वैक्सीन ने थाम दी कोविड की रफ्तार, इस साल 92% मौत उनकी, जिन्होंने नहीं लिया था टीका

Coronavirus in India: देश में टीकाकरण अभियान से कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई काफी मजबूत हुई है। इस साल कोविड से होने वाली मौतों में 92 प्रतिशत ऐसे लोग थे जिन्होंने टीके की खुराक नहीं ली थी।

vaccine
देश में काफी कम हुए कोरोना के केस 
मुख्य बातें
  • 97% से अधिक वयस्क जनसंख्या को वैक्सीन की पहली डोज लग चुकी है: स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया
  • मृत्यु दर की रोकथाम में वेक्सीनेशन की प्रभावशीलता को मापा गया है
  • टीकों और व्यापक वैक्सीनेशन ने सैकड़ों लोगों की रक्षा करने में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है

स्वास्थ्य मंत्रालय ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर देश में कोरोना वायरस की स्थिति के बारे में बताया है। इस साल कोविड-19 से होने वाली मौतों में 92 प्रतिशत ऐसे लोग थे जिन्होंने टीके की खुराक नहीं ली थी। आईसीएमआर के DG डॉ. बलराम भार्गव ने कहा कि भारत दूसरा देश है जिसके पास वैक्सीन ट्रैकर है। 2022 के दौरान 92 प्रतिशत मौतें टीका नहीं लेने वाले लोगों की थी। नीति आयोग के सदस्य डॉ वीके पॉल ने कहा कि यह स्पष्ट है कि टीकों और व्यापक टीकाकरण कवरेज ने सैकड़ों लोगों की रक्षा करने में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। वैक्सीन ने देश को कोविड मामलों की संख्या में वृद्धि से बचाया है।

मंत्रालय ने कहा कि भारत में टीके के विकास, तेजी से इस पर कार्य, स्वीकृति, व्यापक कवरेज के कारण कोविड-19 से होने वाली मौतों की संख्या काफी कम देखी गई। कोविड-19 रोधी टीके की पहली खुराक मृत्यु दर को रोकने में 98.9 प्रतिशत प्रभावी है, जबकि दोनों खुराक 99.3 प्रतिशत प्रभावी हैं। देश में 15-18 वर्ष आयु वर्ग के 74 प्रतिशत किशोरों को कोविड-19 रोधी टीके की पहली खुराक दी गई है, 39 प्रतिशत को दोनों खुराक दी जा चुकी है।  

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि स्वास्थ्यकर्मियों, अग्रिम पंक्ति के कर्मियों के प्रयासों के साथ टीकाकरण कवरेज ने हाल में कोविड-19 की वृद्धि को प्रभावी ढंग से रोकने में मदद की। सरकार के साथ, समूचे समाज के प्रयासों के कारण भारत कोविड-19 के संभावित विनाशकारी संकट को टालने में सक्षम हो पाया। वर्तमान में देश के 29 जिलों में कोविड-19 संक्रमण दर 10 प्रतिशत से अधिक है, 34 जिलों में 5-10 प्रतिशत के बीच संक्रमण दर है। 

उन्होंने कहा कि दुनिया के कई देशों में कोविड के मामलों में तेजी से उछाल आया है। आज भी दुनिया में रोजाना करीब 15,00,000 मामले सामने आते हैं। भारत में कोविड के मामलों में भारी कमी देखी गई है। भारत में साप्ताहिक आधार पर औसतन लगभग 11,000 कोविड मामले दर्ज किए जाते हैं। मामलों की संख्या में भारी कमी आई है। वैश्विक मामलों में से केवल 0.7% भारत में रिपोर्ट किए जाते हैं। अन्य देशों की तुलना में भारत में मौतों की संख्या में सकारात्मक स्थिति है। फरवरी 2-8 से भारत ने औसतन 615 मौतों की सूचना दी। पिछले सप्ताह में कोविड के कारण 144 मौतें हुईं। भारत ने जो देखा है उसके शिखर से 76.6% की गिरावट है। केवल एक राज्य में 10,000 से अधिक सक्रिय मामले हैं और 2 राज्यों में 5,000 से 10,000 के बीच सक्रिय मामले हैं। शेष राज्यों में 5,000 से कम सक्रिय मामले हैं। केरल, महाराष्ट्र, मिजोरम में देश के 50% सक्रिय मामले हैं।देश में सक्रिय मामलों की संख्या लगभग 77,000 है। भारत में पिछले 24 घंटों में सिर्फ 6,561 मामले सामने आए हैं।

क्‍या छिपाया गया कोविड से मौत का आंकड़ा? उठते सवालों के बीच सरकार ने दी सफाई

अब तक 78 बार कोरोना पॉजिटिव आ चुका है ये शख्स, कोविड को लेकर बनाया अनोखा रिकॉर्ड

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर