Gautam Budh Nagar: नोएडा में कोरोना के 48 नए मामले, कुल संक्रमितों की संख्या 450 पार

देश
लव रघुवंशी
Updated Jun 01, 2020 | 07:14 IST

Noida Coronavirus: उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर जिले में रविवार को 48 और लोग कोविड-19 से संक्रमित पाए गए हैं इसके साथ ही जिले में इस महामारी के मामले बढ़कर 453 हो गए हैं।

noida
नोएडा में बढ़ रहे कोरोना के मामले 

मुख्य बातें

  • गौतमबुद्ध नगर में कोरोना से अब तक 7 लोगों की मौत हो चुकी है
  • अभी दिल्ली नोएडा सीमा सील ही रहेगी: गौतमबुद्धनगर जिला प्रशासन
  • नोएडा में 80 से ज्यादा कंटेनमेंट जोन हैं

नोएडा: उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर में रविवार को कोविड-19 के 48 नए मामले सामने आए, जिससे जिले में कुल संक्रमितों की संख्या 453 हो गई। अधिकारियों ने कहा कि 9 मरीज दिन में सामने आए, जबकि 39 की रिपोर्ट देर रात आई। जिला निगरानी अधिकारी सुनील दोहरे ने कहा कि शाम 4 बजे तक 9 नए मामलों का पता चला जिससे कुल मामले बढ़कर 414 हो गए।

उन्होंने कहा, 'उसके बाद नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ बायोलॉजिकल (NIB) से परिणाम प्राप्त हुए जिसमें 51 नए मामले सामने आए, इनमें से 39 गौतमबौद्ध नगर के हैं, तीन दूसरे नमूने वाले पुराने रोगी हैं, जबकि 9 में से 4-4 दिल्ली और बुलंदशहर के और एक गाजियाबाद का है।'

नोएडा में कोरोना से 7 की मौत

अब नोएडा में सक्रिय मामलों की संख्या 153 है। जिले में अभी तक कोरोना से 7 की मौत हुई है। 294 लोग उपचार के बाद ठीक हो कर घर जा चुके हैं। नए रोगियों में 5 एक ऐसे व्यक्ति के रिश्तेदार हैं जो नोएडा के सेक्टर 16 में एक चैनल में काम करता है और पहले ही कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया है। सेक्टर 63 और सेक्टर 36 के एक-एक तथा गौर सिटी (ग्रेटर नोएडा) तथा चीचली ग्राम (ग्रेटर नोएडा) के एक-एक मरीज हैं।

इसके अलावा रविवार को बाद में सामने आए 39 मामलों में से पांच सेक्टर 48 के एक ही परिवार के है, जबकि नौ पिछले मरीज के संपर्क में थे। इसके अलावा जिले के विभिन्न क्षेत्रों से संबंधित 21 रोगी इन्फ्लूएंजा जैसी बीमारी से पीड़ित थे, जबकि कैंसर रोगी सहित चार अन्य भी कोविड-19 से संक्रमित पाए गए हैं। 

बंद रहेगा दिल्ली-नोएडा बॉर्डर

इसी को देखते हुए गौतमबुद्ध नगर जिला प्रशासन ने दिल्ली से लगी अपनी सीमा को बंद रखने का फैसला किया है। जिला प्रशासन की ओर से कहा गया है कि यहां कोरोना वायरस संक्रमण के 42 प्रतिशत केस ऐसे हैं, जो दिल्‍ली से जुड़े हैं। दिल्‍ली में बढ़ते संक्रमण और नोएडा में इससे जोखिम बढ़ने की आशंका के मद्देनजर यह फैसला लिया गया है, क्‍योंकि दिल्‍ली से नोएडा और नोएडा से दिल्‍ली रोजाना काम के सिलसिले में आने-जाने वालों की एक बड़ी संख्‍या है।  

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर