Delhi Violence: दिल्‍ली में लौट रही शांति, हिंसा को लेकर आज नहीं मिली कोई PCR कॉल, 167 FIR दर्ज

देश
किशोर जोशी
Updated Mar 01, 2020 | 00:37 IST

उत्तर पूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा में मरने वालों की संख्या में इजाफा हो रहा है और मौत का आंकड़ा 43 पहुंच गया है। दिल्ली हिंसा को लेकर हर अपडेट के बारे में हम आपको दे रहे हैं पूरी जानकारी-

delhi violence live updates Kapil Mishar arvind kejriwal Delhi news today
दिल्‍ली में लौट रही शांति, हिंसा को लेकर आज नहीं मिली कोई PCR कॉल, 167 FIR दर्ज  |  तस्वीर साभार: PTI

मुख्य बातें

  • दिल्ली हिंसा में मरने वालों की संख्या में हुई बढ़ोत्तरी, 43 लोगों की अभी तक मौत
  • हिंसा प्रभावित इलाकों में सामान्य हो रहे हैं हालात, घरों से निकल रहे हैं लोग
  • नफरत भरी सामाग्री को रोकने के लिए दिल्ली सरकार जारी करेगी एक व्हॉट्सऐप नंबर

नई दिल्ली: हिंसा प्रभावित उत्तर पूर्वी दिल्ली में अब धीरे-धीरे हालात सामान्य हो रहे हैं। लोग घरों से निकल रहे हैं। हालांकि इन इलाकों में अब भी शांति कम सन्‍नाटा अधिक नजर आता है, जहां लोगों के चेहरों पर खौफ साफ देखा जा सकता है। तो सड़कों व गलियों में तबाही का मंजर अब भी नजर आता है। प्रभावित इलाकों में शनिवार को कुछ दुकानें खुलीं अधिकांश बंद रही। लोग जरूरी सामान के लिए भी कम ही घरों से निकले। इन इलाकों में आबादी का एक बड़ा हिस्‍सा सुरक्षित ठिकानों की तलाश में पहले ही पलायन कर चुका है। इस बीच संवदेनशील इलाकों में सुरक्षा बलों के जवान लगातार गश्‍त कर रहे हैं। पुलिस ने लोगों को अफवाहों से बचने और एहतियात बरतने की सलाह दी है।

दिल्ली के इन इलाकों में शनिवार (29 फरवरी) का दिन कैसा रहा, इससे जुड़ी जानकारियां यहां जानें: 

अल्‍पसंख्‍यक आयोग के सदस्‍यों ने किया दौरा
राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के सदस्‍यों ने शनिवार को उत्तर-पूर्वी दिल्ली के हिंसा प्रभावित इलाकों का दौरा किया। उन्‍होंने कई पीड़ित परिवारों से मुलाकात व बातचीत की। वे दोनों समुदाय के लोगों से मिले। आयोग के अध्यक्ष सैयद गयुरुल हसन रिजवी कहा कि उनके इस दौरे का मकसद सभी समुदायों के बीच आपसी सद्भावना, प्यार और भाईचारे को दोबारा स्थापित करना और पीड़ितों का हाल जानकर उनके लिए मदद सुनिश्चित करना था।

दंगों के सिलसिले में 167 एफआईआर दर्ज : दिल्‍ली पुलिस
दिल्‍ली पुलिस की ओर से बताया गया कि हिंसा को लेकर आज (शनिवार) कोई पीसीआर कॉल नहीं मिली। दिल्‍ली दंगों के सिलसिले में कुल 167 FIR दर्ज की गई है, जिनमें 36 मामले आर्म्स एक्ट के तहत दर्ज किए गए हैं। कुल 885 लोगों को या तो हिरासत में लिया गया है या गिरफ्तार किया गया है।

एनएचआरसी ने गठित की टीम
राष्‍ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने दिल्‍ली हिंसा की जांच के लिए एक टीम का गठन किया है, जो इस संबंध में तमाम तथ्‍य जुटाएगी। वहीं राष्‍ट्रीय महिला आयोग की अध्‍यक्ष रेखा शर्मा ने भी प्रभावित इलाकों का दौरा किया और कहा कि दंगा पीड़‍ित महिलाओं को महिला आयोग की ओर से विशेष प्रशिक्षण दिया जाएगा। साथ ही यह सुनिश्चित करने का भी प्रयास होगा कि पीड़‍ितों को हर संभव सहायता मिल सके।

2 मार्च से तय कार्यक्रम के अनुसार होंगी सीबीएसई परीक्षाएं
नॉर्थ-ईस्‍ट दिल्‍ली में हिंसा से 10वीं व 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं भी प्रभावित हुईं। अब सीबीएसई ने कहा है कि 10वीं व 12वीं की परीक्षाएं 2 मार्च से तय कार्यक्रम के अनुसार होंगी। बोर्ड ने इसके लिए दिल्ली हाई कोर्ट में हलफनामा भी दायर किया, जिस पर कोर्ट ने दिल्ली पुलिस से कहा है कि वह छात्रों की सुरक्षा सुनिश्चित करे और परीक्षा के आयोजन के लिए हर सहायता प्रदान करे।

कल से मिलेगा मुआवजा: केजरीवाल
दिल्‍ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हिंसा प्रभावितों की ओर से मुआवजे के लिए उनकी सरकार को अब तक 69 आवेदन मिले हैं। उन्‍हें यह रकम कल (रव‍िवार) से मिलने लगेगी। केजरीवाल सरकार ने शुरुआती तौर पर पीड़‍ितों को 25,000 रुपये की सहायता राशि देने का ऐलान किया है, जबकि बाकी की रकम जांच प्रक्रिया संपन्‍न हो जाने के बाद दी जाएगी।

एसएन श्रीवास्‍तव ने ली पटनायक की जगह
दिल्‍ली में हिंसा के बीच विशेष पुलिस आयुक्त (कानून-व्यवस्था) के रूप में नियुक्‍त हुए एसएन श्रीवास्तव ने शनिवार (29 फरवरी) को अमूल्‍य पटनायक का कार्यकाल समाप्‍त होने के बाद दिल्‍ली पुलिस आयुक्‍त का अतिरिक्‍त कार्यभार संभाल लिया। उन्‍होंने कहा कि उनकी प्राथमिकता शहर में शांति व सौहार्द बहाल करना है। दंगाइयों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जा रही है और यह भी सुनिश्चित करने के प्रयास हो रहे हैं कि यहां फिर कभी ऐसी घटना न हो।

स्‍कूल 7 मार्च तक बंद
दिल्‍ली के उत्‍तर-पूर्वी इलाकों में हिंसा को देखते हुए स्‍कूल 7 मार्च तक के लिए बंद कर दिए गए हैं। सभी स्‍कूलों में इन दिनों परीक्षाएं चल रही थीं, लेकिन दंगा भड़कने की वजह से स्‍कूल पहले से ही बंद हैं। अब अधिकारियों ने इसे 7 मार्च तक बंद रखने के निर्देश दिए हैं। अधिकारियों का कहना है कि इन इलाकों में परीक्षाएं आयोजित कराने के लिए स्थिति अनुकूल नहीं है।

अधिकारियों ने लिया जायजा
अधिकारियों का एक दल उत्तर पूर्वी दिल्ली के शिव विहार इलाके में पहुंचा। इस टीम ने संपत्ति हिंसा के दौरान हुए संपत्ति के नुकसान का आकलन किया। सब डिविजनल मजिस्ट्रेट प्रदीप तायल ने बताया, 'हम प्रभावित लोगों को फॉर्म भी वितरित कर रहे हैं ताकि 25,000 रुपये की तत्काल राहत दी जा सके।'

जंतर-मंतर पर शांति मार्च
उत्तर पूर्वी दिल्ली में हुई सांप्रदायिक हिंसा के खिलाफ शनिवार को जंतर-मंतर पर शांति मार्च का आयोजन किया गया। इस हिंसा में 42 लोगों की जान चली गई थी।
सैकड़ों की संख्या में जुटे लोगों के हाथ में तिरंगा था और हवा में ‘जय श्री राम’, ‘भारत माता की जय’ के नारे गूंज रहे थे। एनजीओ ‘डेल्ही पीस फोरम’ की ओर से आयोजित इस मार्च में भाजपा नेता कपिल मिश्रा भी मौजूद थे।

धारा 144 में दी गई छूट
संयुक्त पुलिस आयुक्त आलोक कुमार ने बताया, '25 फरवरी की शाम से हिंसा की घटनाएं नहीं हुई हैं। हमने आज सुबह 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक धारा 144 में छूट दी है, क्योंकि स्थिति नियंत्रण में है। हम आगे निगरानी करेंगे'  वहीं हिंसा में घायल एसीपी (गोकुलपुरी) अनुज कुमार ने बताया: 24 फरवरी को मैं उन्हें (डीसीपी शहादरा अमित शर्मा) अस्पताल ले जा रहा था, क्योंकि वह घायल थे। पथराव करने वाले पथराव कर रहे थे और मुझे भी सिर पर चोट लगी। हमें नहीं पता था कि रतन लाल को गोली लग गई थी। हम रतन को जीटीबी अस्पताल ले गए, जहाँ उसे बचाया नहीं जा सका। डीसीपी को बाद में मैक्स में भर्ती किया गया।

दिल्ली सरकार एक वॉट्सऐप नंबर करेगी जारी

 दिल्ली सरकार के सूत्रों के अनुसार हालिया हिंसा के बाद राजधानी में नफरत से जुड़ी सामग्रियां काफी ज्यादा फैलाई जा रही हैं। अगर किसी को ऐसा मेसेज मिलता है तो इसके बारे में दिल्ली सरकार को सूचना दें। दिल्ली सरकार ऐसे मामलों को पुलिस को बढ़ाएगी। शिकायतों के लिए दिल्ली सरकार एक वॉट्सऐप नंबर भी जारी करेगी। एक अधिकारी सभी प्राप्त शिकायतों की जांच करेगा। जो शिकायतें वास्तविक हैं, उन्हें आवश्यक कार्रवाई के लिए पुलिस को भेज दिया जाएगा।

कपिल मिश्रा का मार्च

भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने आज दिल्ली के जंतर-मंतर पर 'शांति मार्च' का आह्वान किया। इसकी जानकारी उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर की। उन्होंने कहा, 'आज सुबह 10:30 बजे जंतर मंतर, आप सभी जरूर आइये।' भाजपा नेता ने दावा किया, 'पिछले कुछ दिनों में पूर्वोत्तर दिल्ली में हुई घातक हिंसा में सच्चाई को बताया जाना चाहिए।'  कपिल मिश्रा पर लोगों को भड़काने के आरोप भी लगे हैं।

 148; प्राथमिकी दर्ज
दिल्ली में हुई हिंसा को लेकर कुल 148 प्राथमिकी दर्ज की गयी हैं तथा 630 लोगों को गिरफ्तार किया गया है या हिरासत में लिया गया है। दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। प्रवक्ता मनदीप सिंह रंधावा ने कहा कि फारेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला दलों को बुलाया गया है और अपराध के दृश्यों का फिर से मुआयना किया जा रहा है। इस हिंसा में अभी तक 43 लोगों की मौत हो चुकी है

देश और दुनिया में  कोरोना वायरस पर क्या चल रहा है? पढ़ें कोरोना के लेटेस्ट समाचार. और सभी बड़ी ख़बरों के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें

अगली खबर