China पर बोले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, कहा-'भारतीय सैनिक चीनी सैनिकों को बराबर की हैसियत दे रहे हैं जवाब'    

Defence Minister Rajnath Singh on PLA: लद्दाख सीमा पर चीन के साथ तनातनी के बीच रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने साफ किया है कि आज की तारीख में भारतीय सेना किसी भी रूप में कमजोर नहीं है।

defence minister rajnath singh
राजनाथ सिंह ने कहा कि जो देश अपने सैन्य साजो सामान के लिए आयात पर निर्भर करता है, वह कभी भी मजबूत नहीं हो सकता 

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने कहा कि चीन की पीएलए (PLA) के साथ समानता हासिल करने के लिए भारत की क्षमताओं में सुधार हुआ है और यह किसी भी उकसावे की प्रतिक्रिया दे सकता है। सिंह ने कहा, '2020 में, भारतीय सशस्त्र बल चीनी सेना के साथ बराबरी से जुड़े हैं और देश पर बुरी नजर डालने वालों को करारा जवाब देने की मजबूत क्षमता विकसित की है।' पार्टी के विचारक स्वर्गीय दीनदयाल उपाध्याय की जयंती मनाने के लिए राजस्थान भाजपा द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में रक्षा मंत्री ने ये बात कही है।

उन्होंने आगे कहा कि देश को रक्षा उपकरणों के उत्पादन में आत्मनिर्भर बनाना हमारा लक्ष्य है, वहीं लद्दाख में चल रही तनातनी का जिक्र करते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि भारतीय सैनिक अपनी सीमा की सुरक्षा करने में पूरी तरह सक्षम है। उन्होंने कहा कि 'यदि भारत की तरफ कोई भी ताकत टेढ़ी निगाह रखेगी, तो उसका माकूल जवाब देने की ताकत भारतीय सैनिकों में है।'

उन्होंने कहा कि 'दीनदयाल जी ने सुझाव दिया था कि देश को आत्मरक्षा में सक्षम होना चाहिए। बहुत कम लोग जानते हैं कि एक विचारक के रूप में, उनके पास अर्थव्यवस्था के अलावा रणनीतिक मोर्चे पर कई मूल्यवान सुझाव थे सिंह ने कहा कि उपाध्याय का दृढ़ विश्वास था कि देश की समर्पित रणनीतिक नीति के बिना आर्थिक नीति में बाधा आएगी।'

रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भर होना देश के 'आत्म-सम्मान' और 'संप्रभुता' से जुड़ा

राजनाथ सिंह ने कहा कि जो देश अपने सैन्य साजो सामान के लिए आयात पर निर्भर करता है, वह कभी भी मजबूत नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भर होना देश के 'आत्म-सम्मान' और 'संप्रभुता' से जुड़ा है।भारत, रक्षा क्षेत्र से जुड़ी बड़ी कंपनियों के लिए एक बड़ा बाजार है और देश उन तीन देशों में शामिल है जिन्होंने पिछले आठ वर्षों में सबसे ज्यादा सैन्य हार्डवेयर का आयात किया है।सिंह ने कहा सरकार ने 101 तरह के हथियार और सैन्य प्रणालियों के आयात पर 2024 तक रोक लगाई है।

उन्होंने कहा कि इस फैसले से भारत में प्रति वर्ष 52,000 करोड़ रुपये के रक्षा उपकरणों के निर्माण का अवसर मिला है। मंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार जल्द ही नई रक्षा उत्पादन एवं खरीद नीति लेकर आएगी। हाल में संसद से पारित कृषि विधेयकों पर सिंह ने कहा कि किसानों के कल्याण की प्रतिबद्धता दीनदयाल उपाध्याय के दौर से बनी हुई है।उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऐसे कदम उठाए हैं जिससे किसानों को उनकी उपज का बेहतर मूल्य मिलने में मदद मिलेगी।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर