18 + Corona Vaccination: 1 मई से वैक्सीनेशन का महाअभियान, लेकिन राज्यों की परेशानी को 10 प्वाइंट्स में समझें

देश
ललित राय
Updated Apr 30, 2021 | 06:44 IST

1 मई से 18 वर्ष से ऊपर के लोगों का भी कोरोना के खिलाफ वैक्सीनेशन होना है। लेकिन राज्य सरकारों को आपत्तियां है जिसे हम 10 प्वाइंट्स के जरिए बताएंगे कि परेशानी दरअसल क्या है।

18 + Corona Vaccination: 1 मई से वैक्सीनेशन का महाअभियान, लेकिन राज्यों की परेशानी को 10 प्वाइंट्स में समझें
1 मई से कोरोना टीकाकरण का महाअभियान 

नई दिल्ली। 1 मई से 18 वर्ष से अधिक उम्र वाले के लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाया जाएगा। इसके लिए कोविन एप पर रजिस्ट्रेशन जारी है। एचएचए के सीईओ आर एस शर्मा का कहना है कि लोगों में उत्साह आंकड़ों के जरिए देखा जा सकता है। बुधवार को जह रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया शुरू हुई तो 1 करोड़ से अधिक लोगों नें अपने नाम पंजीकृत कराए। लेकिन बहुत से राज्य 1 मई से वैक्सीन की कमी का हवाला देते हुए वैक्सीनेशन कर पाने में असमर्थता जता रहे हैं। यहां पर 10 बिंदुओं के जरिए बताएंगे कि आखिर राज्यों को किस तरह की परेशानी है।

10 प्वाइंट्स में राज्यों की परेशानी

  1. मुम्बई के नागरिक निकाय बीएमसी में अतिरिक्त नगर आयुक्त अश्विनी भिडे ने ट्वीट किया, "18 और 44 के बीच की टीकाकरण उपलब्ध होने के बाद ही शुरू होगा, और" 1 मई को बिल्कुल नहीं "।
  2. अधिकारी ने कहा कि वरिष्ठ नागरिकों को कोविद शॉट्स से वंचित होने की चिंता नहीं है। सुश्री भिडे ने ट्वीट में कहा, "कृपया प्रतीक्षा करें जब तक हमारे पास पर्याप्त वैक्सीन स्टॉक है और आप बिना लंबी कतार में खड़े हुए अपना जाब प्राप्त कर सकते हैं।"
  3. दिल्ली का कहना है कि यह खुराक से बाहर चला गया है और निर्माताओं से ताजा आपूर्ति की प्रतीक्षा कर रहा है। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन ने कहा: "हमारे पास अभी तक टीके नहीं हैं। हमने टीकों के बारे में कंपनी से अनुरोध किया है, जब यह आएगा तब हम आपको बताएंगे।
  4. तमिलनाडु ने 1.5 करोड़ खुराक देने का आदेश दिया है लेकिन सूत्रों का कहना है कि राज्य सरकार शनिवार से 18 से 45 के बीच टीकाकरण शुरू करने को लेकर अनिश्चित है।
  5. सूत्रों ने कहा, "एक कंपनी का कहना है कि जून तक कोई आपूर्ति नहीं हुई है, एक और को वापस लाना बाकी है। हमें यकीन नहीं है कि 1 मई को देशव्यापी लॉन्च होगा।
  6. पंजाब ने यह भी कहा है कि यह टीकाकरण के नए दौर को समाप्त नहीं कर सकता है। पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिद्धू ने कहा, '' हम टीकाकरण तभी शुरू कर सकते हैं जब हम 10 लाख खुराक प्राप्त करेंगे।
  7. "राज्य के भंडारण में हमारे पास शून्य टीके हैं। 18 प्लस समूह के लिए हमें सात करोड़ टीके की आवश्यकता है, लेकिन उन्हें हमें समय पर देने की आवश्यकता है। हम तैयार हैं। हमने सीरम संस्थान से बात की और 3.75 करोड़ खुराक मांगी। वे श्री शर्मा ने कहा, "टी हमें वैक्सीन देते हैं क्योंकि वे पहले सेंट्रे के आदेशों को पूरा कर रहे हैं।"
  8. स्वास्थ्य मंत्रालय का यह आदेश अधिक जटिल है कि निजी टीकाकरण केंद्रों को कल तक सरकार को कोविद शॉट्स का अप्रयुक्त स्टॉक वापस करना होगा और नए दौर के इनोक्यूएशन के लिए उनका उपयोग नहीं करना चाहिए। इसका मतलब है कि निजी केंद्रों को भी महीनों तक इंतजार करना पड़ सकता है। वे युवा आबादी को कोविद शॉट्स देना शुरू कर सकते हैं इससे पहले नए टीके स्टॉक।
  9. बुधवार को, जब ऑनलाइन पंजीकरण शुरू हुआ, 13 मिलियन से अधिक लोगों ने प्रारंभिक दिक्कतों  के बाद कोविद शॉट्स के लिए साइन अप किया।

कोरोना महामारी का महादौर
देश में कोरोना महामारी के इस दौर में जानकार बता रहे हैं कि इस समस्या से निपटने के लिए वैक्सीनेशन ही एक मात्र उपाय है।  इस समय कोरोना के केस की तादाद 3 लाख के पार है। जानकार बता रहे हैं कि इस तरह के हालात के लिए यह कहना मुश्किल है कि कब तब बना रहेगा। हालांकि कुछ जानकार मानते हैं कि मई के अंत से केस में गिरावट दर्ज होने लगेंगे

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर