इतने दिन कहां छिपा हुआ था ताहिर हुसैन? अब उगल रहा सच, हो रहे कई खुलासे

देश
लव रघुवंशी
Updated Mar 06, 2020 | 12:54 IST

Tahir Hussain: दिल्ली पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए ताहिर हुसैन से क्राइम ब्रांच द्वारा की गई पूछताछ में काफी कुछ सामने आ रहा है। अब हिंसा में उसके सौतेले भाई शाह आलम के भी शामिल होने की खबर है।

Tahir Hussain
पुलिस की गिरफ्त में ताहिर हुसैन 

मुख्य बातें

  • ताहिर पर अंकित शर्मा की हत्या के मामले में शामिल होने का आरोप है
  • दिल्ली हिंसा में कथित संलिप्तता को लेकर आम आदमी पार्टी ने ताहिर हुसैन को निलंबित कर दिया था
  • ताहिर हुसैन को पकड़ने के लिए दिल्ली पुलिस ने कई ठिकानों पर छापेमारी की

नई दिल्ली: दिल्ली हिंसा को लेकर घिरे आम आदमी पार्टी (AAP) के निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन को 5 मार्च को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। ताहिर पर आईबी के अधिकारी अंकित शर्मा की हत्या के मामले में शामिल होने का आरोप है। हिंसा में कथित संलिप्तता सामने आने के बाद AAP ने ताहिर हुसैन को पार्टी से निलंबित कर दिया था। हिंसा के लिए उसकी छत का उपयोग किया गया, जिसके बाद एफआईआर दर्ज की गई। इसी के बाद से ताहिर गायब हो गया था। हालांकि अदालत ने गुरुवार को उसकी आत्मसमर्पण करने की याचिका ठुकरा दी, जिसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस अब उससे पूछताछ में जुट गई है। क्राइम ब्रांच के सूत्रों से का कहना है कि 27 फरवरी को उत्तर पूर्वी जिले के मुस्तफाबाद इलाके को छोड़कर चले जाने के बाद ताहिर जाकिर नगर में छिपा हुआ था। ये आप विधायक अमानतुल्ला खान के ओखला निर्वाचन के अंतर्गत आता है।

कई जगह डाले छापे
अगले दो दिनों तक वह उसी इलाके में रहा और उसने अलग-अलग नंबरों का इस्तेमाल किया। अभी तक ताहिर के मोबाइल फोन बरामद नहीं हुए हैं। पुलिस ने उत्तर प्रदेश में अमरोहा के ताजपुर क्षेत्र के साथ-साथ इन स्थानों पर भी छापे मारे, लेकिन वह उनके हाथ नहीं आया। 

हिंसा में ताहिर का भाई भी शामिल?
लगभग जिन आधा दर्जन संदिग्धों को उसके साथ आगजनी करते देखा गया था, उनकी पहचान हो गई है। इसमें उसका सौतेला भाई शाह आलम भी शामिल है। शाह आलम पर दिल्ली के चांद बाग में हुई हिंसा में शामिल होने का आरोप है। फरार ताहिर उसी एसयूवी का उपयोग कर रहा था, जो दिल्ली चुनाव के दौरान आम आदमी पार्टी के एक वरिष्ठ सदस्य द्वारा इस्तेमाल की गई। एसयूवी उसके स्वामित्व में है। 



ताहिर ने खुद को बताया बेगुनाह
गिरफ्तार होने से पहले ताहिर हुसैन ने इंडिया टुडे से बातचीत की। ताहिर ने खुद को बिल्कुल बेगुनाह बताया। उसने कहा कि जब 24 फरवरी को इलाके में पहली बार दंगे हुए तो वह अपने परिवार के सदस्यों के साथ घर से बाहर निकल गया था। ताहिर हुसैन ने यह भी कहा कि जाने से पहले उसने अपने परिवार की सुरक्षा के लिए पुलिस से मदद मांगी थी। वह पुलिस की मौजूदगी में घर से बाहर निकल गया और उसके बाद वापस नहीं लौटा। ताहिर ने ये भी कहा कि मेरी इमारत का दुरुपयोग किया गया और बिल्डिंग पुलिस के कब्जे में थी। उसने अंकित शर्मा की हत्या पर भी दुख जताया। 
 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर