Cruise Drug Case: नवाब मालिक ने एक बार फिर समीर वानखेड़े पर साधा निशाना, जानें अब क्या कहा

एनसीपी के नेता और महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक ने एक बार फिर समीर वानखेड़े पर निशाना साधा है। एक प्रेस कांफ्रेंस में उन्होंने कई और सनसनीखेज आरोप लगाए

Cruise drugs case, sameer wankhede, Nawab Malik,aryan khan custody,
नवाब मालिक ने एक बार फिर समीर वानखेड़े पर साधा निशाना, जानें अब क्या कहा 
मुख्य बातें
  • एनसीबी के अज्ञात अधिकारी की तरफ से कई खत मिले-नवाब मलिक
  • 'ये सभी खत विजिलेंस जांच का हिस्सा बनें'
  • 'गवाहों का कहना है कि उनसे सादे पेपर पर दस्तखत कराए जाते थे'

क्रूज ड्रग केस का मामला अब सियासी हो चला है। इस संबंध नें एनसीबी के जोनल डॉयरेक्टर समीर वानखेड़े पर एनसीपी के कद्दावर नेता और महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक सनसनीखेज आरोप लगा रहे हैं। उन्होंने समीर वानखेड़े के बर्थ सर्टिफिकेट पर भी सवाल उठाए और कहा कि उन्हें करीब 26 खत मिले हैं और वो चाहते हैं कि सभी खत विजिलेंस जांच का हिस्सा बने। उनसे खत की विश्वसनीयता के बारे में जब पूछा गया तो उन्होंने कहा कि यह बात तो साफ है कि एनसीबी के ही किसी अधिकारी की तरफ से ये खत मुहैया कराए गए हैं। 

फर्जी दस्तावेज पर नौकरी
नवाब मलिक ने कहा कि समीर वानखेड़े ने फर्जी दस्तावेजों के आधार पर नौकरी हासिल की है। यही नहीं समय आने पर उनके पिता की भी जांच कराई जाएगी। उन्होंने अब तक जो तनख्वाह ली है उसे वापस ली जाएगी और उनके पेंशन को बंद किया जाएगा। उन्होंने कहा एक विशेष प्रयोजन के तहत एक खास अधिकारी को एनसीबी में लाया गया। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सुशांत सिंह केस के बाद पूरी फिल्म इंडस्ट्री को बदनाम करने की कोशिश शुरू हुई। रिया चक्रवर्ती को फंसाया जाना उसका एक उदाहरण है। कोविड काल में फिल्म इंडस्ट्री मालदीव और दुबई थी और वहीं से बड़े पैमाने पर वसूली की गई।

समीर वानखेड़े के बर्थ सर्टिफिकेट पर विवाद

  1. नवाब मलिक ने कहा कि जांच होगी तो और खुलासे होंगे।
  2. उन्हें कई तरह के खत मिले वो सभी खतों को एनसीबी के डीजी को भेजेंगे। 
  3. एनसीबी के एक अधिकारी ने उन्हें लेटर भेजा।
  4. मालदीव में वसूली का काम किया गया।
  5. ये लेटर भी जांच का हिस्सा बनने चाहिए।
  6. चिट्ठी में कुल 26 मामलों का जिक्र है।
  7. शबाना कुरैशी से समीर वानखेड़े की शादी हुई थी।
  8. एनसीबी के कई गवाहों का कहना है कि सादे पेपर पर दस्तखत कराए जाते थे।
  9. क्रूज ड्रग केस में सभी पंचनामा एनसीबी के दफ्तर में ही बनाए गए थे।
  10. समीर की पहली शादी से पता चलता है कि उनकी जन्मतिथि में झोल है।
  11. समीर वानखेड़े को जिन दस्तावेजों के आधार पर नौकरी मिली है वो भी संदेह के घेरे में है।

अदालत में रख चुका हूं अपना पक्ष
नवाब मलिक के आरोपों पर जब समीर वानखेड़े से पूछा गया तो उनका जवाब था कि वो अदालत के सामने अपने पक्ष को रख चुके हैं। जहां तक नवाब मलिक के आरोपों का सवाल है को तो वैसा करने के लिए स्वतंत्र हैं। उन्होंने कहा कि जब कोई जांच होती है तो इस तरह की स्थितियां बनती हैं। लेकिन नो पाक साफ हैं, जो कानून के दायरे में होगा उसके जरिए वो खुद का बचाव करेंगे। लेकिन जो लोग दोषी होंगे उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। जहां तक नवाब मलिक का सवाल है तो  वो व्यक्तिगत खुन्नस की वजह से यह काम कर रहे हैं क्योंकि उनका एक रिश्तेदार एनसीबी की कार्रवाई का सामना कर रहा है। 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर