देश में कोरोना के मामले 1800 के पार, 41 लोगों की मौत के बीच तबलीगी जमात पर उठ रही उंगली

देश
श्वेता कुमारी
Updated Apr 02, 2020 | 01:15 IST

देश में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस के सबसे अधिक 437 मामले सामने आए हैं। संक्रमण के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी के बीच तबलीगी जमात के मरकज में शामिल कई लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है।

देश में कोरोना के मामले 1800 के पार, 41 लोगों की मौत के बीच तबलीगी जमात पर उठ रही उंगली
देश में कोरोना के मामले 1800 के पार, 41 लोगों की मौत के बीच तबलीगी जमात पर उठ रही उंगली (फाइल फोटो)  |  तस्वीर साभार: PTI

मुख्य बातें

  • देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना के सबसे अधिक 437 मामले सामने आए हैं
  • संक्रमित मरीजों की संख्‍या 1834 हो गई है, जबकि 41 की मौत हो चुकी है
  • निजामुद्दीन मरकज में शामिल सैकड़ों लोगों को क्‍वारंटीन किया गया है

नई दिल्‍ली : देश में कोरोना वायरस के मामले तेजी के साथ बढ़ते जा रहे हैं। अब तक संक्रमण के कुल 1834 मामले सामने आ चुके हैं, जिनमें से 41 लोगों की मौत हो चुकी है। बीते 24 घंटों के दौरान सबसे अधिक 437 मामले सामने आए हैं। हालांकि इस घातक संक्रमण से 144 लोग ठीक होकर घर भी पहुंचे हैं, इस बीमारी से पार पाने को लेकर उम्‍मीद जताता है। देश में जिस तेजी से कोरोना वायस के संक्रमण सामने आ रहे हैं, उसे लेकर तबलीगी जमात पर भी उंगली उठ रही है, जिसने निजामुद्दीन स्थित अपने मुख्‍यालय में मार्च में एक धार्मिक आयोजन किया था।

तबलीगी से जुड़े संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी

तबलीगी जमात के निजामुद्दीन मरकज में देश-विदेश से हजारों लोगों ने हिस्‍सा लिया था, जिनमें से कई में कोरोना वायरस का संक्रमण पाया गया है। अकेले तमिलनाडु में 100 से अधिक ऐसे लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है, जिन्‍होंने दिल्‍ली निजामुद्दीन मरकज में हिस्‍सा लिया था। यहां ऐसे 110 मामले सामने आए हैं, जिसके साथ ही कुल संक्रमित लोगों की संख्‍या बढ़कर 234 हो गई है। वहीं, राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली में संक्रमित लोगों की संख्‍या 152 हो गई है, जिनमें 53 लोग हैं, जो निजामुद्दीन मरकज में शामिल हुए थे।

मरकज में शामिल लोगों का पता लगाना बनी चुनौती

यूपी, उत्‍तराखंड, महाराष्‍ट्र, पश्चिम बंगाल, बिहार, ओडिशा, मध्‍य प्रदेश तेलंगाना सहित कई अन्‍य राज्‍यों में भी उन लोगों की पहचान की गई है, जो मरकज में शामिल हुए थे। विभिन्‍न राज्‍यों में ऐसे लोगों को चिन्हित कर क्‍वारंटीन किया गया है तो कई राज्‍यों में ऐसे कुछ लोगों में संक्रमण की पुष्टि भी हो चुकी है। केंद्र और राज्‍य सरकारें युद्ध स्‍तर पर इसका पता लगाने में जुटी हैं कि विभिन्‍न राज्‍यों से किन लोगों ने जमात के कार्यक्रम में हिस्‍सा लिया और फिर वहां से कहां-कहां और परिवहन के किन साधनों का इस्‍तेमाल करते हुए दिल्‍ली से बाहर निकले।

विभिन्‍न राज्‍यों में सैकड़ों को किया गया क्‍वारंटीन

इस बीच, निजामुद्दीन मरकज से बीते 36 घंटों के दौरान 2,361 लोगों को बाहर निकाला गया है, जिनमें से 617 को अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है, जबकि शेष को क्‍वारंटीन किया गया है। देशभर में कोरोना वायरस के जो मामले सामने आए हैं, उनमें 300 से अधिक मामले ऐसे बताए जा रहे हैं, जिन्‍होंने निजामुद्दीन मरकज में शिरकत की थी। विभिन्‍न राज्‍यों और केंद्र प्रशासित प्रदेशों से जो आंकड़े सामने आए हैं, उसके मुताबिक 8 हजार से अधिक लोगों ने मरकज में हिस्‍सा लिया था, जिनमें से कई लोगों में संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है, जबकि सैकड़ों क्‍वारंटीन किए गए हैं।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर