कोरोना की तीसरी लहर में बच्चों पर कितना पड़ेगा प्रभाव, AIIMS के निदेशक गुलेरिया ने किया साफ  

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया ने मंगलवार को कहा कि कोरोना संक्रमण से बच्चे ज्यादा बीमार हो रहे हैं, ऐसा कोई भी डाटा देश और दुनिया में उपलब्ध नहीं है।

Dr Guleria says serious infection in children in third wave of corona is less
बच्चों पर कोरोना के प्रभाव पर रणदीप गुलेरिया का बयान।  |  तस्वीर साभार: PTI

मुख्य बातें

  • कोरोना की तीसरी लहर में बच्चों पर ज्यादा खतरा होने की बात कही गई है
  • डॉ. गुलेरिया ने कहा कि ऐसा कोई डाटा नहीं जो यह बताए कि कोरोना से ज्यादा बच्चे बीमार हुए
  • भारत सरकार के प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार ने कहा है कि देश में तीसरी लहर आएगी

नई दिल्ली : कोरोना की तीसरी लहर में बच्चों पर कितना प्रभाव पड़ेगा, इस पर अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया ने बड़ा बयान दिया है। डॉ. गुलेरिया ने मंगलवार को कहा कि ऐसा कोई भी डाटा उपलब्ध नहीं है जो यह बताए कि कोरोना संक्रमण से बच्चे ज्यादा बीमार पड़ रहे हैं। एम्स के निदेशक ने कहा कि यहां तक कि महामारी की दूसरी लहर में ऐसे बच्चे बीमार पड़े जिन्हें हल्की बीमारी अथवा अन्य परेशानियां थीं। गुलेरिया ने कहा कि उन्हें नहीं लगता कि भविष्य में बच्चों में संक्रमण का गंभीर खतरा उत्पन्न होगा।

ऐसा कोई डाटा नहीं जो यह बताए कि बच्चे ज्यादा बीमार पड़े
गुलेरिया ने कहा, 'कोरोना महामारी की गिरफ्त में बच्चे ज्यादा आ रहे हैं, यह बताने वाला देश अथवा दुनिया में कोई डाटा उपलब्ध नहीं है। कोरोना की दूसरी लहर में जो बच्चे बीमार पड़े उनमें कोई हल्की बीमारी या अन्य परेशानियां पहले से थीं। मुझे नहीं लगता कि भविष्य में कोरोना से बच्चों में संक्रमण का बड़ा खतरा पैदा होगा।'

एक दिन के उच्च स्तर में कमी आई
स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि बीते 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 86,498 केस मिले। यह एक दिन के संक्रमण के उच्च स्तर में करीब 79 प्रतिशत की कमी आई है। पिछले सप्ताह कोरोना संक्रमण के जितने मामले सामने आए उसमें 33 प्रतिशत की कमी आई है। 

कंपनियां करेंगी वैक्सीन की कीमत का फैसला
वहीं, नीति आयोग के सदस्य डॉक्टर वीके पॉल ने कहा, 'प्राइवेट अस्पताल कोरोना की वैक्सीन कितने में बेचेंगे, इसका फैसला वैक्सीन का बनाने वाली कंपनी करेगी। राज्य निजी अस्पतालों की ओर से लगाए जाने वाले टीकों की संख्या पर भी नजर रखेंगे। इससे पता लगा कि राज्य को और कितने टीकों की जरूरत है।'

कोविशील्ड के 25 करोड़ डोज खरीदेगी सरकार
उन्होंने कहा, 'केंद्र सरकार ने कोविशील्ड के 25 करोड़ डोज और कोवाक्सिन के 19 करोड़ डोज खरीदने का फैसला किया है। इसके अलावा सरकार बॉयोलाजिकल ई वैक्सीन के 30 करोड़ डोज खरीदने का फैसला किया है। सरकार के पास वैक्सीन की डोज सितंबर तक उपलब्ध हो जाएगी।'

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर