संकट की घड़ी में सरकार को मिला IAF का साथ, ऑक्सीजन, चिकित्साकर्मी, उपकरण दिल्ली के लिए एयरलिफ्ट 

Indian Air Force in Covid Management : वायु सेना के अधिकारियों के मुताबिक वायु सेना के विमान ने कोच्चि, मुंबई, विशाखापट्टनम एवं बेंगलुरु से डॉक्टरों एवं नर्सिंग स्टाफ को दिल्ली पहुंचाया है।

Covid management: IAF airlifts Oxygen, equipment, medical personnel to Delhi
संकट की घड़ी में सरकार को मिला IAF का साथ।  |  तस्वीर साभार: PTI

मुख्य बातें

  • देश में कोरोना संकट के दौरान सरकार की मदद के लिए वायु सेना आगे आई है
  • कोच्चि, मुंबई, बेंगलुरु और विशाखापट्टनम से चिकित्साकर्मियों को एयरलिफ्ट किया
  • दिल्ली, लखनऊ सहित कई शहरों में कोविड सेंटर का निर्माण कर रहा है डीआरडीओ

नई दिल्ली : राजधानी दिल्ली सहित देश के कई भागों में मेडिकल ऑक्सीजन की कमी को देखते हुए सरकार ने वायु सेना की सेवाएं लेना शुरू कर दिया है। वायु सेना ऑक्सीजन कंटेनर्स, सिलेंडर्स, जरूरी दवाओं, उपकरणों एवं चिकित्साकर्मियों को एयरलिफ्ट करने लगी है। संकट की इस घड़ी में वायु सेना इन उपकरणों और चिकित्साकर्मियों को दिल्ली पहुंचाया है। वायु सेना के अधिकारियों के मुताबिक वायु सेना के विमान ने कोच्चि, मुंबई, विशाखापट्टनम एवं बेंगलुरु से डॉक्टरों एवं नर्सिंग स्टाफ को दिल्ली पहुंचाया है। ये चिकित्साकर्मी राजधानी में रक्षा अनुसंधान विकास संगठन (डीआरडीओ) की तरफ से बनाए जा रहे अस्थाई कोविड-19 अस्पताल के निर्माण में मदद करेंगे।  

दिल्ली पहुंचाए गए चिकित्साकर्मी
रिपोर्टों के मुताबिक वायु सेना के एक अधिकारी ने कहा, 'दिल्ली में कोविड सेंटर्स के लिए वायु सेना ने बेंगलुरु से डीआरडीओ के ऑक्सीजन कंटेनर्स को भी पहुंचाया है।' वायु सेना ने अपने एक ट्वीट में कहा, 'कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में वायु सेना का परिवहन बेड़ा सहयोग कर रहा है। देश भर में चिकित्सा सुविधाओं को पहुंचाने एवं कोविड अस्पतालों के निर्माण के लिए वह चिकित्साकर्मियों, उपकरणों एवं दवाओं को एयरलिफ्ट कर रहा है।'

रक्षा मंत्री ने सेना को तैयार रहने के लिए कहा
कोरोना संकट को देखते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को सभी रक्षा प्रतिष्ठानों को अपनी तैयारी पूरी रखने और सरकार की मदद के लिए आगे आने का निर्देश दिया। रक्षा मंत्री ने हाल ही में सीडीएस बिपिन रावत सहित मंत्रालय के शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक की। बताया जाता है कि इस बैठक में एक रूपरेखा बनी कि संकट की घड़ी में राज्य सरकारों को किस तरीके से मदद पहुंचाई जाए। 

कई शहरों में कोविड अस्पताल बना रहा DRDO
डीआरडीओ के चेयरमैन जी सतीश रेड्डी ने राजनाथ सिंह को बताया कि उसने 250 बेड की क्षमता वाला एक कोविड-19 सेंटर दिल्ली में बनाया है। इस सेंटर में बेड्स की संख्या पहले 500 और फिर एक हजार करने की उसकी योजना है। इस बीच कोविड-19 अस्पताल में बदला गया पटना स्थित ईएसआईसी अस्पताल ने लोगों का इलाज करना शुरू कर दिया है। यहां 500 बेड्स की व्यवस्था की गई है। यही नहीं, डीआरडीओ 500 बेड्स का एक अस्पताल लखनऊ में, 750 बेड्स का अस्पताल वाराणसी में और 900 बेड्स का अस्पताल अहमदाबाद में बना रहा है।   

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर