Covid Precautionary Dose: 10 जनवरी से लगेगा 'बूस्‍टर डोज', जानें आपको कैसे और किस वैक्‍सीन की मिलेगी तीसरी खुराक

देश में कोविड की बेकाबू रफ्तार के बीच वैक्‍सीन की प्रिकॉशन डोज, यानी बूस्‍टर डोज 10 जनवरी से लगाई जानी है। केंद्र सरकार ने स्‍पष्‍ट किया है कि पात्र लोग कोविड रोधी वैक्‍सीन की यह डोज कैसे लगवा सकते हैं और तीसरे डोज के तौर पर उन्‍हें किस वैक्‍सीन की खुराक दी जाएगी।

10 जनवरी से लगेगा 'बूस्‍टर डोज', जानें आपको कैसे और किस वैक्‍सीन की मिलेगी तीसरी खुराक
10 जनवरी से लगेगा 'बूस्‍टर डोज', जानें आपको कैसे और किस वैक्‍सीन की मिलेगी तीसरी खुराक  |  तस्वीर साभार: PTI
मुख्य बातें
  • कोविड रोधी वैक्‍सीन की प्रिस्‍कॉशन डोज 10 जनवरी से लगाई जानी है
  • पीएम नरेंद्र मोदी ने 25 दिसंबर, 2021 को इस संबंध में घोषणा की थी
  • कोविड की बेकाबू होती रफ्तार के बीच इसे बेहद अहम समझा जा रहा है

नई दिल्‍ली : देश में एक बार फिर से कोविड की बेकाबू होती रफ्तार के बीच टीकाकरण अभियान का दायरा बढ़ाने पर जोर दिया जा रहा है तो 10 जनवरी से उन लोगों को वैक्‍सीन का 'प्र‍िकॉशन डोज' भी दिए जाने का फैसला लिया गया है, जिन्‍हें इस घातक संक्रामक रोग से सबसे अधिक खतरा है। इनमें सबसे पहले स्‍वास्‍थ्‍यकर्मी, फ्रंटलाइन वर्कर्स और 60 साल से अधिक की उम्र के वे लोग शामिल हैं, जो पहले से किसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं और जिसकी वजह से उनकी इम्‍युनिटी प्रभावित हुई हो। अब सवाल है कि आखिर पात्र लोगों को कोविड रोधी वैक्‍सीन की यह खुराक मिलेगी कैसे और तीसरा डोज उन्‍हें आखिर किस वैक्‍सीन का मिलेगा? क्‍या इसके लिए नए सिरे से रजिस्‍ट्रेशन की आवश्‍यकता होगी?

केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्रालय की ओर से शुक्रवार को दी गई जानकारी के मुताबिक, कोविड रोधी वैक्‍सीन के प्रिकॉशन डोज यानी तीसरे डोज के लिए CoWIN पोर्टल पर नए सिरे से पंजीकरण की आवश्‍यकता नहीं होगी, बल्कि इसके लिए पात्र लोग सीधे एक अप्‍वाइंटमेंट ले सकते हैं या वैक्सीनेशन सेंटर पर जाकर तीसरा डोज लगवा सकते हैं। सरकार इस संबंध में विस्‍तृत शेड्यूल आज (8 जनवरी, शनिवार) जारी करेगी और ऑनलाइन फैसिलिटी भी आज शाम तक शुरू की जाएगी।

Omicron के खतरे के बीच जानिए Precaution Dose से जुड़े हर सवाल का जवाब-Video

मिक्‍स-मैच की नहीं होगी अनुमति

इस संबंध में जो गाइडलाइंस जारी की गई हैं, उसके मुताबिक, लाभार्थियों को केवल उसी वैक्‍सीन की तीसरी खुराक दी जाएगी, जिसकी उन्‍होंने पहली दो डोज ली है। इसमें किसी तरह के 'मिक्‍स-मैच' यानी तीसरे डोज के लिए किसी दूसरे वैक्‍सीन के इस्‍तेमाल की अनुमति नहीं होगी। आसान शब्‍दों में समझें तो अगर किसी ने Covaxin की पहली और दूसरी डोज ली है और उसे तीसरी डोज भी इसी वैक्‍सीन की दी जाएगी। वहीं अगर किसी ने Covishield की पहली और दूसरी खुराक ली है तो तीसरी डोज भी इसी वैक्‍सीन की दी जाएगी।

जानिए कैसे दी जाती दुनिया की पहली DNA और नेजल वैक्सीन, इस तरह काम करती है बूस्टर डोज

यहां गौर हो कि देश में बढ़ते कोविड केस के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 25 दिसंबर, 2021 को 15-18 साल की उम्र के किशोरों के लिए वैक्‍सीनेशन की शुरुआत किए जाने के साथ-साथ हेल्‍थवर्कर्स, फ्रंटलाइन वर्कर्स और कोमॉर्बिटीज वाले 60 साल से अधिक उम्र के बुजुर्गों के लिए 'प्रिकॉशन डोज' दिए जाने के केंद्र सरकार के फैसले की घोषणा की थी। किशोरों का वैक्‍सीनेशन जहां 3 जनवरी, 2022 से शुरू हो चुका है, वहीं प्रिकॉशन डोज 10 जनवरी से दिया जाना है, जिसे दुनियाभर में बूस्‍टर डोज के नाम से भी जाना जाता है।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर