) से छोड़ा गया। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पिनाका रॉकेट के सफल परीक्षण पर डीआरडीओ और उद्योग को बधाई दी। उन्नत पिनाका रॉकेट 45 किलोमीटर तक के अपने लक्ष्यों को निशाना बना सकते हैं। 

भारत के पास हैं अग्नि सीरीज की मिसाइलें
भारत के पास मध्यम एवं अंतरमहाद्विपीय रेंज वाली अग्नि सीरीज की कई मिसाइलें हैं। ये सभी मिसाइलें अपने साथ परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम हैं। अग्नि सीरीज की पहली मिसाइल का परीक्षण पहली बार 1989 में हुआ। इस सफलता के बाद भारत अग्नि सीरीज की मिसाइलें लगातार विकसित करता आया है। 

          मिसाइल                  मारक क्षमता

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर